Top

ओवैसी बोले- यादवों ने किया यूपी का सत्यानाश, जिंदा होते लोहिया तो अखिलेश को धिक्कारते

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 22 Feb 2017 11:31 AM GMT

ओवैसी बोले- यादवों ने किया यूपी का सत्यानाश, जिंदा होते लोहिया तो अखिलेश को धिक्कारते
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बहराइच: ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने 22 फरवरी को बहराइच में समाजवादी पार्टी पर फिर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि अखिलेश लखनऊ के नए नवाब हैं, जो चमचों और राग दरबारियों से वाहवाही सुनकर खुश होते हैं। उनका काम नहीं कारनामा बोलता है। ओवैसी ने प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को बड़े मियां-छोटे मियां की जोड़ी करार दिया। ओवैसी मटेरा सीट से पार्टी प्रत्याशी अकीलउल्ला के समर्थन में जनसभा करने आए थे।

यह भी पढ़ें...ओवैसी ने कहा- अखिलेश यादव सॉफ्ट हिंदुत्ववादी, अपने मुंह से नहीं बोलते मुसलमान शब्द

मोदी पर भी बोला हमला

ओवैसी ने कहा कि गोधरा कांड के लिए पीएम मोदी को कभी माफ नहीं कर सकते तो मुजफ्फरनगर दंगो के लिए अखिलेश को कैसे माफ किया जा सकता है। यादव परिवार ने पांच साल में यूपी को बर्बाद कर दिया।

यह भी पढ़ें...ओवैसी बोले- बाप-बेटे ने दिया मुस्लिमों को धोखा, ‘काम बोलता है’ सिर्फ कोरी बकवास

और क्या बोले ओवैसी ?

-सपा सरकार में चार सौ दंगे हुए, लेकिन अखिलेश चुप रहे। महिलाओं की इज्जत लूटी गई।

-युवाओं को नौकरी नहीं मिली। फिर भी कहते है कि विकास हुआ है। काम बोलता है।

-विकास सिर्फ इनके विधायकों का हुआ है। इनका काम नही कारनामा बोलता है।

-नेताजी के यादव परिवार में आज 22 लोग सियासत में है, सरकार बन गई तो 150 लोग होंगे।

-यादव परिवार ने यूपी का सत्यानाश किया है। लोहिया आज जिंदा होते तो अखिलेश को धिक्कारते।

-विकास की बात पर मैं अखिलेश से उनके घर बैठकर बहस करने को तैयार हूं, क्योंकि मैं उनके बाप से भी नहीं डरता।

-इटावा में गुजरात के शेर मर गए तो लंदन से डॉक्टर और बिसलेरी का पानी मंगाया।

-वहीं, देहातों में इंसान मर रहे, अखिलेश चुप हैं। लोकसभा चुनाव में मुलायम, मायावती, अखिलेश, मोदी की गोद में बैठ गये।

-मोदी और अखिलेश रमजान, दीवाली, श्मशान और कब्रिस्तान की बात मत करो, हम इफ्तार पार्टियों से ऊब चुके हैं।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story