Top

सपा ने भाजपा के सामने आत्मसमर्पण कर दिया, BJP की पोल हम खोलेंगे

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 5 Aug 2017 3:55 PM GMT

सपा ने भाजपा के सामने आत्मसमर्पण कर दिया, BJP की पोल हम खोलेंगे
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गाजीपुर : बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती 18 सितंबर से मंडलवार कार्यकर्ता सम्मेलन कर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार की पोल खोलेंगी।

बसपा के वरिष्ठ नेता व पूर्व सांसद अफजाल अंसारी ने कहा कि देश-प्रदेश में हिंदू-मुसलमान को बांटकर राजनीति करने वालों की पोल खोली जाएगी। उन्होंने दावा किया है कि उप्र में सांप्रदायिक ताकतों से बसपा ही लड़ेगी।

अंसारी ने कहा, "बसपा बहन मायावती के नेतृत्व में एक बार फिर खड़ी हो रही है। पुराने कामचोर, अवसरवादी नेताओं को बाहर का रास्ता दिखाया जा रहा है। युवाओं को आगे बढ़ने का अवसर प्रदान किए जा रहे हैं।"

ये भी देखें:राममंदिर विवाद पर सात साल बाद 11 से होगी सुनवाई , तीन जज शामिल

उन्होंने कहा कि बैकवर्ड, अल्पसंख्यक और ब्राह्मण समाज सहित सर्वसमाज को बसपा में समाहित कर एक बार फिर बसपा को बुलंदी पर लाने का प्रयास हो रहा है।

समाजवादी पार्टी की बात करते हुए उन्होंने कहा, "सपा बड़ी पार्टी है, लेकिन उसका नेतृत्व छोटा है, जिसकी वजह से पार्टी में उथल-पुथल मचा हुआ है। अधिकांश वरिष्ठ नेता सपा के राष्ट्रीय नेतृत्व पर विश्वास नहीं करते हैं। वह समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव में अपना आस्था और विश्वास रखते हैं।"

अंसारी ने कहा, "सपा का राष्ट्रीय नेतृत्व जिस तरह से मुलायम सिंह और शिवपाल यादव को महत्वहीन कर समाप्त करने का प्रयास कर रहा है, उससे दुखी होकर सपा के बड़े नेता दूसरे दलों की तरफ पलायन कर रहे हैं। सपा अध्यक्ष का सीधा टारगेट मुलायम सिंह और शिवपाल यादव हैं। वह इन दोनों नेताओं को हर हाल में राजनीतिक क्षितिज पर मिटाना चाहते हैं।"

उन्होंने कहा, "सपा ने भाजपा के सामने आत्मसमर्पण कर दिया है। समाजवादी पार्टी घर के दंगल में ही व्यस्त है। उसे प्रदेश की जनता के दुख-दर्द से कुछ लेना-देना नहीं है।"

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story