Top

बड़ा संकट, अब बसपा नेता सहित 107 पदाधिकारियों ने छोड़ा साथ

Manali Rastogi

Manali RastogiBy Manali Rastogi

Published on 16 July 2019 7:04 AM GMT

बड़ा संकट, अब बसपा नेता सहित 107 पदाधिकारियों ने छोड़ा साथ
X
बड़ा संकट, अब बसपा नेता सहित 107 पदाधिकारियों ने छोड़ा साथ
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गोरखपुर: बहुजन समाज पार्टी विधानसभा बांसगांव के अध्यक्ष श्रवण कुमार निराला व विधानसभा महासचिव राजेंद्र प्रसाद के साथ ही विधानसभा के सभी प्रभारीगण सेक्टर जोन इंचार्जगण एवं कुल 40 सेक्टर अध्यक्षों में से 35 अध्यक्षों ने अपनी प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है।

यह भी पढ़ें: ड्राइविंग लाइसेंस के ​वेरिफिकेशन के लिए अब नहीं पड़ेगी इस प्रोसेस की जरुरत

विदित है कि विगत दिनों बसपा के विधानसभा बांसगांव के घोषित प्रभारी एवं प्रत्याशी श्रवण कुमार निराला का टिकट काट दिया गया था। जिससे उन्होंने अपने लगातार दो दशक तक पार्टी में समर्पण के बावजूद पार्टी के तरफ से टिकट काटने से आहत होकर पार्टी छोड़ दिया था। जिसके बाद क्षेत्र के सभी कार्यकर्ताओं में भारी रोष व्याप्त है।

बसपा नेताओं में फूट

इसी क्रम में आज बसपा के विधानसभा बांसगांव के लगभग पूरी कमेटी आज पार्टी से इस्तीफा दे दिया तथा बसपा नेता श्रवण निराला को भरोसा दिलाया कि सभी कार्यकर्ता हर स्तर पर श्रवण निराला के साथ संघर्ष करेंगे। सभी पदाधिकारी एवं कार्यकर्ताओं ने निराला के सम्मान में इस्तीफा दिया है। इस्तीफा देने वालों की कुल संख्या 107 थी, ये सभी बसपा संगठन में बूथ स्तर से लेकर जोन एवं विधानसभा तथा जिला स्तर के पदाधिकारी थे।

यह भी पढ़ें: वाराणसी: 27 साल में तीसरी बार टूटेगी गंगा आरती की परंपरा, ये है वजह

वहीं बसपा नेता श्रवण कुमार निराला ने बसपा के बड़े नेताओं पर आरोप लगाते हुए कहा कि, ‘मैं कई वर्षों से बसपा के लिए तन मन धन से लगा था। लेकिन कुछ धन बालियों के वजह से हमारी और हमारे कार्यकर्ताओं की अनदेखी की गई। हमें यहां तक यह भी भरोसा दिलाया गया कि आपको विधानसभा और लोकसभा का टिकट दिया जाएगा।'

यह भी पढ़ें: आज भी वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड अपने सचिन दबाकर बैठे हैं

बसपा नेता श्रवण कुमार निराला ने आरोप लगाया कि उन्हें टिकट भी नहीं दिया गया और झूठा आरोप लगाकर उन्हें पार्टी से निष्कासित करवा दिया गया। यहां पर धन बालियों और बाहरी नेताओं को तवज्जो दी जा रही है। उन्होंने आगे कहा कि वह 20 वर्ष पुराना कार्यकर्ता हैं। उनके ऊपर आरोप लगाया गया कि वह संगठन से हटकर काम कर रहे हैं। यह आरोप लगाकर उन्हें निष्कासित कर दिया गया। आज वह और उनके साथ कुल 107 पदाधिकारी बसपा छोड़ रहे हैं।

Manali Rastogi

Manali Rastogi

Next Story