Meghalaya-Nagaland Assembly Elections: मेघालय-नागालैंड दौरे पर आज पीएम मोदी, 27 फरवरी को है वोटिंग

Meghalaya-Nagaland Assembly Elections:

Krishna Chaudhary
Published on: 24 Feb 2023 5:13 AM GMT (Updated on: 24 Feb 2023 8:06 AM GMT)
PM Modi Visit for Meghalaya Nagaland Assembly Elections 2023
X

PM Modi Visit for Meghalaya Nagaland Assembly Elections 2023 (Photo: social Media)

Meghalaya-Nagaland Assembly Elections: विधानसभा चुनाव को लेकर उत्तर – पूर्वी राज्य मेघालय और नागालैंड में चुनाव प्रचार जोरों पर है। भाजपा-काग्रेस और टीएमसी जैसी बड़ी पार्टियों के अलावा इन राज्यों की स्थानीय पार्टियां भी जोरदार प्रचार अभियान चला रही हैं। त्रिपुरा में विधानसभा संपन्न होने के बाद बीजेपी ने इन दो राज्यों पर फोकस बढ़ा दिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज खुद प्रचार अभियान में उतरने वाले हैं। मेघालय में उनका रैली के अलावा रोड शो का भी कार्यक्रम है। इसके बाद पीएम मोदी नागालैंड जाएंगे और दीमापुर में रैली को संबोधित करेंगे।

मेघालय में पीएम मोदी का कार्यक्रम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज सुबह राजधानी शिलॉन्ग पहुंचेंगे। यहां सबसे पहले तीन स्वतंत्रता सेनानियों यू टिरोट सिंग, यू कियांग नांगबाह और पा तोगन संगमा को श्रद्धांजलि देंगे। इसके बाद ख्यानदाइलाद क्षेत्र में रोड शो में हिस्सा लेंगें और लोगों को भी संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री इसके बाद वेस्ट गारो हिल्स जिले के तुरा में बीसीसीआई के एक मैदान में चुनावी रैली को संबोधित करेंगे।

दरअसल, हाल ही में मेघालय सरकार ने तुरा में प्रधानमंत्री मोदी की रैली आयोजित करने की परमिशन बीजेपी को नहीं दी थी। राज्य सरकार ने इसके पीछे सुरक्षा को वजह बताया था। यह रैली पीए संगमा स्पोर्ट्स कॉम्प्लैक्स में होने वाली थी। इस पर बीजेपी ने सीएम कोनराड संगमा पर निशाना साधा था। बता दें कि बीजेपी चुनाव से पहले तक राज्य में संगमा की सरकार में शामिल थी। इतना ही नहीं मेघालय सीएम की पार्टी एनपीपी उत्तर-पूर्व का एनडीए संस्करण नेडा(नॉर्थ ईस्ट डेमोक्रिटक फ्रंट) में अभी भी शामिल है।

नागालैंड में पीएम मोदी का कार्यक्रम

मेघालय में चुनावी कार्यक्रम खत्म करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नागालैंड जाएंगे। नागालैंड के कमर्शियल शहर दीमापुर में वह एक रैली को संबोधित करेंगे। भाजपा नागालैंड की सरकार में शामिल है। बीजेपी यहां एनपीएफ के साथ गठबंधन में चुनाव लड़ रही है। मेघालय और नागालैंड में चुनाव से पहले प्रधानमंत्री का ये पहला और आखिरी चुनावी कार्यक्रम है।

ईसाई बहुल राज्यों में कमाल कर पाएगी बीजेपी!

2014 तक बीजेपी पारंपरिक तौर पर असम को छोड़कर उत्तर-पूर्व के अन्य राज्यों में कमजोर रही है। मेघालय और नागालैंड जैसे राज्यों में भी पार्टी की स्थिति नाममात्र की रही है। इसकी वजह है यहां की ईसाई आबादी। इन दोनों राज्यों की बहुसंख्यक आबादी ईसाई है। मेघालय की 75 प्रतिशत आबादी और नागालैंड की 88 प्रतिशत आबादी ईसाई है। इन राज्यों में विपक्षी दल बीजेपी को हिंदुत्व को लेकर घेर रहे हैं जबकि बीजेपी यहां उसका जिक्र तक नहीं करती। मेघायल बीजेपी अध्यक्ष अर्नेस्ट मावरी ने तो यहां तक कह दिया कि वो बीफ (गोमांस) खाते हैं लेकिन इससे उनकी पार्टी को कोई दिक्कत नहीं है। ऐसे में यहां के ईसाई मतदाता बीजेपी पर कितना भरोसा दिखाते हैं, देखना दिलचस्प होगा।

27 फरवरी को वोटिंग और दो मार्च को आएंगे नतीजे

मेघालय और नागालैंड की 60 विधानसभा सीटों के लिए 27 फरवरी को वोट डाले जाएंगे। इन राज्यों के चुनाव परिणाम त्रिपुरा के साथ दो मार्च को आएंगे। त्रिपुरा में 16 फरवरी को ही मतदान हो गया था।

Snigdha Singh

Snigdha Singh

Leader – Content Generation Team

Started career with Jagran Prakashan and then joined Hindustan and Rajasthan Patrika Group. During her career in journalism, worked in Kanpur, Lucknow, Noida and Delhi.

Next Story