Top

आजम बोले-जितना सितम कर सकते हो कर लो, सरकार बना लो

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 10 Jan 2018 5:15 PM GMT

आजम बोले-जितना सितम कर सकते हो कर लो, सरकार बना लो
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

रामपुर : महामण्डलेश्वर आनन्द गिरी महाराज द्वारा मुस्लिमों को आतंक का पर्याय और इनके मदरसों, दर्सगाह और स्कूलों की जांच करने की बात पर अपनी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए सपा के कदावर नेता और पूर्व मंत्री आजम खां ने कहा कि इसमें आधारभूत समस्या मुस्लिम वोट है। मुसलमान सेक्यूलर हिन्दुस्तान को सेक्यूलर शक्ल देना चाहते हैं और साम्प्रदायिक ताकतों के साथ नहीं जाते इसलिए मुसलमानों से नाराजगी है।

ये भी देखें : मुस्लिमों के लिए इससे बुरी बात आज तक किसी ने नहीं बोली होगी

आजम खां ने कहा कि वह लगातार मुस्लिमों का वोट खत्म करने की बात कह रहे हैं। जिस दिन मुस्लिमों का वोट खत्म हो गया सरकारों को खतरा भी खत्म हो जाएगा। हमारा सुझाव मानने पर भाजपा का भला और हमारी जान बच जाएगी। हमें खाने को रोटी मिल जायेगी और हमारे स्कूल, मदरसे, दर्सगाह बच जायेंगे। जितना मुसलमानों के साथ जुल्म करोगे उतना दूसरे लोग खुश होंगे। यह मोदी जी के पास मंत्र आ गया है और किसी बात से उन्हें कोई सरोकार नहीं रह गया।

पूर्व मंत्री ने कहा सरकार को रिजर्व बैंक से 50 हजार करोड़ या 50 लाख करोड़ कर्जा लेना पड़ा है। उन्हें किसी बात से कोई मतलब नहीं रह गया है। उनके कई वायदे कर्ज हैं। अगला चुनाव लड़ने से पहले युवाओं को कर्ज देना है। जांचें तो चलती हैं। खुद की कितनी जांचे चलने की बात कहते हुए कहा कि और जांचें करा लो। जितना सितम कर सकते हो कर लो। सरकार बना लो।

गोरखपुर मेडिकल काॅलेज को 33 करोड़ का राहत पैकेज देने के सवाल पर आजम खां ने कहा कि गोरखपुर की धार्मिक और ऐतिहासिक हैसियत है। गोरखपुर का सांसद सूबे के बादशाह हैं। पीएम मोदी को बड़े बादशाह करार देते हुए कहा कि बादशाह के जिले में मात्र 33 करोड़ दिया जायेगा तो क्या होगा? 333 करोड़ दिया जाना चाहिए था। मेडिकल काॅलेज में आॅक्सीजन के लिए पैसा नहीं था कितने बच्चे शहीद हो गए। उन्हें मरा हुआ कहा जाता है यह बच्चों की रूहों और उनके मां बाप का अपमान है। कम से कम शहीद का दर्जा देकर उनके परिवारों को मुआवजा ही दे देते।

उन्होंने कहा कि उन्हें पता चला कि बच्चों के कागजात सब नष्ट कर दिए गए। जो बहुत बड़ा शहीदों का अपमान है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story