कंगाली से जूझ रहा PAK अब करतारपुर श्रद्धालुओं से करेगा इतने की वसूली

करतारपुर साहिब गलियारा भारत के गुरदासपुर जिले के डेरा बाबा नानक गुरुद्वारे को पाकिस्तान के नरोवाल में करतारपुर साहिब गुरुद्वारे से जोड़ता है। संभावना है कि करतारपुर कॉरिडोर को गुरु नानक देव की नवंबर में पड़ रही 550वीं जयंती पर खोल दिया जाएगा।

इस्लामाबाद: पाकिस्तान ने करतारपुर कॉरिडोर से जाने वालों से 20 अमेरिकी डॉलर (1,425 रुपये) वसूलने का फैसला किया है। यह सर्विस चार्ज की तरह लिया जाएगा। पाकिस्तान के विदेश मंत्री डॉ मोहम्मद फैसल ने इस फैसले की जानकारी दी।

माना जा रहा है कि ये पैसे पानी और यदि कोई बीमार पड़ता है तो उसके दवाई के लिए लिया जा रहा है। बता दें कि पाकिस्तान इस गलियारे से हर दिन 5,000 श्रद्धालुओं को गुरुद्वारा आने की इजाजत देने की बात कही है और विशेष मौकों पर इस संख्या को बढ़ाया भी जा सकता है।

ये भी पढ़ें…करतारपुर कॉरिडोर मसला! पाकिस्तान वीजा फीस वसूलने कोे लेकर, भारत का रुख- आवाजाही निःशुल्क होनी चाहिए

इससे पहले भारत और पाकिस्तान के बीच तीसरे दौर की बातचीत बेनतीजा रही थी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सिख श्रद्धालुओं के लिए प्रस्तावित करतारपुर गलियारे के मसौदा समझौते को अंतिम रूप देने में पाकिस्तान ने यह कहकर अड़ंगा लगा दिया था कि वे सभी तीर्थयात्रियों से ‘सर्विस फीस’ वसूलेंगे।

इसके साथ ही पाकिस्तान ने भारत की उस मांग को भी खारिज कर दिया था। जिसमें उसने करतारपुर गलियारे में आने-जाने के दौरान सिख तीर्थयात्रियों के साथ प्रोटोकॉल अधिकारी को भेजने की बात कही थी।

बता दें कि अटारी-वाघा बॉर्डर पर (भारत की तरफ) तीसरे दौर की बातचीत हो चुकी है। भारत-पाकिस्तान के बीच हुई इस वार्ता में सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव की 550वीं जयंती पर नवंबर में करतारपुर साहिब गलियारा खोलने के लिए समझौते के मसौदे को अंतिम रूप देने की उम्मीद थी।

 

ये भी पढ़ें…बाड़ से तय होंगी करतारपुर कॉरिडोर की सीमाएं, भारत-पाक बैठक में हुई चर्चा

गुरु नानक देव की 550वीं जयंती पर खोले जाने की संभावना

करतारपुर साहिब गलियारा भारत के गुरदासपुर जिले के डेरा बाबा नानक गुरुद्वारे को पाकिस्तान के नरोवाल में करतारपुर साहिब गुरुद्वारे से जोड़ता है। संभावना है कि करतारपुर कॉरिडोर को गुरु नानक देव की नवंबर में पड़ रही 550वीं जयंती पर खोल दिया जाएगा।

ज्ञात हो कि नवंबर 2018 में भारत और पाकिस्तान ने करतारपुर में गुरुद्वारा दरबार साहिब को जोड़ने वाला गलियारा बनाने पर सहमति जताई थी। करतारपुर पाकिस्तान के नोरोवाल जिले में रावी नदी के पास और डेरा बाबा नानक से करीब चार किलोमीटर पर स्थित है।

ये भी पढ़ें…तनाव के बाद भी करतारपुर कॉरिडोर पर जारी रहेगी पहल: पाकिस्तान