Top

गांधी जयंती पर भाजपा को सत्य बोलने का साहस दिखाना चाहिए: अखिलेश

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर भाजपा ने बापू का नाम जपते हुए उन गांधी जी की प्रतिमाओं पर माल्यार्पण किया जिन्हें उसके नेता ही राष्ट्रपिता मानने से इंकार कर चुके हैं।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 3 Oct 2019 4:23 PM GMT

गांधी जयंती पर भाजपा को सत्य बोलने का साहस दिखाना चाहिए: अखिलेश
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर भाजपा ने बापू का नाम जपते हुए उन गांधी जी की प्रतिमाओं पर माल्यार्पण किया जिन्हें उसके नेता ही राष्ट्रपिता मानने से इंकार कर चुके हैं।

भाजपा को गांधी जी के जन्मदिवस पर सत्य बोलने का साहस दिखाना चाहिए। सपा मुखिया ने चुनौती देते हुए कहा कि भाजपा सरकार अगर ईमानदार है तो स्वीकार करें कि यूपी में जो भी विकास कार्य हुए हैं उन्हें सपा सरकार ने ही किया था और भाजपा भविष्य में उन पर अपना दावा नहीं ठोंकेगी।

सपा अध्यक्ष ने गुरुवार को कहा कि भाजपा सरकार ने घिसटते-घिसटते अपना आधा कार्यकाल पूरा कर लिया है। ये बात अलग है कि इस बीच एक काम भी नहीं हुआ है। अब तक समाजवादी पार्टी के कामों पर ही अपना नाम लगाने के अलावा भाजपा सरकार की अपनी एक भी योजना सामने नहीं आई है।

अखिलेश ने कहा कि भाजपा सरकार को तमाम मुद्दों पर श्वेत पत्र जारी करना चाहिए कि उत्तर प्रदेश दूसरे राज्यों की तुलना में कहां खड़ा है? भारत की स्थिति विश्वस्तर पर किस पायदान पर है? गरीबी उन्मूलन के लिए क्या किया गया है? बेकारी कितनी कम हुई है? कृषि और किसानों की स्थिति में कितना सुधार हुआ है? लोकतंत्र में जनता को इसे जानने का हक है।

सपा मुखिया ने गुरुवार को सवाल किया कि विधानमण्डल का 36 घंटे तक सत्र चलाने का क्या औचित्य और उपलब्धि है? उन्होंने कहा कि भाजपा ने गांधी जयंती पर स्वच्छता अभियान पर यूपी को ‘खुले में शौच‘ मुक्त करने का दावा किया है। उन्होंने कहा कि शहर या गांव को खुले में शौच मुक्त घोषित करने का घोटाला ही देशव्यापी झूठ है, जो बोला जा रहा है और कागजों में दिखाया जा रहा है।

अखिलेश ने कहा कि कांग्रेस ने एक गड्ढे का तो भाजपा ने दो गड्ढे का शौचालय बना कर ही अपना ढिंढोरा पीटना शुरू कर दिया है। जब हर गांव में पेयजल तक उपलब्ध नहीं है तो भला शौचालय के लिए पानी कहां से आएगा?

सपा मुखिया ने कहा कि यूपी के कई जिलों में बाढ़ का कहर है और सरकारी राहत कार्यों का अता-पता नहीं है। बाढ़ के पानी के उतरते ही संक्रामक रोग फैलते हैं लेकिन अस्पतालों में न डाक्टर हैं और न दवाएं हैं। भाजपा सरकार पूर्वांचल में जापानी बुखार, डेंगू बुखार, फाइलेरिया, मलेरिया जैसी बीमारियों से प्रदेश को मुक्त करने के दावे कर रही है जबकि अस्पतालों में इन बीमारियों से ग्रस्त लोगों की भीड़ कम नहीं हो रही है।

स्वच्छ भारत अभियान पूरी तरह फ्लाप है। गन्ना किसानों का बकाया अभी तक भुगतान नहीं हुआ है। शिक्षा के क्षेत्र में उत्तर प्रदेश की कहीं गिनती नहीं हो रही है। महिलाओं की स्थिति में सरकार बताए कितना सुधार हुआ है? असत्य फैलाने में लगे भाजपाइयों के मुंह से बापू के आदर्शों की चर्चा बेमानी है।

सपा मुखिया ने कहा कि मुख्यमंत्री, पता नहीं कैसे और किस आधार पर दावा करते हैं कि मातृ-शिशु में कुपोषण और मृत्युदर पर नियंत्रण हो गया है और आयुष्मान योजना का लाभ गरीबों को मिल रहा है। जबकि बच्चों को बैग, जूते-मोजे और स्वेटर देने का प्राविधान सपा सरकार ने किया था। मिड-डे-मील में फल और दूध भी दिया जाना था लेकिन भाजपा ने सब पर विराम लगा दिया।

अखिलेश ने कहा कि भाजपा ने वैचारिक प्रदूषण इस हद तक फैला दिया है कि पर्यावरण का संकट उपस्थित हो गया है। लोकतंत्र में इतना बड़ा धोखा भाजपा ने किया है कि कोई विकास तो हुआ ही नहीं। कानून व्यवस्था का संकट उत्पन्न हो गया है।

ये भी पढ़ें....अखिलेश यादव ने स्वास्थ्य सेवाओं पर ऐसी बात कह सबको चौंका दिया

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story