Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

लोकसभा चुनाव : इस सीट पर पिछले चुनाव में नोटा ने कर दिया खेल

पुणे लोकसभा सीट पर पिछले लोकसभा चुनाव में 29 प्रत्याशी मैदान में थे। मजे की बात ये है कि उनमें से 23 प्रत्याशियों को नोटा से भी कम वोट मिले थे। पिछले चुनाव में नोटा 6 हजार 438 मतदाताओं ने दबाया था।

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 16 April 2019 2:43 PM GMT

लोकसभा चुनाव : इस सीट पर पिछले चुनाव में नोटा ने कर दिया खेल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

पुणे: पुणे लोकसभा सीट पर पिछले लोकसभा चुनाव में 29 प्रत्याशी मैदान में थे। मजे की बात ये है कि उनमें से 23 प्रत्याशियों को नोटा से भी कम वोट मिले थे। पिछले चुनाव में नोटा 6 हजार 438 मतदाताओं ने दबाया था।

ये भी देखें : तुमकुर के मतदाताओं के लिए पानी की समस्या बड़ी, देवगौड़ा के लिए परीक्षा

23 निर्दलीय उम्मीदवारों को मिलकर 18 हजार 548 वोट मिले थे।

चुनाव में बीजेपी के अनिल शिरोले को 5 लाख 69 हजार 825 और कांग्रेस के डॉ विश्वजीत कदम को 2 लाख 54 हजार 56 वोट मिले थे। मनसे के दीपक पायगुडे को 93 हजार 502 वोट मिले। निर्दलीय उम्मीदवार अरुण भाटिया को 7 हजार 222 वोट मिले थे। निर्दलीय उम्मीदवारों में से 7 उम्मीदवारों को एक हजार से अधिक वोट मिले थे।

ये भी देखें : गुलाम नबी आजाद ने कहा- मोदी के झूठ, फरेब BJP के डूबते जहाज को नहीं बचा सकते

आपको बता दें, इस बार 31 उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story