बीजेपी का कांग्रेस पर बड़ा हमला, शायराना अंदाज में दिया बयान

पंकज सिंह ने कहा कि पूर्व की सरकार ने संसद में चर्चा किए बिना और बिल पास किए बिना 370 और 35 ए को गलत तरह से लागू कराया गया था। सरदार वल्लभभाई पटेल, बाबा भीमराव अम्बेदकर और श्यामा प्रसाद मुखर्जी का सपना पूर्ण हुआ है।  

बीजेपी का कांग्रेस पर बड़ा हमला, शायराना अंदाज में दिया बयान

बीजेपी का कांग्रेस पर बड़ा हमला, शायराना अंदाज में दिया बयान

कानपुर: बीजेपी के प्रदेश महामंत्री पंकज सिंह ने बड़े ही शायराना अंदाज में बोले कि ‘तारीखों ने भी देखा है कि जहां लम्हों ने खता की थी और सदियों ने सजा पाई थी।’ उन्होंने कहा कि बीते 70 साल से जम्मू-कश्मीर आर्टिकल 370 का दंश झेल रहा था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 70 साल पहले की गई भूल कर 70 दिन में ठीक कर दिया। यह मजबूत और अटल विचारों वाली सरकार है।

यह भी पढ़ें: Government Jobs: 10वीं पास कर सकते हैं अप्लाई, रेलवे ने निकाली बंपर नौकरियां

बीते रविवार शाम उत्तर प्रदेश महामंत्री पकंज सिंह जनजागरण प्रबुद्ध गोष्ठी कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए पहुंचे थे। संगोष्ठी को संबोधित करते हुए कहा कि जम्मू-कश्मीर और लेह लद्दाख के साथ एक प्रकार से स्वतंत्रता के बाद भी अन्याय होता रहा है। दो तीन परिवारों के निजि के स्वार्थ के कारण जम्मू-कश्मीर की समस्या विकराल होती रही जिसकी वजह से विकास नहीं हो पाया।

अखंड भारत का सपना साकार

पंकज सिंह ने कहा कि आर्टिकल 370 हटने के बाद अखंड भारत का सपना साकार होता दिख रहा है। भारत के नागरिकों को जो अधिकार मिलते थे वो केवल जम्मू-कश्मीर के कुछ चुनिंदा लोगो को मिल पाते थे। पाकिस्तान परस्त लोगो ने जम्मू-कश्मीर में आतंवाद को बढावा दिया ओर विकास की गति को रोक कर रखा।

यह भी पढ़ें: SBI का बड़ा तोहफा! निकाली है बंपर नौकरियां, बेरोजगारों को मिलेगी राहत

पकिस्तान आज भी वहां के नागरिकों पर बम बरसाने और आतंकी हमले कराने से गुरेज नहीं करता है। केंद्र की सरकार ने पाकिस्तान की ऐसी घेराबंदी की उसे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मात खानी पड़ी। केंद्र सरकार द्धारा जो जम्मू कश्मीर को मदद भेजी जाती थी उसका कभी सही उपयोग नहीं हुआ है।

यह भी पढ़ें: BB King की 94वीं जयंती: 15 बार जीत चुके हैं ग्रैमी, Google ने ऐसे किया याद

पंकज सिंह ने कहा कि पूर्व की सरकार ने संसद में चर्चा किए बिना और बिल पास किए बिना 370 और 35 ए को गलत तरह से लागू कराया गया था। सरदार वल्लभभाई पटेल , बाबा भीमराव अम्बेदकर और श्यामा प्रसाद मुखर्जी का सपना पूर्ण हुआ है।