Top

भाजपा प्रत्याशियों को नवरात्र का इंतजार, आखिर क्या है खास?

हाल यह है कि अब तक प्रत्याशियों के नामों की घोषणा न हो पाने के कारण इन सीटों के दावेदार परेशान है। हांलाकि उन्हे पार्टी नेताओं से टिकट का आश्वासन मिल चुका है परन्तु जब हाईकमान से पूरी तरह से हरी झण्डी न मिल जाए। इसे लेकर कश्मशाहट का दौर चल रहा है।

Manali Rastogi

Manali RastogiBy Manali Rastogi

Published on 28 Sep 2019 8:32 AM GMT

भाजपा प्रत्याशियों को नवरात्र का इंतजार, आखिर क्या है खास?
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

श्रीधर अग्निहोत्री श्रीधर अग्निहोत्री

लखनऊ: आगामी 21 अक्टूबर को प्रदेश की 11 सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए भाजपा नवरात्र शुरू होने का इंतजार कर रही है। संभवतः आज देर रात अथवा कल रविवार को इनके नामों का एलान किया जाएगा। मजेदार बात यह है कि 30 सितम्बर (सोमवार) नामांकन की अंतिम तिथि है।

संभावना है कि रामपुर सीट से लोकसभा का चुनाव हार चुकी अभिनेत्री जयाप्रदा को मो आजम खां की रिक्त हुई रामपुर सदर सीट से प्रत्याशी बना दिया जाए। उपचुनाव के लिए भाजपा के प्रत्याशियों की घोषणा न होने के पीछे सबसे बडा कारण यहां दावेदारों की संख्या रही है।

यह भी पढ़ें: गांधी जयंती से शुरू संकल्प यात्रा पटेल जयंती तक चलेगी

काफी मशक्कता करने के बाद अंतिम तौर पर प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र के लिए तीन तीन प्रत्याशियों के नाम तय किए गए जिसे केन्द्रीय हाईकमान की मुहर लगने का इंतजार है।

उत्तर प्रदेश में रामपुर की रामपुर सदर, के साथ सहारनपुर की गंगोह, अलीगढ़ की इगलास, लखनऊ की लखनऊ कैंट, बाराबंकी की जैदपुर, कानपुर की गोविंदनगर, चित्रकूट की मानिकपुर, बहराइच की बलहा, प्रतापगढ़ की प्रतापगढ़ सदर, हमीरपुर, अंबेडकरनगर की जलालपुर तथा मऊ की घोसी सीटों पर उपचुनाव होना है।

हमीरपुर सीट पर 23 सितम्बर को उपचुनाव

प्रदेश में इस समय विधानसभा की 13 सीटे खाली पडी है जिसमें हमीरपुर सीट पर उपचुनाव 23 सितम्बर को होने जा रहा है। जबकि फिरोजाबाद की टूंडला सीट पर मामला कोर्ट में होने के कारण इस बार मतदान की तिथि घोषित नहीं की गई है। इस तरह 21 अक्टूबर को कुल 11 सीटों पर उपचुनाव होने जा रहा है।

यह भी पढ़ें: पित्र विसर्जन आज: विदा हुए पितर कुछ ऐसा रहा हरिद्वार का नजारा

भाजपा के इतिहास में जब कभी भी कोई बडा फैसला होता है उसके पहले तिथि मुहुर्त आदि का पूरा ध्यान रखा जाता रहा है। चुनाव घोषित होने के समय पितृपक्ष चल रहे थें इस कारण टिकट घोषित नहीं किए जा सके। अब शनिवार से पितृपक्ष खत्म हो रहा है इसलिए आज रात तक अथवा कल सुबह टिकटों की घोषणा कर दी जाएगी।

यह भी पढ़ें: गांधी जयंती से शुरू संकल्प यात्रा पटेल जयंती तक चलेगी

हाल यह है कि अब तक प्रत्याशियों के नामों की घोषणा न हो पाने के कारण इन सीटों के दावेदार परेशान है। हांलाकि उन्हे पार्टी नेताओं से टिकट का आश्वासन मिल चुका है परन्तु जब हाईकमान से पूरी तरह से हरी झण्डी न मिल जाए। इसे लेकर कश्मशाहट का दौर चल रहा है।

Manali Rastogi

Manali Rastogi

Next Story