Top

अलका लांबा ने योगी को बताया 'जाहिल', कहा- माला लेकर हिमालय चले जाएं

यूपी के भदोही जिले में हो रहे निकाय चुनाव में पार्टी प्रत्याशी के पक्ष में नुक्कड़ सभा करने पहुंचीं आम आदमी पार्टी (आप) की दिल्ली की विधायक अलका लांबा ने सीएम योगी आदित्यनाथ को हिमालय चले जाने की नसीहत दे डाली और जाहिल तक कह दिया।

tiwarishalini

tiwarishaliniBy tiwarishalini

Published on 21 Nov 2017 4:42 PM GMT

अलका लांबा ने योगी को बताया जाहिल, कहा- माला लेकर हिमालय चले जाएं
X
अलका लांबा ने योगी को बताया 'जाहिल', कहा- माला लेकर हिमालय चले जाएं
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

भदोही : यूपी के भदोही जिले में हो रहे निकाय चुनाव में पार्टी प्रत्याशी के पक्ष में नुक्कड़ सभा करने पहुंचीं आम आदमी पार्टी (आप) की दिल्ली की विधायक अलका लांबा ने सीएम योगी आदित्यनाथ को हिमालय चले जाने की नसीहत दे डाली और जाहिल तक कह दिया।

उन्होंने कहा, "सीएम योगी आदित्यनाथ को गवर्नेंस की जानकारी नहीं है, इसलिए उन्हें माला लेकर हिमालय पर चले जाना चाहिए। जो व्यक्ति गोरखपुर से कई बार सांसद रहा हो और वर्तमान में सूबे का सीएम होने के बावजूद बीआरडी अस्पताल की व्यवस्थाएं ठीक न कर सके और वहां सौ से ज्यादा मासूम बच्चों की मौत हो जाए तो ऐसे सीएम को मैं जाहिल मानती हूं।"

यह भी पढ़ें ... यूथ कांग्रेस ने मोदी पर किया विवादित ट्वीट, आया राजनीतिक तूफान

मीडिया से बातचीत के दौरान बीजेपी पर हमलावर हुईं अलका ने बिहार प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष नित्यानंद राय के विवादित बयान देने और उस पर सफाई पेश करने पर कहा कि प्रदेश अध्यक्ष ने थूककर चाटने वाला काम किया है।

नित्यानंद राय ने एक जनसभा में कहा था, "जो मोदी की ओर उंगली उठाएगा, उसकी उंगली काट ली जाएगी और हाथ तोड़ दिया जाएगा।" उनका यह बायान मीडिया में बार-बार दिखाए जाने के बाद उन्होंने सफाई दी कि उनके कहने का आशय किसी की भावना को ठेस पहुंचाना नहीं था, अगर किसी को इससे ठेस पहुंची है तो वह क्षमा मांगते हैं।

यह भी पढ़ें ... जानें क्यों कहा अल्का लांबा ने, सोनिया गांधी जैसी हो सास और अमित शाह जैसा पिता

देश में 'पद्मावती' फिल्म पर छिड़े विवाद पर अलका लांबा ने कहा कि मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के बीच 'राष्ट्रमाता' शब्द को लेकर ठन गई है। शिवराज जहां पद्मावती को राष्ट्रमाता बता रहे हैं, वहीं योगी आदित्यनाथ गौमाता को राष्ट्रमाता घोषित कराने पर तुले हैं।

उन्होंने कहा, "हमारी पार्टी को इस फिल्म से कोई मतलब नहीं है। इस फिल्म पर सेंसर बोर्ड को फैसला लेना है। फिल्म को कला की दृष्टि से देखा जाना चाहिए। हंगामा करवाकर इसका राजनीतिक लाभ उठाने की कला सिर्फ बीजेपी को आती है।"

--आईएएनएस

tiwarishalini

tiwarishalini

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story