लखनऊ के गोसाईंगंज में 12 घंटे की मशक्कत के बाद पकड़ा गया तेंदुआ

Published by priyankajoshi Published: March 20, 2018 | 11:05 am
Modified: May 25, 2018 | 5:54 pm

लखनऊ: राजधानी में लगातार तेंदुआ पकड़े जा रहे हैं। ये तेंदुआ कहां से आ रहे ये किसी को नहीं पता। गोसाईगंज के मुल्लाखेड़ा गांव में सोमवार को तेंदुए निकल आया, जिससे वहां का माहौल दशहत भरा रहा। किसान पथ के नीचे पानी के पाइप में छिपे तेंदुए को पकड़ने के लिए वन विभाग की टीम 5 घंटे देरी से पहुंची। इसके बाद देर रात तक मशक्कत करती रही, लेकिन वह पकड़ने में असमर्थ रहे। फिर रात भर वन विभाग की टीम उसे पकड़ने की कोशिश करती रही। आखिरकार मंगलवार (20 मार्च) को टीम ने ट्रेंकुलाइज कर तेंदुए को पिंजरे में कैद कर लिया। वन विभाग की टीम तेंदुए को पकड़कर लखनऊ चिड़ियाघर ले आई है। तेंदुआ के पकड़े जाने के बाद लोगों ने राहत की सांस ली।

साढ़े बारह घंटे बाद पकड़ा गया तेंदुआ
गौरतलब है कि सोमवार की सुबह 8:00 बजे मुल्लाखेड़ा के निवासी मोहित को किसान पथ के नीचे पानी के पाइप में किसी जानवर के गुर्राने की आवाज आई थी। मोहित ने गांव के लोगों को बुलाया और अंधेरे की वजह से टॉर्च की रोशनी से देखने की कोशिश की तो तेंदुए ने दहाड़ मारी। यह खबर फैलते ही गांव के सैकड़ों लोगों की भीड़ जमा हो गई। मोहित ने गोसाईंगंज थाने को सूचना दी, तो कुछ ही देर में एसओ विद्यासागर पुलिसकर्मियों समेत मौके पर पहुंचे। उन्होंने लगभग सुबह 9:00 बजे वन विभाग को सूचना दी।

जेसीबी से पाइप का मुंह बंद करवा दिया
इसके तुरंत बाद उन्होंने निर्माण कार्य के लिए नजदीक खड़ी जेसीबी से पाइप का मुंह बंद करवा दिया। पूरे मामले में वन विभाग की लारवाही एक बार फिर सामने आई। डीएफओ मनोज सोनकर दोपहर एक बजे टीम के साथ पहुंचे, बिना किसी इंतजाम के। बाद में पिंजरा और जाल मंगवाया गया।

रेस्क्यू ऑपरेशन रात भर चला
डीएफओ और नवाब वाजिदअली शाह प्राणि उद्यान के डॉ. बृजेंद्र और डॉ. आशीष ने रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया। प्राणि उद्यान के डॉ. उत्कर्ष ने टीम की मदद से पाइप के मुंह पर पिंजरा लगाया और उसे जाल और तिरपाल से ढक दिया। काफी देर तक तेंदुए के पिंजरे में न आने पर पाइप में सरिया डालकर तेंदुए को निकालने की कोशिश की गई। हालांकि रात भर रेस्क्यू ऑपरेशन चलता रहा, लेकिन उसे निकाला नहीं जा सका। आखिरकार मंगलवार सुबह 8:30 बजे वन विभाग की टीम ने कड़ी मशक्कत के बाद तेंदुए को ट्रेंकुलाइज कर तेंदुए को पिंजरे में कैद कर लिया।

गौरतलब है कि पिछले दिनों ठाकुरगंज के एक स्कूल में तेंदुआ पकड़ा गया था। इसके बाद आशियाना के औरंगाबाद खालसा में एक तेंदुआ मार गिराया गया था। इसके बाद गोसाईंगंज के मुल्लाखेड़ा गांव में सोमवार को तेंदुआ निकल आया। वहां दिनभर लोग दहशत में रहे।

    Tags: