Top

मुलायम और शिवपाल आएंगे अखिलेश के साथ, संकेत तो कुछ ऐसे ही हैं !

By

Published on 17 Jan 2017 5:46 AM GMT

मुलायम और शिवपाल आएंगे अखिलेश के साथ, संकेत तो कुछ ऐसे ही हैं !
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: समाजवादी पार्टी में मचा घमासान समाप्त तो नहीं हुआ, लेकिन चुनाव चिह्न को लेकर चल रहा विवाद फिलहाल थम सा गया है। अब सपा अखिलेशवादी हो चुकी है। हमें मिली जानकारी के मुताबिक मंगलवार को अखिलेश मुलायम व शिवपाल समेत अपने करीबी नेताओं के साथ एक बैठक करेंगे और ये सभी मिलकर बदले समीकरणों के बीच कोई ऐसा रास्ता तलाश करेंगे। जिस पर चल कर मुलायम, शिवपाल भी चुनावी रणनीति का हिस्सा बन सकें।

हमारे विश्वस्त सूत्रों के मुताबिक अखिलेश ने पार्टी पर अपने कब्जे के बाद पापा और चाचा को मनाने का प्रयास तेज कर दिया है। इन दोनों के ही समर्थकों को उम्मीद है, कि शिवपाल अपनी जसवंतनगर सीट से ही चुनाव लड़ेंगे, साथ ही अलग-अलग जारी हुई प्रत्याशियों की लिस्ट को भी एक में ही मिला उनके लिए प्रचार करेंगे।

सीएम अखिलेश के करीबी विधान परिषद सदस्य उदयवीर सिंह ने newstrack.com को बताया कि शिवपाल पार्टी के कद्दावर नेता हैं, उनका अनुभव पार्टी के काम आएगा और सपा एक बार फिर सत्ता में आएगी।

ये भी पढ़ें.... सपा ऑफिस में दिखी नई नेमप्लेट, मुलायम की जगह अखिलेश ‘राष्ट्रीय अध्यक्ष’

उम्मीद ये भी है कि कार्यकर्ताओं में फैली निराशा को समाप्त करने के लिए पूरा यादव कुनबा एक मंच पर साथ नजर आएगा। आपको बता दें कि यूपी में पहले चरण के चुनाव के लिए मंगलवार 17 जनवरी से नामांकन प्रक्रिया शुरू की जाएगी। पहले चरण में 15 जिलों की 73 विधानसभा सीटों पर मतदान 11 फरवरी को होंगे।

वहीँ अखिलेश के पक्ष में आयोग के फैसले के बाद उनके खेमें में जश्न का माहौल है, तो कांग्रेस के साथ गठबंधन की संभावनाएं भी तेज हो गई हैं। यूपी में बीजेपी को मात देने के लिए सपा, कांग्रेस, जेडयू, और आरजेडी समेत कई छोटी-बड़ी पार्टियों का महागठबंधन करीब-करीब तय हो चुका है।

ये भी पढ़ें....समाजवादी स्मार्टफोन के रजिस्ट्रेशन पर अग्रिम आदेश तक रोक, BJP ने EC से की थी शिकायत

Next Story