Top

बसपा की नजर बीजेपी वोट बैंक पर, ये है बीएसपी का मास्टर प्लान

Manali Rastogi

Manali RastogiBy Manali Rastogi

Published on 1 Sep 2018 7:40 AM GMT

बसपा की नजर बीजेपी वोट बैंक पर, ये है बीएसपी का मास्टर प्लान
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुर: सोशल मीडिया और बड़े टीवी प्रचार प्रसार होर्डिंग पोस्टर से दूर रहने वाली वाली बहुजन समाज पार्टी पर सभी राजनैतिक दलों की नजर है। साइलेंट मोड में रहने वाली इस पार्टी की तरफ सपा और कांग्रेस आशा भरी नजरो से देख रही है। वही बीजेपी खुद के लिए बहुजन समाज पार्टी को अपने लिए सबसे बड़ा खतरा मानती है।

यह भी पढ़ें: जैनमुनि तरुण सागर के निधन पर राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री ने जताया शोक

आने वाले लोक सभा चुनाव के लिए बीएसपी की बीजेपी के सबसे मजबूत वोट बैंक पर है। सवर्ण समाज बीजेपी का वोट बैंक माना जाता है और बीएसपी की नजर सर्व समाज के बहाने सवर्ण समाज पर है। इसके लिए बसपा ने मास्टर प्लान तैयार किया और वो प्लान जमीनी स्तर पर अपना काम भी शुरू कर दिया है।

यह भी पढ़ें: पटना के आश्रयगृह की संवासिन की इलाज के दौरान मौत, 2 लापता

बहुजन समाज पार्टी ने आने वाले लोकसभा चुनाव से पहले सभी वार्डों और ग्राम सभाओ में 50 सक्रिय कार्यकर्ता बनाये है। यह सक्रिय कार्यकर्ता अधिकतर सवर्ण समाज के समाज है। बीएसपी की जमीन तैयार करने की जिम्मेदारी सक्रिय कार्यकर्ताओ को दी गयी है।

ग्राम सभाओ तैनात किये गए 50 सक्रिय कार्यकर्ताओ में से लगभग सभी कार्यकर्ताओं का उस क्षेत्र में वर्चस्व है। ग्रामीण उनकी बातो को मानते है और वो सक्रिय कार्यकर्ता ग्रामीणों की दुःख मुसीबत में खड़े होते है और उनकी मदद करते है।

इसी तरह से शहरी क्षेत्र में भी 50 सक्रिय कार्यकर्ता अभी भूमिका को निभा रहे है। कानपुर बुंदेलखंड में बसपा की 50 सक्रिय कार्यकर्ताओ की रणनीति अब जमीन पर दिखने लगी है। हर गाँव में तैनात उनके सक्रिय कार्यकर्ता ऐसे सवर्ण लोगो को बसपा में शामिल कर रहे है जो गरीबी रेखा में जीवन यापन कर रहे है। गरीब सवर्ण जिन्हें बीजेपी ने कुछ नही दिया है और वो उपेक्षा के शिकार हुए है । बीएसपी इन्हें भी अपना वोट बैंक बना रही ह ।

बहुजन समाज पार्टी हमेशा से ग्रामीण क्षेत्रो में बहुत मजबूत रही है। आने वाले लोकसभा चुनाव में बसपा ग्रामीण क्षेत्रो को भी मजबूत करनी के प्रयास में जुटी है। जब कि दलित और बैकवर्ड पर बसपा की पहले से ही अच्छी पकड़ थी । वही बसपा के पदाधिकारी अन्य दलों के की गतिविधियों पर भी नजर रख रहे है।

बसपा जिलाध्यक्ष सुरेन्द्र कुशवाहा के मुताबिक बहन मायावती के निर्देश और रणनीति पर कार्य कर रहे है। बसपा सर्व समाज की बात करती है ,हमारा उद्देश्य है आपसी भाई चारा कायम करना। दरअसल, बीजेपी समेत अन्य सभी दलों ने दलितों को अपना वोट बैंक समझ कर राजनीती की है लेकिन दलितों के अधिकारों की लड़ाई सिर्फ बसपा ने लड़ी है।

उन्होंने बताया कि बसपा ने सभी ग्राम सभाओं और वार्डो में 50 सक्रिय कार्यकर्ताओ को तैनात किया है। सभी कार्यकर्ताओ अपनी भूमिका जिम्मेदारी से निभा रहे है, जब हम ग्रामीणों के बीच पहुचे तो वो आज भी बसपा से बहुत उम्मीद लगाये बैठे।

हम जन-जन तक लोगो के बिच पहुचकर बसपा के समय में हुए विकास कार्यो को जनता के सामने रख रहे। बसपा के कार्यकाल में कानून व्यवस्था,शिक्षा,रोजगार,गांवों का विकास और लडकियों की शादियों के धन सम्बन्धी कार्यो को सामने रख कर आगे बढ़ रहे है।

इसके साथ ही बीजेपी की जनविरोधी नीतियो के दुष्परिणाम से भी अवगत करा रहे है । भोली भाली जनता को केंद्र और प्रदेश की सरकार गुमराह कर रही है। जनता के सामने सोशल मिडिया व् अन्य प्रचार प्रसार के माध्यम से गलत अकड़े प्रस्तुत कर जनता को ठगने का काम कर रही है।

Manali Rastogi

Manali Rastogi

Next Story