Top

बीजेपी और कांग्रेस की उड़ जाएगी रातों की नींद, सीएम केजरीवाल ने कही ऐसी बात

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इस बार दिल्ली का चुनाव सरकार के काम पर होगा। इस बार वोट काम के आधार पर होगा। इस बार लोग खुशी से वोट देंगे, पॉजिटिव वोट देंगे। लोग बेहतर सड़कों, स्कूल और अस्पतालों को लेकर वोट करेंगे।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 6 Jan 2020 12:29 PM GMT

बीजेपी और कांग्रेस की उड़ जाएगी रातों की नींद, सीएम केजरीवाल ने कही ऐसी बात
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इस बार दिल्ली का चुनाव सरकार के काम पर होगा। इस बार वोट काम के आधार पर होगा। इस बार लोग खुशी से वोट देंगे, पॉजिटिव वोट देंगे। लोग बेहतर सड़कों, स्कूल और अस्पतालों को लेकर वोट करेंगे।

दिल्ली में मोटे तौर पर भाजपा और आप की सरकार है। भाजपा पर पुलिस-एमसीडी की जिम्मेदारी है तो आप पर शिक्षा सड़क और अस्पताल की जिम्मेदारी है। दिल्ली के लोग शिक्षा, स्वास्थ्य में हमारे काम से खुश हैं।

अरविंद केजरीवाल ने चुनाव तारीख की घोषणा के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने कहा, 'मैं दिल्ली के लोगों से अपील करता हूं कि अगर हमने काम किया तो हमें वोट देना। अगर हमने काम किया है तो हम दोबारा सरकार बनाने के हकदार हैं।

सीएम ने आगे कहा, 'हम बीजेपी वालों से वोट मांगेंगे, हम कांग्रेस के लोगों से वोट मांगेंगे। हम गाली-गलौच की राजनीति नहीं करेंगे। हम काम के आधार पर पॉजिटिव तरीके के वोट मांगेंगे।'

ये भी पढ़ें...बर्थडे स्पेशल: जानिए, सीएम अरविंद केजरीवाल पर कितनी बार हुए हमले

बीजेपी ने बोला हमला

उधर, इससे पहले बीजेपी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की जिसमें जावड़ेकर के साथ मनोज तिवारी भी थे। जावड़ेकर ने कहा, 'दिल्ली की जनता बीजेपी को सत्ता में लाने का मन पूरी तरह से बना चुकी है। दिल्ली में अब ट्रिपल इंजन की सरकार बनेगी। तरक्की में रोड़े लगाने वाले अब समाप्त होंगे और विकास का रास्ता अख्तियार होगा।'

उन्होंने केजरीवाल पर हमला करते हुए कहा, 'केजरीवाल सरकार ने राजनीतिक दुर्भावना की वजह से दिल्ली में मोदी सरकार की योजनाओं को लागू नहीं होने दिया।

इस सरकार ने आयुष्मान भारत योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना सहित कई ऐसी योजनाओं पर रोक लगाई जिसका प्रत्यक्ष लाभ आमजन को मिलता।' बता दें कि दिल्ली की कुल 70 सीटों पर 8 फरवरी 2020 को वोटिंग होगी। 11 फरवरी को रिजल्ट का एलान किया जाएगा।

इस बार दिल्ली में कुल 1,46,92,136 वोटर्स अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे। 13750 पोलिंग स्टेशन बनाए जाएंगे। 2689 जगहों पर वोटिंग होगी। 90 हजार कर्मचारी चुनाव में तैनात किए जाएंगे।

बुजुर्ग भी पोस्टल बैलेट से वोट दे पाएंगे। उन्हें पांच दिन पहले ही पर्चा भरना पड़ेगा। चुनाव आयोग की तरफ से चुनाव की तारीखों के एलान के साथ ही दिल्ली में आचार संहिता लागू हो गई है. अब सरकार किसी भी योजना का एलान नहीं कर पाएगी।

दिल्ली विधानसभा का मौजूदा कार्यकाल 22 फरवरी को खत्म हो रहा है। 14 जनवरी को दिल्ली विधानसभा चुनाव का नोटिफिकेशन जारी किया जाएगा। 21 जनवरी को नामांकन की आखिरी तारीख होगी। नामांकन की स्क्रूटनी की आखिरी तारीख 22 जनवरी होगी। नाम वापस लेने की आखिरी तारीख 24 जनवरी है।

ये भी पढ़ें...दिल्ली के लोगों के लिए सीएम अरविंद केजरीवाल ने किया ये बड़ा ऐलान

2015 विधानसभा चुनाव के नतीजे

साल 2015 में हुए विधानसभा चुनाव में अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी। आम आदमी पार्टी ने 67 सीटों पर चुनाव जीत दर्ज की थी। तीन सीटें बीजेपी के खाते में गई थी. कांग्रेस के हाथ खाली रहे थे. दिल्ली में विधआसभा की कुल 70 सीटें हैं।

2015 में किसको कितने वोट शेयर

साल 2015 में हुए विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी ने 70 की 70 सीटों पर उम्मीदवार उतारे थे। आप को कुल 54.34 फीसदी वोट मिले थे। बीजेपी ने 69 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे थे और उसे चुनाव में 32.19 फीसदी वोट मिले थे।

वहीं कांग्रेस ने भी 70 सीटों पर उम्मीदवार उतारे थे. कांग्रेस को 2015 के विधानसभा चुनाव में महज 9.65 फीसदी वोट मिले थे। 70 विधानसभा सीटों में से 58 सीटें सामान्य केटेगरी की हैं। जबकि 12 सीटें आरक्षित हैं।

ये भी पढ़ें...संविधान दिवस पर अरविंद केजरीवाल का ट्वीट- इसके लिए जान भी देनी पड़े तो पीछे मत हटना

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story