Top

कांग्रेस ने आचार्य प्रमोद कृष्णम को राजनाथ के सामने बनाया लखनऊ से प्रत्याशी

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी ने मंगलवार को केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह के विरोध में लखनऊ से आचार्य प्रमोद कृष्णम को टिकट देकर चुनावी मैदान में उतारा है। तो कैसरगंज से पूर्व सांसद विनय कुमार पांडेय को प्रत्याशी बनाया है। वहीँ मध्य प्रदेश के इंदौर लोकसभा सीट से पंकज शंघवी को कांग्रेस ने अपना प्रत्याशी बनाया है।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 16 April 2019 4:13 PM GMT

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी ने मंगलवार को केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह के विरोध में लखनऊ से आचार्य प्रमोद कृष्णम को टिकट देकर चुनावी मैदान में उतारा है। तो कैसरगंज से पूर्व सांसद विनय कुमार पांडेय को प्रत्याशी बनाया है। वहीँ मध्य प्रदेश के इंदौर लोकसभा सीट से पंकज शंघवी को कांग्रेस ने अपना प्रत्याशी बनाया है।

यह भी पढ़ें...आइये नज़र डालते हैं यूपी के दूसरे चरण की सीटों पर

हालाँकि अटकलें ये भी लगाई जा रही थी कि लखनऊ में राजनाथ के खिलाफ कांग्रेस किसी को चुनावी मैदान में नहीं उतारेगी और वह आज ही सपा में शामिल हुई शत्रुघ्न सिन्हा की पत्नी पूनम सिन्हा को समर्थन देगी। दिनभर आज ऐसी ही ख़बरें आती रहीं लेकिन शाम होते होते कांग्रेस ने अपना प्रत्याशी घोषित कर सभी लोगों को आश्चर्य में कर दिया| क्योंकि पूनम सिन्हा शत्रुघ्न सिन्हा की पत्नी हैं और बीजेपी को छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुए इस नेता को कांग्रेस ने पटना साहिब सीट से अपना लोकसभा प्रत्याशी बना रखा है, तो कांग्रेस से ऐसी उम्मीदें नहीं की जा रही थी।

यह भी पढ़ें...सुशील मोदी बोले- राहुल गांधी के खिलाफ जल्द दायर करूंगा मानहानि का केस

राजनाथ को लखनऊ में हराना मुश्किल:

लखनऊ में छह मई को मतदान होगा। यह संसदीय सीट भाजपा का गढ़ मानी जाती है। 1991, 1996, 1998, 1999 और 2004 के लोकसभा चुनावों में इस सीट से अटल बिहारी वाजपेयी विजयी रहे थे। इसके बाद उनकी सेहत खराब होने की वजह से 2009 में यहां से लाल जी टंडन जीते और 2014 में राजनाथ सिंह ने यहां से जीत दर्ज की। एक बार फिर वह यहां से भाजपा उम्मीदवार हैं। ऐसे में यहां से सीट निकालना कांग्रेस और गठबंधन के लिए चुनौती होगी।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story