Top

अखिलेश का EVM पर प्रश्न खड़े करना खिसियाहट, फूलपुर-गोरखपुर से घबराए

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 27 Dec 2017 12:29 PM GMT

अखिलेश का EVM पर प्रश्न खड़े करना खिसियाहट, फूलपुर-गोरखपुर से घबराए
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ : उत्तर प्रदेश की फूलपुर और गोरखपुर लोकसभा सीटों पर उपचुनाव में ईवीएम का प्रयोग न कराए जाने की समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव की मांग पर तंज कसते हुए भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता राकेश त्रिपाठी ने कहा है कि अखिलेश यादव उपचुनाव की आहट से घबरा गए हैं।

भाजपा प्रवक्ता ने बुधवार को कहा कि लगातार चुनाव हारने से पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का आत्मविश्वास बुरी तरह हिल गया है, इसलिए उन्होंने अपनी संभावित हार को भांपते हुए पहले से ही ईवीएम पर रूदन शुरू कर दिया है।

ये भी देखें :EVM पर अखिलेश यादव विपक्षी दलों के साथ मिल खोलेंगे मोर्चा

त्रिपाठी ने कहा, "अखिलेश यादव आस्ट्रेलिया से उच्च शिक्षित हैं और अपने कार्यकाल में लैपटॉप, टैबलेट बांटने के पक्षधर रहे हैं। भले ही वो जातीय-मजहबी आधार पर बांटते रहे हो, लेकिन टेक्नोफ्रेंडली अखिलेश यादव का ईवीएम पर प्रश्न खड़े करना उनकी खिसियाहट को दिखा रहा है। सपा की जातीय-मजहबी राजनीति के दिन अब लद गए हैं। जनता विकास के मसले पर गंभीर है।"

प्रवक्ता ने कहा, "अखिलेश यादव चापलूसों की गैंग से घिरे हुए हैं। जनता की समस्याओं और समाधान से पूरी तरह कटे हुए हैं और ऐसे में विधानसभा, निकाय चुनाव और हालिया संपन्न विधानसभा उपचुनाव की पराजय से सबक नहीं सीख पा रहे हैं। लोकसभा उपचुनावों में भाजपा की जीत पिछली बार की जीत से ज्यादा बड़े अंतर से होगी।"

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story