×

उज्जैन के बाबा महाकाल के दर्शन करने पहुंचे सीएम, VIP मूवमेंट से मंदिर में मची भगदड़, कई श्रद्धालु घायल

उज्जैन: सावन के पहले सोमवार के मौके पर उज्जैन में स्थित महाकालेश्वर मंदिर में मुख़्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान समेत कई वीआईपी पहुंचे। जिसके बाद मंदिर में भगदड़ जैसी स्थिति बन गई।

Network

NetworkNewstrack NetworkShivaniPublished By Shivani

Published on 27 July 2021 3:08 AM GMT

Mahakaleshwar Temple
X

बाबा महाकाल की पूजा करते शिवराज चौहान (Photo Twitter)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

उज्जैन: मध्य प्रदेश के उज्जैन में स्थित महाकालेश्वर मंदिर में सावन के पहले सोमवार के मौके पर श्रद्धालुओं की बाढ़ सी आ गयी। इस दौरान राज्य के मुख़्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपनी पत्नी के साथ बाबा महाकाल के दर्शन और पूजा अर्चना करने पहुंचे। पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा नेता उमा भारती भी महाकाल मंदिर पहुंची। मंदिर में वीआईपी मूवमेंट के चलते मंदिर परिसर में भगदड़ जैसे हालत बन गए। श्रद्धालुओं की भीड़ एक दूसरे से धक्का मुक्की करने लगी। जिसमे कई लोग घायल हो गए।

सावन के पहले सोमवार को मंदिर में उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़

दरअसल, सावन के पहले सोमवार को भोले बाबा के दर्शन और पूजा के लिए छोटे-बड़े हर शिव मंदिर, शिवालयों में भक्तों का तांता देखने को मिला। खास कर ज्योतिर्लिंगों में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ आई। इस दौरान कोरोना प्रोटोकाॅल तो टूटा ही, साथ ही भगदड़ तक की नौबत आ गई। हालात श्रद्धालुओं के घायल होने तक के बन गए। ऐसी ही स्थिति मध्य प्रदेश में देखने को मिली।

मध्य प्रदेश के उज्जैन में भी 12 ज्योतर्लिंगों में से एक महाकालेश्वर मंदिर है। बाबा महाकाल के दर्शन के लिए भी भीड़ लग गई थी। केवल आम लोग नहीं, बल्कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, उमा भारती समेत कई दिग्गज नेता पहुंचे। मंदिर में वीआईपी मूवमेंट होने से श्रद्धालुओं को दर्शन के लिए काफी इंतजार करना पड़ा। भीड़ बढ़ी तो मंदिर परिसर में भगदड़ जैसी स्थिति बन गई।

शिवराज, उमा भारती पहुंचे महाकाल मंदिर

भीड़ इतनी ज्यादा थी कि लोग एक दूसरे पर चढ़ गए। स्थिति अनियंत्रित हो गई। कई लोग इस दौरान घायल हो गए। सोशल मीडिया पर महाकाल मंदिर का एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें देखा जा सकता है कि मंदिर के गेट नंबर 4 पर श्रद्धालु सिक्योटी को तोड़ते हुए अंदर घुसने लगे। धक्का मुक्की होने लगी और भगदड़ जैसे हालात पैदा हो गए।

हालांकि ये मामला बड़े हादसे में तब्दील हो सकता था। लोग घायल हो गए। स्थिति को कंट्रोल करने के लिए मंदिर परिसर में तैनात पुलिस के साथ भी धक्का मुक्की की गई। इस घटना के बाद जिलाधिकारी ने आश्वासन दिया कि अगले सोमवार को ऐसी स्थिति नहीं उत्पन्न होने दी जाएगी। अगले सोमवार के लिए अभी से योजना बनाई जा रही है। इस बार सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने से लेकर भीड़ पर काबू पाने तक पर विशेष व्यवस्था की जाएगी।


Shivani

Shivani

Next Story