Top

यहां हुई महागठबंधन की जीत, BJP को लगा तगड़ा झटका

झारखंड के दुमका और बेरमो उप चुनाव में महागठबंधन के दोनों प्रत्याशी विजयी रहे हैं। दुमका से झामुमो उम्मीदवार बसंत सोरेन और बेरमो से कांग्रेस कैंडिडेट कुमार जयमंगल उर्फ अनूप सिंह ने जीत दर्ज की है।

Monika

MonikaBy Monika

Published on 10 Nov 2020 2:44 PM GMT

यहां हुई महागठबंधन की जीत, BJP को लगा तगड़ा झटका
X
झारखंड उप चुनाव: हुई महागठबंधन की जीत, दुमका और बेरमो में मिली भाजपा को हार
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

झारखंड के दुमका और बेरमो उप चुनाव में महागठबंधन के दोनों प्रत्याशी विजयी रहे हैं। दुमका से झामुमो उम्मीदवार बसंत सोरेन और बेरमो से कांग्रेस कैंडिडेट कुमार जयमंगल उर्फ अनूप सिंह ने जीत दर्ज की है। दुमका से एनडीए प्रत्याशी लुईस मरांडी और बेरमो से योगेश्वर बाटुल को हार का मुंह देखना पड़ा है। झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने दोनों विधानसभा के लोगों को धन्यवाद दिया है। साथ ही कांग्रेस और झामुमो के कार्यकर्ताओं का आभार प्रकट किया है। आपको बता दें कि, हेमंत सोरेन के दुमका सीट छोड़ने से और राजेंद्र सिंह के निधन के कारण बेरमो सीट खाली हुई थी।

किसको मिले कितने वोट

दुमका से झामुमो प्रत्याशी बसंत सोरेन को अपने निकटतम भाजपा प्रत्याशी लुईस मरांडी से 6842 मत अधिक मिले। बसंत सोरेन को कुल 80,559 वोट मिले। दुमका विधानसभा क्षेत्र में कुल 19 राउंड की काउंटिंग हुई जिसमें 18 राउंड तक ईवीएम के मतों की गिनती हुई। वहीं 19वें राउंड में वीवीपैट स्लिप की काउंटिंग हुई। बात अगर बेरमो की करें तो यहां कांग्रेस के प्रत्याशी कुमार जयमंगल उर्फ अनूप सिंह अपने निकटतम बीजेपी प्रत्याशी योगेश्वर महतो से 14,225 मतों से आगे रहे। कुमार जयमंगल को कुल 94 हज़ार 22 वोट मिले। बेरमो उप चुनाव में कुल 18 राउंड की गिनती हुई जिसमें 17 राउंड तक ईवीएम और 18वें राउंड में वीवीपैट स्लिप की काउंटिंग हुई।

जीत पर झामुमो की प्रतिक्रिया

झामुमो के केंद्रीय महासचिव सुप्रीयो भट्टाचार्य ने उपचुनाव में जीत के लिए दुमका और बेरमो की जनता का धन्यवाद किया है। उन्होने कहा कि, भाजपा ने जनता के बीच भ्रम फैलाने की कोशिश की। हालांकि, जनता ने बीजेपी के झूठ का पर्दाफाश कर दिया है। तीन-तीन पूर्व मुख्यमंत्री दुमका और बेरमो में चुनाव प्रचार किए और दोनों ही सीटों पर जनता ने करारा जवाब दिया है। कोरोना काल में जिस तरह हेमंत सोरेन सरकार ने काम किया उसका जनता ने वोट देकर जवाब दिया है। पार्टी दुमका और बेरमो की जीत सरना धर्म कोड को लेकर सरकार के निर्णय के समर्थन के तौर पर देखती है।

जीत का जश्न

बेरमो की जीत से कांग्रेस गदगद

बेरमो विधानसभा उप चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी कुमार जयमंगल उर्फ अनूप सिंह की जीत से पार्टी बेहद खुश है। पार्टी ने इसे आशानुरुप परिणाम बताया है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रामेश्वर उरांव ने कहा कि, बेरमो की जनता से कांग्रेस के प्रति 5 साल के लिए भरोसा जताया था। हालांकि, कांग्रेस विधायक राजेंद्र सिंह के निधन के कारण फिर से चुनाव कराना पड़ा। बेरमो की जनता ने एकबार फिर से कांग्रेस के प्रति अपना समर्थन दोहराया है। लिहाज़ा, क्षेत्र की जनता को कांग्रेस अपना धन्यवाद अर्पित करती है। कांग्रेस विधायक दल के नेता आलमगीर आलम ने कहा कि, भाजपा की अनर्गल बयानबाज़ी का दुमका और बेरमो की जनता ने मुंहतोड़ जवाब दिया है। चुनाव परिणाम से साफ है कि, झारखंड की जनता हेमंत सोरेन सरकार के कामकाज से खुश है।

ये भी पढ़ें…Bihar Election Result 2020: जिधर महिला और युवा वोटर, उसका बेड़ा पार

भाजपा के लिए हार के मायने

दुमका और बेरमो उप चुनाव में भाजपा ने पूरी ताकत के साथ उम्मीदवार उतारे। पार्टी के तीन-तीन पूर्व मुख्यमंत्री चुनाव प्रचार में जुटे रहे। हेमंत सोरेन सरकार के पिछले 10 महीनों के कामकाज को लेकर सवाल खड़े किए गए। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने तो यहां तक कह दिया कि, अगले तीन महीने में हेमंत सोरेन की सरकार गिर जाएगी और बीजेपी सत्ता में वापस आएगी। साफ है कि, भाजपा किसी भी क़ीमत पर दुमका और बेरमो सीट जीतना चाहती थी। हालांकि, ऐसा हो नहीं सके। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश के कमान संभालने के बाद पहला चुनाव था जहां पार्टी को करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा है। ऐसे में उनके नेतृत्व पर भी सवाल खड़े होंगे।

शाहनवाज़ की रिपोर्ट

दोस्तो देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें

Monika

Monika

Next Story