×

Maharashtra News: महाराष्ट्र में राज ठाकरे को लेकर सियासी रार, कांग्रेस नेता ने साधा उद्धव पर निशाना

Maharashtra News: कांग्रेस नेता ने राज ठाकरे पर राज्य में सांप्रदायिक तनाव भड़काने का आरोप लगाया।

Anshuman Tiwari
Updated on: 2022-05-07T11:12:54+05:30
Maharashtra politics
X

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के प्रमुख राज ठाकरे  (Social media)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Maharashtra News: महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के प्रमुख राज ठाकरे के खिलाफ कार्रवाई को लेकर महाविकास अघाड़ी गठबंधन में ही खींचतान शुरू हो गई है। गठबंधन में शामिल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता संजय निरुपम ने राज ठाकरे के खिलाफ कार्रवाई न किए जाने के मुद्दे को लेकर सरकार की मंशा पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य की उद्धव सरकार राज ठाकरे के खिलाफ कार्रवाई करने से डर रही है। राज ठाकरे ने औरंगाबाद रैली के लिए तय की गई शर्तों का उल्लंघन किया है मगर इसके बावजूद सरकार की ओर से उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। उन्होंने मुंबई पुलिस के रवैए पर सवाल उठाते हुए निराशा भी जताई।

राज ठाकरे ने गत 1 मई को औरंगाबाद में बड़ी रैली को संबोधित किया गया था। इस रैली की अनुमति देने से पूर्व पुलिस और प्रशासन की ओर से 16 शर्तें तय की गई थीं। निरुपम ने अपने बयान में इन शर्तों का उल्लेख करते हुए राज्य की उद्धव सरकार को घेरा है।

डरी हुई है उद्धव सरकार

कांग्रेस नेता ने राज ठाकरे पर राज्य में सांप्रदायिक तनाव भड़काने का आरोप लगाते हुए उनकी गिरफ्तारी की मांग की। उन्होंने उद्धव सरकार को याद दिलाया कि महाराष्ट्र पुलिस की ओर से राज ठाकरे की औरंगाबाद रैली के लिए 16 शर्तें तय की गई थीं और इनमें से 12 शर्तों का खुले तौर पर उल्लंघन किया गया।

इसके अलावा राज्य की दो अदालतों की ओर से राज ठाकरे के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया जा चुका है। इसके बावजूद मुंबई पुलिस की ओर से राज ठाकरे के खिलाफ कार्रवाई न किया जाना समझ से परे है। मुंबई पुलिस के रवैए से साफ तौर पर झलकता है कि राज्य की उद्धव सरकार राज ठाकरे के खिलाफ कार्रवाई के मुद्दे पर पूरी तरह डरी हुई है।

राज ठाकरे को लेकर उभरे मतभेद

संजय निरुपम ने कहा कि महाराष्ट्र में कानून का राज है और कानून को चुनौती देने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए। वैसे महाराष्ट्र में कानून के राज को चुनौती देने के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। ऐसे में राज्य की उद्धव सरकार को लेकर सवाल उठने लाजिमी हैं।

महाराष्ट्र में महाविकास अघाड़ी गठबंधन की सरकार में शिवसेना के साथ कांग्रेस और एनसीपी भी शामिल हैं। महाराष्ट्र कांग्रेस के वरिष्ठ नेता के अपनी ही सरकार पर हमला करने से साफ हो गया है कि गठबंधन में सबकुछ ठीक-ठाक नहीं चल रहा है। राज ठाकरे के मुद्दे पर सरकार में शामिल दलों के बीच साफ तौर पर मतभेद दिख रहा है।

रंग दिखा सकता है कांग्रेस का दबाव

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के प्रमुख राज ठाकरे ने पिछले कई दिनों से राज्य की मस्जिदों से लाउडस्पीकर उतरवाने की मुहिम छेड़ रखी है। अपनी मुहिम के समर्थन में ही उन्होंने 1 मई को औरंगाबाद में बड़ी रैली को संबोधित किया था। इस दौरान उन्होंने राज्य की उद्धव सरकार पर जमकर हमले किए थे। उन्होंने यह भी चेतावनी दी थी कि मस्जिदों से लाउडस्पीकर नहीं उतारे गए तो मनसे कार्यकर्ता दोगुनी आवाज में हनुमान चालीसा का पाठ करेंगे।

राज ठाकरे की चेतावनी के बाद राज्य की कई मस्जिदों के बाहर लाउडस्पीकर लगाने की कोशिश में तमाम मनसे कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया जा चुका है। मुंबई पुलिस की ओर से अभी तक राज ठाकरे के खिलाफ कोई कदम नहीं उठाया गया है। राज ठाकरे के खिलाफ कोई कार्रवाई न किए जाने को लेकर अब राज्य में सियासी खींचतान तेज हो गई है। अब सबकी निगाहें मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर लगी हुई है और माना जा रहा है कि कांग्रेस का सियासी दबाव आने वाले दिनों में कुछ असर दिखा सकता है।

Ragini Sinha

Ragini Sinha

Next Story