×

माया के अपमान पर सड़कों पर उतरी BSP, दयाशंकर की गिरफ्तारी की मांग

Published on 20 July 2016 9:11 AM GMT
माया के अपमान पर सड़कों पर उतरी BSP, दयाशंकर की गिरफ्तारी की मांग
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

लखनऊः मायावती पर अभद्र टिप्‍पड़ी के बाद राजधानी में बीएसपी आज विरोध प्रदर्शन कर रही है बीएसपी कार्यकर्ता यूपी बीजेपी के उपाध्यक्ष रहे दयाशंकर सिंह की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं। बीएसपी के कार्यकर्ता हजरतगंज स्थित अंबेडकर प्रतिमा के सामने विरोध जता रहे हैं। यूपी के विभिन्‍न जिलों से बीएसपी के हजारों कार्यकर्ता हजरतगंज पहुंच रहे हैंं। बीएसपी नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी भी मौके पर पहुंच गए हैं। बढ़ते विरोध के चलते भारी पुलिस बल तैना‍त कर दिया गया है।

बुधवार को राजधानी की हजरतगंज कोतवाली में आईपीसी की धारा 153 (ए), 504, 509 और एससी/एसटी एक्ट के तहत दयाशंकर सिंह पर केस दर्ज हो गया है। बता दें कि दयाशंकर ने बीएसपी सुप्रीमो मायावती के खिलाफ मऊ में आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। वहीं, देर रात बीजेपी ने दयाशंकर को 6 साल के लिए पार्टी से निकालने का एलान कर दिया।

dharna-start हजरतगंज में धरनास्थल पर सुबह से ही जुटने लगे बीएसपी कार्यकर्ता

इस बीच, बीएसपी ने दयाशंकर के बयान के बाद बीजेपी के खिलाफ गुरुवार को आंदोलन की घोषणा कर दी। पार्टी ने अपने सभी बड़े नेताओं और जिलाध्यक्षों को लखनऊ बुला लिया। सुबह से ही बीएसपी के कार्यकर्ता और नेता राजधानी के हजरतगंज में अंबेडकर प्रतिमा के सामने इकट्ठा होने लगे।

fir दयाशंकर सिंह के खिलाफ हजरतगंज थाने में दी गई तहरीर

क्या कहा था बीजेपी नेता ने ?

यूपी बीजेपी के उपाध्यक्ष रहे दयाशंकर सिंह ने कहा, 'मायावती, कांशीराम के नाम को बदनाम करने में जुटी हैं। विधानसभा के टिकट को लेकर हर रोज नए रेट तय किए जा रहे हैं।' उन्होंने कहा, 'किसी से एक करोड़ रुपए में सीट तय होने के बाद यदि कोई अन्य दो करोड़ रुपए देने के लिए तैयार हो जाता है तो फिर एक करोड़ वाले को धोखा दे दिया जाता है। इस तरह तो एक ---- भी अपनी जुबान से नहीं पलटती है।' सिंह ने कहा, 'मायावती की बात की कीमत एक ---- की बात की कीमत से भी बदतर है।' हालांकि बाद में उन्होंने माफी मांगते हुए कहा था कि अगर मायावती चाहेंगी तो वह जेल जाने के लिए भी तैयार हैं।

ये भी पढ़ें ...राजनाथ बोले-ऊना मामला दुर्भाग्यपूर्ण, कांग्रेस ने की JPC जांच की मांंग

संसद में गरजीं थीं मायावती

अपशब्द बोले जाने के बाद यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने दयाशंकर सिंह के बयान के जवाब में कहा, 'मैंने आज तक किसी के लिए ऐसे शब्द का इस्तेमाल नहीं किया है। उन्होंने कहा ये शब्द मेरे लिए नहीं थे, इस भाषा का प्रयोग उन्होंने अपनी बेटी के लिए किया है।' मायावती ने आगे कहा, 'एक तरफ जहां गुजरात में दलितों पर अत्याचार का मुद्दा सामने आया है वहीं दूसरी तरफ एक और दलित की बेटी के लिए इस शब्द का प्रयोग बर्दाश्त से बाहर है।'

सड़क पर हंगामा हो तो बीजेपी जिम्मेदार

बीएसपी सुप्रीमो ने आगे कहा, 'बीजेपी अपने इस बड़बोले नेता को पार्टी से बाहर करे। इस आपत्तिजनक बयान के बाद यदि लोग सड़कों पर उतरते हैं और प्रतिक्रिया स्वरूप कुछ होता है तो इसके लिए बीजेपी जिम्मेदार होगी।'

ये भी पढ़ें ...PM की सिफारिश भी संदीप के काम न आई, मोदी को भेंट की थी लकड़ी की गीता

अरुण जेटली ने मांगी माफी

मायावती के बयान के बाद संसद में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने अपनी पार्टी के नेता के बयान के लिए माफी मांगी। उन्होंने कहा कि किसी भी महिला के लिए इस तरह के शब्द का इस्तेमाल अशोभनीय है। उन्होंने ये भी कहा था कि बीजेपी इस मामले में मायावती के साथ खड़ी है।

दयाशंकर को उपाध्यक्ष पद से हटाया गया था

संसद में हंगामे के बाद यूपी बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या ने बताया था कि दयाशंकर सिंह को उपाध्यक्ष पद से हटा दिया गया है। केशव ने कहा था कि कोई भी दयाशंकर के अभद्र बोल को लेकर उनके साथ खड़ा हो ही नहीं सकता।

ये भी पढ़ें ...VIDEO: हाफिज सईद बोला- मरने से पहले बुरहान वानी ने फोन पर की थी बात

कई बड़े नेताओं ने लगाया था टिकट बिक्री का आरोप

बता दें कि हाल के दिनों में बीएसपी के कई नेता मायावती पर टिकट बेचने का आरोप लगाकर पार्टी छोड़ चुके हैं। मऊ में दयाशंकर ने कहा था कि मायावती के टिकट बिक्री के मोल-भाव के तंग आकर स्वामी प्रसाद मौर्य, आरके चौधरी और जुगल किशोर जैसे नेताओं ने पार्टी छोड़ दी। उन्होंने कहा, ये नेता कांशीराम के साथ जुड़े थे।

Next Story