बलिया विधायक पर एक्शन: 6 साल के लिए होगा निष्कासन! बढ़ेगी मुसीबत

अगले विधानसभा चुनाव को लेकर भाजपा हाईकमान अब बेहद गंभीर हो रहा है। नेतृत्व नहीं चाहता है कि चुनाव के पहले किसी भी तरह से पार्टी की छवि पर नकारात्मक असर पड़े।

surendra-singh-ballia

बलिया विधायक पर एक्शन: 6 साल के लिए होगा निष्कासन! बढ़ेगी मुसीबत (Photo by social media)

लखनऊ: बलिया कांड में खुलेआम अभियुक्त की पैरवी करने वाले विधायक सुरेन्द्र सिंह पर केन्द्रीय हाईकमान की नजरे तिरछी हो गयी है। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने इस मामले को बेहद गंभीरता से लिया और प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह से टेलीफोन पर बातकर अपनी गहरी नाराजगी दिखाई है। इसके बाद प्रदेश नेतृत्व ने विधायक सुरेन्द्र सिंह को कारण बताओं नोटिस जारी किया है। अगर हाईकमान सुरेन्द्र सिंह के उत्तर से सतुष्ट नहीं होता है उनका छह साल के लिए निष्कासन भी किया जा सकता है।

ये भी पढ़ें:जम्मू कश्मीर क्रिकेट एसोसिएशन केस में ED फारूक अब्दुल्ला से कर रही पूछताछ

अगले विधानसभा चुनाव को लेकर भाजपा हाईकमान अब बेहद गंभीर हो रहा है

अगले विधानसभा चुनाव को लेकर भाजपा हाईकमान अब बेहद गंभीर हो रहा है। नेतृत्व नहीं चाहता है कि चुनाव के पहले किसी भी तरह से पार्टी की छवि पर नकारात्मक असर पड़े। इसलिए राज्य सरकार भी लगातार ऐसे मामलों पर कार्रवाई करने में नहीं हिचक रही है जिसमें पार्टी कार्यकर्ताओं की संलिप्तता देखने को मिली है।

लाकडाउन के दौरान भी अप्रैल महीने में समुदाय विशेष के लोगों से सब्जी नहीं खरीदने की बात कहने पर बरहज देवरिया के विधायक सुरेश तिवारी को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और यूपी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने अलग-अलग नोटिस जारी किया था।

हरदोई के गोपामऊ से विधायक श्याम प्रकाश के खिलाफ भी लगातार शिकायतें मिल रही थी

अप्रैल में ही हरदोई के गोपामऊ से विधायक श्याम प्रकाश के खिलाफ भी लगातार शिकायतें मिल रही थी। हाल ही में विधायक ने स्वास्थ्य विभाग में भ्रष्टाचार, कमीशनखोरी का आरोप लगाते हुए 25 लाख वापस देने की मांग की थी। दरअसल, विधायक ने सैनिटाइजर, मास्क व उपकरणों की खरीद के लिए अपनी निधि से पैसे दिए थे। इससे पहले 16 अप्रैल को भी विधायक ने पत्र लिखकर सीडीओ से खर्च का हिसाब मांगा था। जिस पर प्रदेष हाईकमान ने कारण बताओ नोटिस जारी किया था।अब इन विधायकों पर क्या कार्रवाई हुई ये तो नहीं पता पर जनता में अपनी छवि बचाए रखने के लिए पार्टी सख्त कार्रवाई करने का दावा करती रहती है।

ये भी पढ़ें:हाथरस रेप केस: CBI की टीम ने अलीगढ़ जिला जेल का दौरा किया, यहीं बंद हैं आरोपी

हाल ही में लखीमपुर के विधायक लोकेंद्र प्रताप सिंह और उनके पुत्र द्वारा कार्यकर्ताओं के साथ थाने पर बवाल मचाने और छेड़छाड़ के आरोपी को छुड़ाकर ले जाने के मामले का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इसको लेकर क्षेत्र में खासी चर्चा बनी हुई है। जल्द ही प्रदेश संगठन इन पर भी कार्रवाई कर सकता है।

श्रीधर अग्निहोत्री

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App