Top

निगमों, आयोगों और बोर्डों के चेयरमैन को दायित्व पूरा करने की नसीहत 

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 1 Nov 2018 3:04 PM GMT

निगमों, आयोगों और बोर्डों के चेयरमैन को दायित्व पूरा करने की नसीहत 
X
Interview : हम विकास के भरोसे लड़ेंगे चुनाव : महेंद्र नाथ पाण्डेय
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: निगमों, आयोगों और बोर्डों के चेयरमैन की बैठक में सीएम योगी आदित्यनाथ ने उन्हें अपने दायित्वों को पूरा करने की नसीहत दी। मिशन 2019 के एजेंडे की तरफ भी ध्यान दिलाया। उनकी पहली की सरकारों से तुलना भी की गई। चेयरमैन किस तरह अपने आयोग, बोर्ड या निगमों के जरिए जनता के बीच पैठ बना सकते हैं। जिसका फायदा आगामी चुनावों में मिल सकता है।

ये भी देखें: सीएम योगी ने दी निशुल्क डायलिसिस यूनिट की सौगात, एक दिन में 60 गरीब मरीजों को फायदा

बैठक में आए सभापतियों का ध्यान पार्टी के एजेंडे की तरफ दिलाया गया। कहा गया कि उनके सकारात्मक कामों का सकारात्मक असर भी जनता पर पड़ सकता है। ज्यादा से ज्यादा लोगों को पार्टी से जोड़ा जाए। सभी लोग बीजेपी से जुड़े हैं। इसलिए सभापति की भूमिका मे हैं। उन्हें संगठन के कामों के प्रति भी ध्यान देना चाहिए।

ये भी देखें: यूपी के इस शहर में पटाखों से पटा बाजार, सुरक्षा भगवान भरोसे

प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने बताया कि निगम, बोर्ड, आयोग पहले की सरकारों में भी बनते रहे हैं। आम तौर पर सपा—बसपा सरकारों ने इसे सुख सुविधा और प्रतिष्ठा का विषय बनाया। लोक हित में इसका अधिक से अधिक उपयोग हो सकता है। मिशन 2019 के सवाल पर उन्होंने कहा कि पार्टी वर्कर को मार्गदशन देने के अलग तरीके हैं। उन्हें हम समय समय पर मार्ग दर्शन देते रहते हैं।

ये भी देखें: सड़क दुर्घटनाओं में देश में चौथे स्‍थान पर कानपुर, 10 महीने में गई 543 जानें

ट्रस्ट समन्वय विभाग की भी हुई बैठक

पार्टी के माधव सभागार में गुरूवार को हुई ट्रस्ट समन्वय विभाग की बैठक में विभिन्न जिलों के संयोजक व प्रतिनिधियों ने भाग लिया। प्रदेश प्रभारी अशोक तिवारी ने कहा कि पार्टी की अग्रिम योजनाओं को सुव्यवस्थित और सुचारू रूप से चलाने के लिए विभिन्न मोर्चा, प्रकोष्ठों, विभागों और प्रकल्पों का गठन किया गया है। जिससे कि एक ट्रस्ट समन्वय विभाग भी है। इसके तहत पार्टी से संबधित विभिन्न न्यासों का विधिवत संचालन, हिसाब-किताब प्रशासनिक विषयों को सही व्यवस्था व निरन्तर निगरानी करते हुए निश्चित उद्देश्यों को नियम कानून के तहत पूरा करना होगा।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story