×

एक जुलाई से रेलवे देगा डेस्टिनेशन अलर्ट की सुविधा, होंगे कई और बदलाव

Newstrack
Published on 6 May 2016 11:38 AM GMT
एक जुलाई से रेलवे देगा डेस्टिनेशन अलर्ट की सुविधा, होंगे कई और बदलाव
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

लखनऊ: अगर आप रेलवे में सफर करते हैं तो जरा इस खबर को ध्यान से पढ़ें। अगर आपने इस खबर को मिस कर दिया तो आपको परेशानी हो सकती है। बात ये है कि जुलाई से रेलवे में कई बदलाव होने वाले हैं। अगर आपको इन बदलावों के बारे में नहीं पता है तो इस खबर को पढ़ कर जान लें। ये बदलाव है...

तत्काल की 50 फीसदी राशि वापस

वेटिंग लिस्ट का झंझट खत्म हो जाएगा। रेलवे की ओर से चलाई जाने वाली सुविधा ट्रेनों में यात्रियों को कन्फर्म टिकट की सुविधा दी जाएगी। 1 जुलाई से तत्काल टिकट कैंसिल करने पर 50 फीसदी राशि वापस किए जाएंगे। 1 जुलाई से तत्काल टिकट के नियमों में बदलाव हुआ है। सुबह 10 से 11 बजे तक एसी कोच के लिए टिकट बुकिंग होगी. जबकि 11 से 12 बजे तक स्लीपर कोच की बुकिंग होगी।

हर भाषा में मिलेंगे टिकट

1 जुलाई से राजधानी और शताब्दी ट्रेनों में पेपरलेस टिकटिंग की सुविधा शुरू हो रही हैं। इस सुविधा के बाद शताब्दी और राजधानी ट्रेनों में पेपर वाली टिकट नहीं मिलेगी, बल्कि आपके मोबाइल पर टिकट भेजा जाएगा। जल्द ही रेलवे अगल-अगल भाषाओं में टिकटिंग की सुविधा शुरू करने जा रही हैं। अभी तक रेलवे का हिंदी और अंग्रेजी में टिकट मिलता रहा है, लेकिन नई वेबसाइट के बाद अब अलग-अगल भाषाओं में टिकट की बुकिंग की जा सकेगी।

ट्रेनों की वैकल्पिक व्यवस्था

रेलवे में टिकट के लिए हमेशा से मारामारी होती रहती है। ऐसे में 1 जुलाई से शताब्दी और राजधानी ट्रेनों में कोचों की संख्या बढ़ाई जाएगी। भीड़भाड़ के दिनों में ट्रेन में बेहतर सुविधा देने के लिए वैकल्पिक ट्रेन की सुविधा शुरू करने और महत्वपूर्ण ट्रेनों की डुप्लीकेट गाड़ी चलाने की योजना है। रेल मंत्रालय ने 1 जुलाई से राजधानी, शताब्दी, दुरंतो और मेल-एक्सप्रेस ट्रेनों के तर्ज पर सुविधा ट्रेन चलाई जाएगी।

जुलाई से रेलवे की प्रीमियम ट्रेने हो जाएंगी बंद। इन ट्रेनों में टिकट वापस होने पर 50 फीसदी किराए की वापसी होगी। इसके अलावा एसी-2 पर 100 रुपए, एसी-3 पर 90 रुपए, स्लीपर पर 60 रुपए प्रति यात्री काटे जाएंगे।

अब ट्रेन में बेफिक्र सोए

अगर आप रात के समय ट्रेन में सफर कर रहे हैं। रात में ही आपका डेस्टिनेशन स्टेशन आएगा, तो आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। बेफिक्र होकर सोएं, क्योंकि अब आपका डेस्टिनेशन स्टेशन आने से पहले जगाने की जिम्मेदारी रेलवे की होगी। लेकिन इसके लिए आपको 139 पर फोन कर वेकअप कॉल-डेस्टिनेशन अलर्ट सुविधा अपने पीएनआर पर एक्टिवेट करवाना होगी।

क्या है डेस्टिनेशन अलर्ट

इस सुविधा को डेस्टिनेशन अलर्ट नाम दिया गया है। सुविधा को एक्टिवेट करने पर डेस्टिनेशन स्टेशन आने से पहले ही मोबाइल पर अलार्म बजेगा। सुविधा को एक्टिवेट करने के लिए अलर्ट टाइप करने के बाद पीएनआर नंबर टाइप करना होगा और 139 पर सेंड करना होगा। 139 पर कॉल करना होगा। कॉल करने के बाद भाषा चुने और फिर 7 डायल करें। 7 डायल करने के बाद पीएनआर नंबर डायल करना होगा। इसके बाद यह सेवा एक्टिवेट हो जाएगा। इस सुविधा को वेकअप कॉल नाम दिया गया है।

रिसीव होने तक बजेगी मोबाइल की घंटी

इस सेवा को एक्टिवेट करने पर स्टेशन आने से पहले मोबाइल की घंटी बजेगी। ये घंटी तब-तक बजती रहेगी, जब तक आप फोन रिसीव नहीं करेंगे। फोन रिसीव होने पर यात्री को सूचित किया जाएगा कि स्टेशन आने वाला है।

Newstrack

Newstrack

Next Story