×

आसान नहीं है महागठबंधन की राह, अखिलेश के इस तेवर से हुआ साफ

Shivakant Shukla

Shivakant ShuklaBy Shivakant Shukla

Published on 19 Nov 2018 6:01 AM GMT

आसान नहीं है महागठबंधन की राह, अखिलेश के इस तेवर से हुआ साफ
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ: आगामी लोकसभा चुनाव से पहले समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव का छत्तीसगढ़ में कांग्रेस विरोधी रुख अख्तियार करने के बाद यूपी में भी महागठबंधन होने के आसार बहुत कम दिखाई दे रहे हैं।

बता दें कि इससे पहले बसपा सुप्रीमो मायावती पहले ही कांग्रेस के खिलाफ अपनी तल्खी जाहिर कर संकेत दे चुकी हैं कि वह उससे दूरी ही बनाए रखेंगी। ऐसे में अभी तक के क्रियाकलापों के मुताबिक यूपी में भाजपा के खिलाफ गठबंधन में कांग्रेस को लिया जाना खासा मुश्किल ही दिख रहा है। लेकिन राजनीति है इसमें सब कुछ संभव है कुछ भी नहीं कहा जा सकता है।

ये भी पढ़ें— मराठों के लिए खुशखबरी: आरक्षण को मिली फडणवीस कैबिनेट की मंजूरी

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने रविवार को छत्तीसगढ़ में कहा कि कांग्रेस और भाजपा ने साथ मिलकर देश को पीछे ले जाने का काम किया है। देश के बैंकों का पैसा उद्योग पतियों को कांग्रेस और भाजपा ने दिया। राफेल जहाज में पहले कांग्रेस ने खेल किया अब भाजपा कर रही है।

अखिलेश की कांग्रेस को चेतावनी

इससे पहले अखिलेश यादव ने कांग्रेस को चेतावनी दी कि अगर 'साइकिल' को रोकोगे तो हम उसके हैंडल से 'हाथ' को हटा देंगे। इससे पहले उन्होंने एक जनसभा में कहा था कि कांग्रेस व भाजपा एक ही राह पर हैं। भाजपा और कांग्रेस के नेता सब एक दूसरे से मिले हुए हैं। गरीब, किसान व नौजवानों की किस्मत बनाने में उनकी कोई रुचि नहीं है।

ये भी पढ़ें— अमृतसर के निरंकारी भवन पर ग्रेनेड अटैक को लेकर चश्मदीदों ने बताई खौफनाक कहानी

बसपा और सपा कर सकते हैं गठबंधन

गौरतलब है कि बसपा सुप्रीमो मायावती पहले से ही कांग्रेस को निशाने पर लिये हुए हैं। यूपी में सपा हर हाल में बसपा से तालमेल कर लोकसभा चुनाव लड़ना चाहती है ताकि गठबंधन के जरिए भाजपा को रोका जा सके। इसके लिए अखिलेश यादव कई बार सीटों को लेकर भी नर्म रुख अपनाए हुए हैं। ऐसे में यह स्वाभाविक भी है कि सपा बसपा की राह पर चलते हुए कांग्रेस को निशाने पर रखे।

बसपा का कांग्रेस से नहीं होगा गठबंधन

अखिलेश के ताजा रुख से साफ है कि 2019 में कांग्रेस के साथ गठबंधन की राह अब मुश्किल हो रही है। छत्तीसगढ़, राजस्थान व मध्यप्रदेश में बसपा व सपा इन दोनों को कांग्रेस ने ज्यादा अहमियत नहीं दी। मायावती ने तो गठबंधन में सम्मानजनक सीटें न दिये जाने से नाराज होकर ऐलान कर दिया कि कांग्रेस के साथ गठबंधन नहीं होगा।

ये भी पढ़ें— देश की पहली महिला PM इंदिरा गांधी की 101वीं जयंती आज, यहां जानें रोचक बातें

Shivakant Shukla

Shivakant Shukla

Next Story