Top

अमिताभ धमकी मामला: मुलायम को मिली क्लीन चिट खारिज, चलेगा मुकदमा

समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव की ओर से आईपीस अमिताभ ठाकुर को फोन पर धमकी देने के मामले में क्लीन चिट देने वाली पुलिस की फाइनल रिपोर्ट को चीफ ज्यूडीशियल मजिस्ट्रेट ने खारिज कर दिया है।

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 5 Feb 2019 7:44 AM GMT

अमिताभ धमकी मामला: मुलायम को मिली क्लीन चिट खारिज, चलेगा मुकदमा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ : समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव की ओर से आईपीस अमिताभ ठाकुर को फोन पर धमकी देने के मामले में क्लीन चिट देने वाली पुलिस की फाइनल रिपोर्ट को चीफ ज्यूडीशियल मजिस्ट्रेट ने खारिज कर दिया है। सीजेएम ने मामले पर मुकदमा दर्ज करने का आदेश देते हुए अभियोजन पक्ष को 12 फरवरी को बयान दर्ज कराने को कहा है।

ये भी देखें :अमिताभ ठाकुर को धमकी देने के मामले में मुलायम को फिर मिली क्लीन चिट

सीजेएम आनंद प्रकाश सिंह ने अपने आदेश में कहा, अमिताभ ठाकुर अपने बयान कर कायम हैं और उन्होंने अपनी शिकायत के पक्ष में सबूत पेश किये हैं। मुलायम सिंह ने भी अपने बयान में फोन रिकॉर्डिंग में अपनी आवाज का होना स्वीकार किया है।ऐसे में पुलिस की अंतिम रिपोर्ट रद्द किये जाने योग्य है।

ये भी देखें :अमिताभ ठाकुर धमकी मामले में मुलायम की बढ़ी मुश्किलें, SIT गठित

गौरतलब है, कि आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने राजधानी के हजरतगंज थाने में तहरीर देकर पूर्व सीएम मुलायम सिंह यादव पर धमकी देने का आरोप लगाया था। अमिताभ ठाकुर के अनुसार, मुलायम सिंह यादव ने 10 जुलाई 2015 को उन्हें मोबाइल पर धमकी दी थी। इसके बाद पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू की थी।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story