Top

BJP की शिकस्त से विपक्ष को मिली संजीवनी, प्रासपा ने भी घेरने की बनाई रणनीति

2019 लोकसभा चुनाव से पहले हुए पांच राज्यों के विधान सभा चुनाव में बीजेपी को करारी शिकस्त मिली है। बीजेपी की इस हार ने उत्तर प्रदेश में सपा ,बसपा और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी समेत सभी विपक्षी पार्टियों को संजीवनी देने का काम किया है।

Manali Rastogi

Manali RastogiBy Manali Rastogi

Published on 13 Dec 2018 5:09 AM GMT

BJP की शिकस्त से विपक्ष को मिली संजीवनी, प्रासपा ने भी घेरने की बनाई रणनीति
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुर: 2019 लोकसभा चुनाव से पहले हुए पांच राज्यों के विधान सभा चुनाव में बीजेपी को करारी शिकस्त मिली है। बीजेपी की इस हार ने उत्तर प्रदेश में सपा ,बसपा और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी समेत सभी विपक्षी पार्टियों को संजीवनी देने का काम किया है। प्रासपा ने भी बीजेपी को घेरने के लिए एक बूथ 20 यूथ की रणनीति बनाकर बीजेपी को घेरने की योजना बनाई है।

प्रासपा के कानपुर मंडल प्रभारी रघुराज शाक्य ने कहा अब हम बीजेपी को बूथ पर घेरने का काम करेगे। यदि यूपी से बीजेपी को बाहर करना है तो उसे बूथ पर शिकस्त देनी पड़ेगी। बीजेपी की जन विरोधी रणनीतियो ने देश और प्रदेश की जनता को मानसिक और आर्थिक हानि पहुचाने का काम किया है।

यह भी पढ़ें: संसद हमले की 17 वीं बरसी आज, जब खून और मांस के लोथड़े पोर्च की दीवारों से चिपक गए थे

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के कानपुर मंडल प्रभारी ने महागठबंधन में शामिल होने का ईशारा दिया है। उन्होंने कहा कि राजस्थान,मध्य प्रदेश,छत्तीसगढ़ में एंटी इनकम्बेंसी हार की वजह नही है। यदि बीजेपी की सरकार इन राज्यों में कई वर्षो से थी और केंद्र में भी बीजेपी की सरकार थी।

यह भी पढ़ें: Assembly Elections 2018: कांग्रेस MP में 114 तो राजस्थान में 99 सीटों संग बना रही सरकार

इसके बाद राज्य सरकारे प्रदेश की जनता को संतुष्ट नही कर पाए, यह मूल्याकन करने की जरूरत है कि आखिर बीजेपी के खिलाफ आक्रोश क्यों था। जनता के अन्दर बीजेपी के खिलाफ गुस्सा था। इसी प्रकार उत्तर प्रदेश की जनता के अन्दर भी आक्रोश व्याप्त है।

यूपी में बीजेपी के खिलाफ बन रहा माहौल

रघुराज शाक्य ने कहा कि अब प्रदेश में बीजेपी के खिलाफ माहौल बन रहा है। यही उचित समय है, जब सभी पार्टियों को एक जुट होकर लोकसभा चुनाव में अपनी ताकत का अहसास दिलाए। एंटी बीजेपी माहौल को यदि हाथ जाने दिया गया तो एक बार फिर से जनता को आर्थिक आपातकाल जैसे हालातो से गुजरना पड़ेगा।

यह भी पढ़ें: मेघालय HC की टिप्पणी, आजादी के समय ही भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित कर देना चाहिए था

झूठ बोल कर सत्ता पाने वाले कभी भी देश का हित नही कर सकते है। जनता से किये गए वादों को पूरा करने में यह सरकार नाकाम साबित हुयी है। मंदिर कार्ड को चलकर एक बार फिर से जनता को भटकाने का काम किया जा रहा है लेकिन आज का युवा वर्ग पढ़ा लिखा और समझदार है वो अपना जवाब वोट की चोट से देगा।

एक बूथ 20 यूथ

रघुराज शाक्य ने बताया कि पूरे प्रदेश में हमारी कार्यकारणी का गठन हो चुका है। अब हम प्रदेश भर के सभी बूथों पर 20 कार्यकर्ताओ की टोली का गठन कर रहे है। इस टोली में अधिवक्ता, इंजीनयर और पढाई करने वाले युवाओ को शामिल किया गया है। जो उस बूथ में रहने वाले वोटरों से सीधा संपर्क कर प्रासपा की नीतियों से जोड़ने का काम करेंगे।

यह भी पढ़ें: मेघालय HC की टिप्पणी, आजादी के समय ही भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित कर देना चाहिए था

बूथ स्तर पर भी हमने आकलन किया है कि लगभग सभी पार्टियों से उपेक्षित लोग है उन्हें भी अहम् पदों की जिम्मेदरी दी जा रही है। जिस प्रकार बीजेपी ने 2014 लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश की 80 में से 72 सीटो पर कब्ज़ा किया था। अब स्थितिया विपरीत हो गयी है ,बीजेपी अपने वादों पर खरा नही उतरी है। महागठबंधन उन्हें दहाई का अंक भी नही छूने देगा।

Manali Rastogi

Manali Rastogi

Next Story