Top

मेवाड़ के राजपरिवार ने भी किया श्रीराम के वंशज होने का दावा

अयोध्या विवाद में अब एक और राज परिवार ने भी श्रीराम वंशज होने का दावा किया है। ये मेवाड़ का पूर्व राज परिवार है, जिसने श्रीराम के पुत्र लव के वंशज होने की बात कही है।

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 12 Aug 2019 6:26 AM GMT

मेवाड़ के राजपरिवार ने भी किया श्रीराम के वंशज होने का दावा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

अयोध्या विवाद में अब एक और राज परिवार ने भी श्रीराम वंशज होने का दावा किया है। ये मेवाड़ का पूर्व राज परिवार है, जिसने श्रीराम के पुत्र लव के वंशज होने की बात कही है। इससे पहले राजस्थान के ही जयपुर के परिवार ने भी श्रीराम के वंशज हेने की बात कही थी। लव ने लव-कोटे को बसाया था। लव के वंशज ने मेवाड़ में सिसौदिया साम्राज्य की स्थापना की। इस बात को इतिहासकारों ने भी सही मानी है। उन्होंने कहा है कि परिवार का सूर्यवंशी होना और उनका रीति-रवाज भी उनके राम के वंशज होने का प्रमाण देता है।

दरअसल, कोर्ट में चल रहे अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट ने रामलला के वकील से पूछा था कि क्या राम के परिवार का कोई वंशज दुनिया में है। जिस पर वकील ने इसके बारे में जानकारी ना होने की बात कही। जिसके बाद जयपुर के पूर्व राज परिवार ने श्रीराम के वंशज होने की बात कही और इस बात के प्रमाण भी प्रस्तुत किए हें। जयपुर के बाद अब मेवाड़ के राज परिवार के सदस्य महेन्द्र सिंह मेवाड़ ने कहा कि हमारा राज परिवार लव का वंशज है। मेवाड़ में उनकी 76 पीढियां हैं और राजघराने का इतिहास और भी पुराना है।

इतिहासकारों ने भी भरी हामी-

इतिहासकारों ने बताया कि श्रीराम के वंशज का राज प्रतीक सूर्य और वे शिव के उपासक रहे हैं और ये दोनों समानताएं मेवाड़ के राज परिवार में भी है। राजपरिवार के पास सूर्यवंशी होने की वंशावली भी मौजूद है।

इन लोगों ने भी वंशज होने का दावा-

कुछ दिनों पहले कांग्रेस के प्रवक्ता सत्येंद्र सिंह राघव ने भी राघव राजपूत को राम का असली वंशज बताया था। उसके बाद जयपुर के पूर्व राजघराने और भाजपा सांसद दीया कुमारी ने खुद को राम का वंशज होने की बात कही थी। राघव ने अपने फेसबुक पर इस बात की दावेदारी दी है और वाल्मिकी रामायण का उल्लेख किया है। जिसमें लव और कुश के वंशज की भी जानकारी है।

अयोध्या केस का मुद्दा नहीं वंशावली, फिर मांग क्याों?

वहीं मेवाड़ के राजपरिवार के सदस्य महेन्द्र ने बताया कि हमारा राजपरिवार राम के पुत्र लव का वंशज है। अयोध्या केस का मुद्दा राम के वंशज की वंशावली नहीं है। फिर भी क्यों मांगा जा रहा है?

Shreya

Shreya

Next Story