Top

भोजपुरी सबसे मृदुल भाषा, इसमें अश्लीलता परोसना अनुचित है: रीता बहुगुणा जोशी 

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 14 Oct 2018 12:50 PM GMT

भोजपुरी सबसे मृदुल भाषा, इसमें अश्लीलता परोसना अनुचित है: रीता बहुगुणा जोशी 
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

जौनपुर: भोजपुरी भाषा उत्तर भारत की सबसे लोकप्रिय भाषा है। इस मिट्टी ने तमाम बड़े साहित्यकार, संगीतकार दिये है। अन्य भाषाओ की तुलना में भोजपुरी सबसे मृदुल भाषा है। लेकिन आज कुछ लोग चंद पैसे और सस्ती लोकप्रियता के चलते भोजपुरी फिल्मो और एल्बमो में अश्लीलता परोस रहे है जिसके कारण आज भोजपुरी भाषा बदनाम हो रही है। उक्त उद्गार सूबे की कैबिनेट मंत्री रीता बहुुगुणा जोशी का है।

चंद लोग फैला रहे अश्‍लीलता

पूर्वांचल विकास प्रतिष्ठान द्वारा रविवार को टीडी कालेज के बलरामपुर हाल में अश्लीलता के विरूध जागरूकता विषय पर एक दिवसीय गोष्ठी का आयोजन किया गया। इस गोष्ठी की मुख्य अतिथि सूबे की कैबिनेट मंत्री व जौनपुर की प्रभारी मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि भोजपुरी जैसी पवित्र भाषा में चंद लोगो द्वारा अश्लीलता फैलायी जा रही है उसको रोकने के लिए पूर्वांचल विकास प्रतिष्ठान ने जो कदम उठाया है वह सराहनीय है। आज कुछ लोग हमारी भाषाओं को बिगडने के लिये गलत शब्दो का प्रयोग कर रहे है। यह बहुत ही अनुचित है, हम लोग इसका विरोध करेंगे इसको रोकने की लिये इन लोगो ने जो काम किया है बहुत अच्छा है ऐसे लोगों को हम मंच नही देगे जो हमारी भाषा को बिगाड़ने की कोशिश कर रहे हैं । इसको रोकने की शुरुआत हुई है लोगो का कहना है ना हम इस तरह की भाषा का प्रयोग करेंगे और ना ही इस तरह के लोगो को मंच देगे । हमारे भाषा ने बड़े बड़े संगीतकार दिए हैं और इस भाषा में न जाने कितना नाटक लिखे गए हैं , हर हिंदी भाषी या अन्य भाषा के लोग हैं. उन्होंने भी इसको स्वीकार किया है, जो श्रम शील हैं पूर्वांचल के जिन्होंने हर विधा के लिए वह हमारे त्योहार और कुछ भी हो खेतों में काम करने करते हुए लोगों या देवी की उपासना हो तमाम सुंदर गीत लिखे हैं । हमारी सरकार अपनी भाषा अपनी संस्कृति को संजोने के लिए संकल्पित है, इनका प्रतिनिधि मंडल मुख्यमंत्री जी से मिलने वाला है इनका जो भी सुझाव होगा वो सर्वमान्य होगा।

गोष्ठी को महाराष्ट्र के पूर्व मंत्री कृपाशंकर सिंह, सांसद जौनपुर कृष्ण प्रताप सिंह, बदलापुर के विधायक रमेश मिश्रा, मड़ियाहूं विधायक डा0 लीना तिवारी और डीएम अरविन्द मलप्पा बंगारी ने सम्बोधित किया। कार्यक्रम के संयोजक बरिष्ठ पत्रकार ओमप्रकाश ने अभियान की रूप रेखा प्रस्तुत किया तथा अतिथियो स्वागत व धन्यवाद कार्यक्रम आयोजक व जौनपुर पत्रकार संघ के अध्यक्ष ओमप्रकाश सिंह ने ज्ञापित किया। कार्यक्रम का संचालन बीएचयू के प्रो0 डा0 आर एन त्रिपाठी ने किया।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story