Top

बसपा के वोट बैंक पर है बीजेपी की नजर, अब निपटने के लिए बनाई जा रही कार्य योजना

Manali Rastogi

Manali RastogiBy Manali Rastogi

Published on 15 Sep 2018 6:01 AM GMT

बसपा के वोट बैंक पर है बीजेपी की नजर, अब निपटने के लिए बनाई जा रही कार्य योजना
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुर: आने वाले लोकसभा चुनाव में बीजेपी की नजर अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति पर है। ये ऐसा वोट बैंक है जो शत प्रतिशत घरों से निकलकर अपने मताधिकारी का प्रयोग करता है। इस वोट बैंक पर बीते कई दशक से बसपा सुप्रीमो मायावती का कब्ज़ा रहा है।

यह भी पढ़ें: हरदोई: फिर छतिग्रस्त की गईं भगवान की मूर्तियां, लोगों में आक्रोश

बीजेपी ने एससी/एसटी एक्ट में संसोधन कर इस वोट बैंक को अपने खेमे में लाने का कार्ड खेला है। अपनी पकड़ और मजबूत करने के लिए बीजेपी कार्यकर्ताओ की फ़ौज उतार दी है। बीजेपी को इस बात की जानकारी कि जनरल वोटर बहुत ही कम प्रतिशत में वोटिंग करने के लिए जाता है। ओबीसी वर्ग के बाद सबसे बड़ी तादात में एससी/एसटी कास्ट के लोग वोटिंग करते है।

कानपुर बुंदेलखंड के 17 जिलो की 52 विधानसभा सीटो के सभी बूथ अध्यक्षों और मंडल अध्यक्षों से अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के वोटरों की लिस्ट मांगी गयी है। बीजेपी कार्यकर्ता इस लिस्ट में नाम बढवाने और इनके घर-घर जाकर मिलेगे। केंद्र की मोदी सरकार और प्रदेश की योगी सरकार की उपलब्धियों को गिनाने का काम करेंगे।

यह भी पढ़ें: बढ़ रही पेट्रोल-डीजल के दामों में लगी आग, यहां 90 रुपए के करीब पहुंची कीमत

इसके साथ ही एससी/एसटी कानून में संसोधन कर उनके अधिकार दिलाने के विषय में समझाने का प्रयास किया जायेगा। बार ऐसा हुआ है कि बीजेपी का फोकस जनरल कटगरी से हतकत अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के वोटरों से ताल मेल बिठाने के लिए इतने जबरदस्त प्रयास किये गए हो।

बीजेपी अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के वोटरों को लुभाकर गठबंधन को कमजोर करने के प्रयास में जुटी है । बीजेपी को ये बात अच्छी तरह से मालूम है कि यदि अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति का वोटर बीजेपी के खेमे में आ गया तो सपा ,बसपा कांग्रेस गठबंधन अपने आप कमजोर हो जायेगा। इस काम को कानपुर बुंदेलखंड के सभी विस्तारक ,संगठन मंत्री भवानी सिंह ,क्षेत्रीय अध्यक्ष मानवेन्द्र सिंह ,संगठन महामन्त्री सुनील बंसल समेत सभी पदाधिकारी इस पर फोकस किये हुए है।

इसके साथ ही इन दिनों बीजेपी विरोधी लहर से निपटने के लिए भी कार्ययोजना तैयार की जा रही है । बढती मंगाई ,पेट्रोलियम पदार्थो दामो में उछाल ,गिरता हुआ रुपया देश के सबसे बड़े मूदे बनकर उभरे है।

इसके लिए बीजेपी छोटे-छोटे समूह बनाकर जनता के बीच पहुचकर विपक्ष द्वारा फैलाये जा रहे दुष्प्रचार से जनता को अपनी बातो से उनके मन का भ्रम निकालने की योजना तैयार की गयी है। इस पर जल्द ही अमल भी शुरू कर दिया जायेगा। अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के वोटरों के बीच बीजेपी की बढती गतिविधियों को देखकर बहुजन समाज पार्टी का खेमा भी परेशान दिखाई दे रहा है बल्कि सपा और बसपा समेत कांग्रेस को भी सोचने पर मजबूर कर दिया है।

Manali Rastogi

Manali Rastogi

Next Story