Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

इस महिला के हाथों को देख दंग रह जाएंगे, डर के मारे उंगलियों का होता है ये हाल

एक महिला एक काफी रेयर कंडिशन के साथ रहने के लिए मजबूर है। इस रेयर कंडिशन की वजह से महिला की उंगलियां सफेद पड़ जाती हैं।

Meghna

MeghnaReporter MeghnaMonikaPublished By Monika

Published on 27 April 2021 1:25 PM GMT

इस महिला के हाथों को देख दंग रह जाएंगे, डर के मारे उंगलियों का होता है ये हाल
X

रेनाउड्स सिंड्रोम से पीड़ित हुई ये महिला  (फोटो: सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

दुनियाभर से ऐसे कई अजीब रेयर कंडिशंस (Rare conditions) मानव शरीर में सामने आते रहते हैं जो सबको चौंका कर रख देते हैं। इनमें से कई कंडिशंस ऐसे हैं जो अब भी वैज्ञानिकों (Scientists) के लिए एक पहेली हैं और कई ऐसे हैं जिसका रहस्य उन्होंने सुलझा लिया है और उसको ठीक करने की दिशा मैं अध्ययन किए जा रहे हैं।

एक महिला एक काफी रेयर कंडिशन के साथ रहने के लिए मजबूर है। इस रेयर कंडिशन की वजह से महिला की उंगलियां सफेद पड़ जाती हैं। महिला की बेटी द्वारा यह खुलासा करने के बाद उसकी उंगलियों की तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो गई है।

मोनिका नामक ये महिला विटिलिगो से पीड़ित नहीं है। उनकी 23 वर्षीय बेटी जूली ने हाल ही में ट्विटर पर एक तस्वीर शेयर की जिसमें महिला का हाथ सफेद पड़ता दिख रहा है। मोनिका रेनाउड्स सिंड्रोम से पीड़ित है। ये रक्त वाहिकाओं का एक रेयर कंडिशन है, जिसमें छोटी धमनियों की ऐंठन के कारण रक्त के प्रवाह में कमी आ जाती है। ज्यादातर मामलों में, रक्त प्रवाह की कमी के कारण हाथ की उंगलियां या पैर की उंगलियां सफेद पड़ जाती हैं।

डर की वजह से होता है ऐसा

जब भी मोनिका को ठंड लगती है या किसी चीज़ को लेकर परेशान हो जाती है तो उसकी उंगलियां पूरी तरह से सफेद पड़ने लग जाती हैं। होता ये है कि खून उसकी त्वचा की सतह तक नहीं पहुंच पाती है जिससे प्रभावित पैच सफेद और नीले रंग में बदल जाता है।

मोनिका की बेटी जूली ने बताया, "यह आमतौर पर सर्दियों में मेरी मां के साथ होता है या जब तापमान में अचानक गिरावट होती है। यह जनवरी में सबसे ज़्यादा खराब होता है। कभी-कभी दस्तानों से मदद मिलती है लेकिन अगर कुछ भी दो-तीन डिग्री से कम है, तो रेनाउड्स सिंड्रोम उनपर असर करना शुरू कर देगा। इससे फर्क नहीं पड़ता की उन्होंने दस्तानें पहने हों या नहीं।"

जूली के इस ट्वीट कई यूज़र्स ने कमेंट किया है इसे हज़ारों लाइक्स मिल चुके हैं। उसकी माँ की दुर्लभ स्थिति के बारे में जान कर कई सोशल मीडिया यूज़र्स चकित थे।

Monika

Monika

Next Story