Top

शिवपाल के आने पर मुस्कुराए अखिलेश, सभा में गूंजे हंसी के ठहाके

सपा मुखिया अखिलेश यादव सोमवार को राजधानी स्थित पार्टी मुख्यालय पर छात्र सभा के विजयी छात्र संघ पदाधिकारियों को बधाई दे रहे थे। इसी दरम्यान एक विजयी पदाधिकारी द्वारा शिवपाल सिंह यादव का भी नाम लिया गया। यह सुनते ही अखिलेश के चेहरे पर मुस्कुराहट तैर गई।

Anoop Ojha

Anoop OjhaBy Anoop Ojha

Published on 21 Jan 2019 9:01 AM GMT

शिवपाल के आने पर मुस्कुराए अखिलेश, सभा में गूंजे हंसी के ठहाके
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: सपा मुखिया अखिलेश यादव सोमवार को राजधानी स्थित पार्टी मुख्यालय पर छात्र सभा के विजयी छात्र संघ पदाधिकारियों को बधाई दे रहे थे। इसी दरम्यान एक विजयी पदाधिकारी द्वारा शिवपाल सिंह यादव का भी नाम लिया गया। यह सुनते ही अखिलेश के चेहरे पर मुस्कुराहट तैर गई। सभा में हंसी के ठहाके गूंज गए। छात्र सभा के दिग्विजय सिंह देव मंच से पदाधिकारियों के नाम की घोषणा कर रहे थे। इस मौके पर पिछड़ा समाज स्वाभिमान पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बीके सिंह यादव ने अपनी पार्टी की सपा में विलय की भी घोषणा की।

यह भी पढ़ें.....लखनऊ में मायावती के बाद अखिलेश यादव से मिले तेजस्वी यादव

जब छोटे कद के पदाधिकारी मिथिलेश कुमार यादव अखिलेश के पास पहुंचे तो उन्होंने उनसे पूछा कि तुम्हारी उम्र क्या है। मिथिलेश ने अपनी उम्र 19 वर्ष बताई। अखिलेश ने कहा कि इस पर किसी को विश्वास नहीं होगा। खासकर यह सरकार तो विश्वास नहीं करेगी। उन्होंने छात्र संघ चुनावों में विजयी पदाधिकारियों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि पहले लोग कहते थे कि समाजवादी पार्टी, नेता बनाने का कारखाना है। आज हम उसी को आगे बढ़ा रहे हैं। युवाओं की सबसे ज्यादा भागीदारी सपा में है।

यह भी पढ़ें.....लखनऊ में मायावती के बाद अखिलेश यादव से मिले तेजस्वी यादव

हिंदी संस्थान के पूर्व अध्यक्ष उदय प्रताप सिंह ने एक कविता सुनाते हुए कहा कि जो राम सर्वज्ञ हैं। वह राम अयोध्या के प्रकरण से छोटे हो रहे हैं। राम जन्म भूमि को संभाल लेंगे। आप मातृभूमि संभालिए। भाजपा पर हमला करते हुए उन्होंने कहा कि पहले कहते थे कि मंदिर बनाएंगे। अब कह रहे हैं कि 2025 तक बनेगा। जबकि सपा जो कहती है, वह करती है। जब एक बड़ी जनसंख्या 30 से 40 रूपये प्रतिदिन पर अपना गुजारा कर रही है। तब आप 10 फीसदी आरक्षण का झुनझुना थमा रहे हैं। यही करना है तो जिसकी जितनी संख्या भारी उसकी उतनी भागीदारी हो। जाति और पेशे के आधार पर सर्वे कराया जाए।

Anoop Ojha

Anoop Ojha

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story