×

पंजाब के चुनाव कंपेन से 'गुरु' गायब, उठ रहे हैं तरह-तरह के सवाल

वहीं पार्टी का कहना है कि सिद्धू का चुनाव प्रचार 13 मई के बाद से शुरू होगा। वो स्‍टार प्रचारक हैं और पार्टी हाईकमान ने उन्‍हें अन्‍य प्रदेशों में चुनाव प्रचार की जिम्‍मेदारी सौंप रखी है।

Shivakant Shukla

Shivakant ShuklaBy Shivakant Shukla

Published on 11 May 2019 3:24 PM GMT

पंजाब के चुनाव कंपेन से गुरु गायब, उठ रहे हैं तरह-तरह के सवाल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

अमृतसर: जैसे-जैसे चुनाव की तिथि नजदीक आ रही है, वैसे -वैसे पंजाब का सियासी तापमान भी चढ़ने लगा है। पंजाब की 13 लोक सभा सीटों पर 19 मई को अंतिम चरण में मतदान होने वाले हैं।

इस चुनावी रणभूमि में एक तरफ पटियाला से जहां मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह की पत्‍नी परनीत कौर की प्रतिष्‍ठा दांव पर है , वहीं बठिंडा से पूर्व मुख्‍यमंत्री प्रकाश सिंह बादल की बहू और केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल पर अपनी सीट बचाने की चुनौती है। दूसरी ओर फिरोजपुर से शिअद अध्‍यक्ष सुखबीर सिंह बादल खुद चुनाव लड़ रहे हैं और उन्‍हें अपने ही चेले शेर सिंह धुबाया की चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है। वहीं गुरदासपुर से कांग्रेस सांसद और प्रदेश अध्‍यक्ष सुनील जाखड़ को भाजपा प्रत्‍याशी सनी देयोल चुनौती दे रहे हैं।

ये भी पढ़ें— मोदी और उनके मंत्रियों ने 5 सालों में यात्रा पर खर्च किए 393 करोड़ रुपये

लेकिन सब गहमागहमी के बीच कांग्रेस के स्‍टार प्रचारक नवजोत सिंह सिद्धू का पंजाब से गायब होना कई तरह के सवाल खड़ा कर रहा है। क्‍योंकि लोकसभा चुनाव का बिगुल बजने के बाद से ही सिद्धू ने पंजाब में एक भी चुनावी रैली नहीं की है। परनीत कौर, मनीष तिवारी, सुनील जाखड़ सहित प्रदेश में कांग्रेस के कई दिग्‍गजों की पतिष्‍ठा दावं पर है। कैप्‍टन अमरिंदर सिंह खुद अपनी पत्‍नी परनीत कौर के चुनाव प्रचार की कमान संभाल रखे हैं। ऐसे में पंजाब में 'सिद्ध वाणि' का सुनाई न देना तो कई तरह के सवाल खड़े करेंगे ही।

ये भी पढ़ें— लोकसभा चुनाव: छठे चरण के मतदान के लिए UP की 14 सीटों पर तैयारी पूरी

विपक्ष को तो छोडि़ए खुद कांग्रेस के अंदर ही नवजोत सिंह सिद्धू को लेकर कई तरह के बयान आ रहे हैं। पार्टी सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कांग्रेस नहीं चाहती की सिद्धू पंजाब में चुनाव कंपेन चलाएं। क्‍योंकि सिद्धू के बड़बोलेपन के कारण कई बार पार्टी को मुसिबत में डाल दिया है। चुनाव अपने अंतिम चरण में हैं। ऐसे में पार्टी फूंक-फूंक कर कदम उठा रही है। वहीं पार्टी का कहना है कि सिद्धू का चुनाव प्रचार 13 मई के बाद से शुरू होगा। वो स्‍टार प्रचारक हैं और पार्टी हाईकमान ने उन्‍हें अन्‍य प्रदेशों में चुनाव प्रचार की जिम्‍मेदारी सौंप रखी है।

ये भी पढ़ें— सपा ने आजमगढ़ में बूथ कैप्चरिंग की जताई आशंका, चुनाव आयोग से की शिकायत

Shivakant Shukla

Shivakant Shukla

Next Story