Top

सोनिया गांधी के गढ़ रायबरेली में अरुण जेटली खोलेंगे पोटली

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 8 Oct 2018 2:59 PM GMT

सोनिया गांधी के गढ़ रायबरेली में अरुण जेटली खोलेंगे पोटली
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

रायबरेली: चुनाव आयोग ने भले ही पाँच राज्यो के चुनाव की तारीखों का एलान करके पार्टियों को चुनावी मोड में ला दिया हो लेकिन केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली के एक फैसले से कांग्रेस के गढ़ रायबरेली की सियासी पारा चढ़ा दिया है। अभी तक अमेठी में केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी से घिरी कांग्रेस अब रायबरेली में केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली से घिर गई हैं। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने अपनी सांसद निधि को रायबरेली में खर्च करने के एलान के बाद कांग्रेस के खेमे में अफरातफरी मची है। केंद्रीय वित्त मंत्री के इस फ़ैसले से बीजेपी कार्यकर्ताओं में जोश है वही कांग्रेस नेता भी इस फैसले को राजनीतिक रूप से देख रहे है।

विकास को लेकर छिड़ी जंग

वित्त मंत्री अरुण जेटली के सांसद निधि को रायबरेली में खर्च करने के एलान के बाद कांग्रेस के शहर अध्यक्ष सईदुल हसन का कहना है कि रायबरेली का विकास कांग्रेस द्वारा किया गया है। रायबरेली में आज विश्वस्तरीय शिक्षण संस्थान है, रेलकोच फ़ैक्ट्री सोनिया गांधी ने लगवाई जिससे रोजगार बढ़ा। केंद्र में साढ़े चार साल से बीजेपी की सरकार है जेटली जी को अब रायबरेली की याद आई है। चार साल तक यहाँ के एम्स को चलाने के लिए संघर्ष करना पड़ा, तब कोई बीजेपी का नेता सामने नही आया। रायबरेली का विकास सिर्फ कांग्रेस ने किया है।

केंद्रीय वित्त मंत्री द्वारा रायबरेली में अपनी सांसद निधि के लिए बजट दिए जाने के बाद बीजेपी नेता उत्साह से भरे हुए है। उनका कहना है कि रायबरेली से कांग्रेस के बड़े नेताओं ने केवल सत्ता का इस्तेमाल किया है। आज भी यहाँ पर मूलभूत सुविधाओं का अभाव है। वित्त मंत्री की सांसद निधि से मूलभूत सुविधाओं का विस्तार किया जाएगा।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story