यहां अमित शाह को दिखाए गये काले झंडे, राहुल गांधी के लिए कही थी ऐसी बात

बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह शनिवार को कर्नाटक के हुबली में रैली को सम्बोधित करने पहुंचे। यहां पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उन्हें काले झंडे दिखाए। इससे पहले अमित शाह ने नागरिकता संशोधन कानून(CAA)को लेकर कांग्रेस पार्टी पर निशाना साधा।

Published by Aditya Mishra Published: January 18, 2020 | 7:04 pm
Modified: January 18, 2020 | 7:05 pm

हुबली: बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह शनिवार को कर्नाटक के हुबली में रैली को सम्बोधित करने पहुंचे। यहां पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उन्हें काले झंडे दिखाए। इससे पहले अमित शाह ने नागरिकता संशोधन कानून(CAA)को लेकर कांग्रेस पार्टी पर निशाना साधा। इस दौरान सीएम बीएस येदियुरप्पा भी मौजूद रहे।

अमित शाह ने कहा कि राहुल गांधी भी कहते हैं कि 370 नहीं हटना चाहिए, इमरान खान भी कहते हैं नहीं हटना चाहिए। दोनों कहते हैं कि सीएए नहीं आना चाहिए। मुझे समझ नहीं आता कि कांग्रेस और पाकिस्तान के बीच रिश्ता क्या है। राहुल बाबा के नाना जी जो गलती करके गए थे नरेंद्र मोदी ने कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाकर उसे सुधारने के काम किया है।

ये भी पढ़ें…अमित शाह बोले- भारत पर पाकिस्तान से आए हिंदू, सिख, बौद्ध और ईसाई शरणार्थी का भी अधिकार

भारत आने वाले शरणार्थियों में 70 फीसदी दलित-शाह

अमित शाह ने कहा कि भारत आने वाले शरणार्थियों में 70 फीसदी दलित हैं जो लोग CAA का विरोध कर रहे हैं वो दलित विरोधी है। पाकिस्तान (पूर्वी और पश्चिमी) में 30 फीसदी हिंदू थे।

आज पाकिस्तान में तीन फीसदी और बांग्लादेश में उनकी संख्या घटकर 3 फीसदी पहुंच चुकी है। मैं प्रदर्शनकारियों से पूछना चाहता हूं कि पाकिस्तान में अल्पसंख्यक कहां गए. किसी के पास इसका जवाब है।

पाकिस्तान में हिंदुओं के साथ अत्याचार हुआ-शाह

अमित शाह ने कहा कि पाकिस्तान में हिंदुओं के साथ अत्याचार हुआ। पाकिस्तान में हिन्दुओं की आबादी 30 फीसदी से घटकर तीन प्रतिशत हो गई है। मैं हुबली की जनता को बताना चाहता हूं कि उन लोगों को मार दिया गया, उनका धर्म परिवर्तन कर दिया गया। पाकिस्तान में मंदिर, चर्च और गुरुद्वारे तोड़ दिया गया।

विपक्ष को CAA से क्या दिक्कत हैं-जेपी नड्डा

बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि मैं विपक्षी दलों से पूछता हूं कि सीएए में क्या समस्या है? मैं राहुल गांधी से सीएए पर 10 लाइनें बोलने के लिए कहता हूं। यह कांग्रेस का दुर्भाग्य है कि उसके नेतृत्व में सामान्य सोच समझ की कमी है। उन्हें सीएए के बारे में कुछ नहीं पता है। वे देश को गुमराह कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें…अमित शाह बोले- अल्पसंख्यक भाई-बहन CAA को पढ़ें, नागरिकता छीनने का नहीं है कोई प्रावधान

आदिशंकराचार्य ने हिंदुओं और बौद्धों के बीच लड़ाई खत्म की: अमित शाह

बेंगलुरु में एक कार्यक्रम में गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि आदिशंकराचार्य ने धर्म को एकजुट कर दिया। आदिशंकराचार्य ने बौद्ध और हिंदुओं के बीच जारी लड़ाई खत्म की।

इससे पहले की सरकार ने धर्म की गलत व्याख्या की। बहुत वर्षों बाद प्रधानमंत्री पहले गंगा आरती में भाग लिए, फिर शपथग्रहण में शामिल हुए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विश्वस्तर पर भारतीय संस्कृति को आगे बढ़ाने का काम किया। वह हमारे ध्वजवाहक हैं। शाह ने बेंगलुरु में पीजवारा मठ का दौरा भी किया।

ये भी पढ़ें…अमित शाह बोले- नागरिकता जाने का डर दिखाकर देश के अल्पसंख्यकों को उकसाया जा रहा