Top

बसपा के पूर्व एमएलसी ने कुछ इस तरह किया काला धन सफेद, मुकदमा दर्ज

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 11 March 2018 2:53 PM GMT

बसपा के पूर्व एमएलसी ने कुछ इस तरह किया काला धन सफेद, मुकदमा दर्ज
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

सहारनपुर : विवादों में फंसे पूर्व बसपा एमएलसी हाजी इकबाल की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही है। एमएलसी और उसके सहयोगियों के खिलाफ एक और मुकदमा दर्ज किया गया है। नोटबंदी के दौरान बैंक अधिकारियों के साथ मिलकर फर्जी खाते से काले धन को सफेद किया गया है। शिकायतकर्ता ने कंपनी का फर्जी खाता खुलवाकर काफी लेनदेन करने का आरोप भी लगाया है। साथ ही अपने पार्टनर पर भी धोखाधड़ी के आरोप लगाए है। शिकायतकर्ता की तहरीर पर थाना जनकपुरी में रविवार को हाजी इकबाल सहित पंजाब नेशनल बैंक शाखा के अधिकारियों के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज किया गया है।

ये भी देखें: कहानी फिल्मी है : मौजमस्ती के लिए छात्र-छात्राओं ने बनाया लूट गैंग

बेहट तहसील के मीरपुर गंदेवड निवासी विश्वास कुमार ने थाना जनकपुरी में तहरीर देकर बताया कि यमुना एग्रो सॉल्यूशन और यमुना एग्रो टेक फाई साउथ सिटी दिल्ली रोड़ का पार्टनर है। इस फर्म ने 2013 में 5.3 हेक्टेयर कृषि जमीन खरीदी थी जो आज भी फर्म के ही नाम पर है। इसके बाद इस फर्म ने कोई कार्य नहीं किया।

विश्वास का कहना है कि उसने वैभव मुकुंद के साथ दो फर्म मेसर्स यमुना एग्रो सोल्युशन व यमुना एग्रो टेक फार्म साउथ सिटी दिल्ली रोड बनाई थी। जिनमें से एक फर्म यमुना एग्रो टेक को रजिस्ट्रार कार्यालय में रजिस्टर्ड किया गया था। जबकि दूसरी फर्म को रजिस्टर्ड नहीं कराया गया था।

विश्वास का आरोप है कि अपंजीकृत यमुना एग्रो सॉल्युशन में उन्हें पार्टनर बनाकर वैभव मुकुंद के स्थान पर सौरभ मुकुंद और विनोद कुमार पार्टनर दिखाकर पंजाब नेशनल बैंक ब्रांच में 13 मई 2015 को खाता संख्या 3885002100008724 खुलवाया गया।

विश्वास ने आरोप लगाया है कि इस तरह के किसी खाते के फार्म पर न तो उन्होंने कोई हस्ताक्षर किए और न ही कोई अनुमति प्रदान की। इसके बावजूद इस खाते से पूर्व बसपा एमएलसी हाही इकबाल की कंपनियों और फर्मो के साथ लेनेदेन किया गया। यही नहीं नोटबंदी के दौरान बड़ी रकम नगद खाते में जमा हुई और निकासी की गई।

उनका आरोप है कि उनके नाम पर फर्जी खाता खुलवाकर फर्जी तरीके से कालेधन को सफेद किया गया। जिसमें बैंक अधिकारी की मिलीभगत भी सामने आई है। विश्वास ने थाना जनकपुरी में तहरीर देकर पूर्व बएसपा एमएलसी मो. इकबाल पुत्र अब्दुल वहीद निवासी मिर्जापुर पोल, रविंद्र कुमार पुत्र करता सिंह कांसेपुरबेहट थाना बेहट, विनोद कुमार, सौरभ मुकुंद व पंजाब नेशरल बैंक के अधिकारीयों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story