×

Ayodhya Political news: अब बसपा को भी रास आने लगी अयोध्या, यहीं से शुरू होगा ब्राह्मण सम्मलेन

Ayodhya Political news: आज ब्राह्मण समाज के नाम पर सम्मेलन कर चुनावी शंखनाद पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा करेंगे।

NathBux Singh

NathBux SinghWritten By NathBux SinghPallavi SrivastavaPublished By Pallavi Srivastava

Published on 23 July 2021 5:13 AM GMT

BSP Conference
X

अयोध्या राम नगरी (फोटो-सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Ayodhya Political news: अयोध्या हमेशा से ही चुनावी रणनीती का हिस्सा रहा है। इसी को देखते हुए बहुजन समाज पार्टी ने आगामी विधानसभा चुनाव का शंखनाद अयोध्या से करने की तैयारी में है। बसपा आज ब्राह्मण सम्मेलन कर ब्राह्मणों को रिझाने के प्रयास में है।

अयोध्या राम नगरी में एक बार फिर राजनैतिक सरगर्मी तेज हो गई है। बहुजन समाज पार्टी अयोध्या से ही आगामी विधानसभा चुनाव का शंखनाद करने की तैयारी में है। आज ब्राह्मण समाज के नाम पर सम्मेलन कर चुनावी शंखनाद पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा करेंगे।

प्रभु राम लला का आशीर्वाद लेंगे सतीश चंद्र मिश्रा (File Photo) pic(social media)

जिसके लिए पिछले कई दिनों से तैयारियां चल रही हैं। पार्टी से जुड़े ब्राह्मण नेता कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए क्षेत्र में जनसंपर्क कर लोगों को सम्मेलन में भाग लेने का अनुरोध कर रहे हैं। बसपा कभी अयोध्या जैसे धार्मिक स्थल को महत्त्व नहीं देती थी लेकिन इस बार उसने अयोध्या जैसे धार्मिक राम नगरी को अपना राजनैतिक किला बनाने का प्रयास शुरू कर दिया है।

अयोध्या के बाईपास पर स्थित ताराजी रिजॉर्ट होटल परिसर में आज 11:00 बजे सम्मेलन प्रारंभ होगा जिसके लिए पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव एवं राज्यसभा सांसद सतीश चंद्र मिश्रा के स्वागत की भी तैयारियां की जा रही हैं।

ब्राह्मण समाज सम्मेलन को प्रशासन की अनुमति

बसपा ब्राह्मण सम्मेलन की जिला प्रशासन ने अनुमति दे दी है। वहीं कोविड प्रोटोकॉल के तहत केवल 50 लोगों को शामिल करने की ही अनुमति सशर्त मिली है। साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के निर्देश दिये गये हैं। कल 23 जुलाई को तारा जी रिजॉर्ट में है बसपा का ब्राह्मण सम्मेलन।

बसपा ने ब्राह्मण सम्मेलन के मोटो में किया परिवर्तन किया है। अब प्रबुद्ध समाज के सम्मान सुरक्षा व तरक्की पर संगोष्ठी करेंगे। कल शाम को बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा अयोध्या धाम में सरयू आरती भी करेंगे।


ब्राह्मणों को जोड़ने का सिलसिला शुरू

गौरतलब है कि 2007 साथ में सत्ता के सिंहासन पर पहुंचने के लिए पार्टी की प्रमुख सुश्री मायावती ने दलित व ब्राह्मण का गठजोड़ कर सत्ता हासिल किया था। उसी गठजोड़ को फिर एक बार 2022 के चुनाव में बसपा दोहराने के मूड में दिखाई पड़ रही है। जिस कड़ी में उसने अयोध्या से बहुजन समाज पार्टी में ब्राह्मणों को जोड़ने का सिलसिला शुरू कर दिया है बसपा के लोगों का कहना है भारतीय जनता पार्टी की सरकार में ब्राह्मणों की उपेक्षा हो रही है बसपा में सरकार में ब्राह्मणों का अस्तित्व सुरक्षित रह सकता है।

2022 में सरकार बनाने का प्रयास

पार्टी महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा अयोध्या पहुंचकर श्री राम जन्मभूमि पर प्रभु राम राम लला व हनुमानगढ़ी पर बजरंगबली का दर्शन कर आशीर्वाद प्राप्त करेंगे। कार्यक्रम आयोजकों ने सम्मेलन के बदले प्रबुद्ध वर्ग गोष्टी का स्वरूप दे दिया है।

इस गोष्टी के माध्यम से ब्राह्मण समाज के लोग अपने मान सम्मान सुरक्षा और तरक्की के लिए बसपा से जुड़कर 2022 में सरकार बनाने का प्रयास अयोध्या जैसी राम नगरी से शुरू करने की मुहिम चल पड़ी है। वहीं भारतीय जनता पार्टी पहले से ही अयोध्या के सियासत से सत्ता के शिखर तक पहुंचने वाली फिर एक बार राम मंदिर निर्माण को लेकर पूरी सियासत करने के मूड में दिखाई पड़ रही है।

Pallavi Srivastava

Pallavi Srivastava

Next Story