Top

यूपी नगर निकाय चुनाव की अधिसूचना 27 को, 4 दिसंबर को नतीजे !

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 24 Oct 2017 3:42 PM GMT

यूपी नगर निकाय चुनाव की अधिसूचना 27 को, 4 दिसंबर को नतीजे !
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ। यूपी में नगर निकाय चुनाव की अधिसूचना 27 अक्टूबर को जारी होगी। 4 दिसंबर को हर हाल में नतीजे भी आ जाएंगे। इन्हीं तिथियों को फाइनल मान कर भारतीय जनता पार्टी ने अपनी तैयारियों को अंतिम रूप देना शुरू कर दिया है।

भाजपा के विश्वस्त सूत्रों की माने तो पार्टी हर दशा में प्रदेश की नगर निकायों पर जीत की जुगत में है, ताकि गुजरात के चुनाव पर इस जीत का असर दिखाया जा सके। इसीलिए चुनाव परिणाम की तिथि ऐसी रखी जा रही है, जिससे गुजरात को संदेश दिया जा सके। यही वजह है कि भाजपा के प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल खुद राज्य मुख्यालय पर ही जमे हुए हैं। आज ही उन्होंने कई दौर की बैठकें भी की है जिसमे इस चुनाव की तैयारियों और रणनीति पर व्यापक विमर्श हुआ है।

पार्टी का यह मानना है कि प्रदेश में नगर निकायों पर भाजपा की विजय का सीधा असर गुजरात में होने वाले विधानसभा चुनावों पर पड़ना है। ऐसे में पार्टी किसी प्रकार की जोखिम नहीं छोड़ना चाहती।

सूत्रों का कहना है कि चुनाव की अधिसूचना 27 अक्टूबर को हो जाएगी। तीन चरणों में नवंबर में चुनाव होंगे और गुजरात चुनाव से लगभग एक सप्ताह पूर्व यहां के परिणाम घोषित कर दिए जायेंगे। फिलहाल परिणाम की संभावित तिथि 4 दिसंबर बताई जा रही है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story