जामा मस्जिद पर बढ़ाई गई सुरक्षा, भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद ने कही ऐसी बात

सीएए और एनआरसी के विरोध में आज जामा मस्जिद में हो रहे प्रदर्शन में चंद्रशेखर शामिल हुए। भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर गुरुवार को ही शर्तों के साथ जमानत पर रिहा हुए हैं।

नई दिल्ली: सीएए और एनआरसी के विरोध में आज जामा मस्जिद में हो रहे प्रदर्शन में चंद्रशेखर शामिल हुए। भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर गुरुवार को ही शर्तों के साथ जमानत पर रिहा हुए हैं।

प्रदर्शन में पहुंचे चंद्रशेखर ने कहा कि कोर्ट की सभी शर्तों को मानेंगे और आज शाम तक दिल्ली से वापस लौट जाएंगे। चंद्रशेखर ने जामा मस्जिद पहुंचने पर सबसे पहले संविधान की प्रस्तावना पढ़ी।

उसके बाद उन्होंने कहा, ‘शांतिपूर्ण विरोध हमारी ताकत है। सभी धर्मों के लोग जो हमारा समर्थन करते हैं, उन्हें बड़ी संख्या में हमारे साथ मिलकर यह साबित करना चाहिए कि ये विरोध अकेले मुसलमानों के नेतृत्व में नहीं हो रहा।’

ये भी पढ़ें…भीमा-कोरेगांव हिंसा: इस मामले में पुणे पुलिस लेगी अमेरिकी जांच एजेंसी की मदद

पत्रकारों से बातचीत करते हुए आजाद ने कहा कि वो कोर्ट के आदेश का पालन करेंगे, और शाम तक दिल्ली से बाहर चले जाएंगे। दिल्ली पुलिस ने चंद्रशेखर के जामा मस्जिद जाने पर कहा, ‘कल तिहाड़ जेल से रिहा होने के बाद दिल्ली छोड़ने के लिए उनके (चंद्रशेखर आजाद) पास 24 घंटे का समय है। वो जामा मस्जिद पर कोई विरोध नहीं कर रहे।’

बता दें कि दिल्ली के दरियागंज हिंसा मामले में भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद को कोर्ट के आदेश के बाद गुरुवार को तिहाड़ जेल से रिहा किया गया था।

बुधवार को उन्हें दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट ने जमानत दी थी। जमानत मिलने के अगले दिन उन्हें रिहा किया गया।
उन्होंने शुक्रवार को दोपहर एक बजे जामा मस्जिद जाने की घोषणा की थी। साथ ही उन्होंने रविदास मंदिर, गुरुद्वारा और चर्च जाने की भी घोषणा की है।

ये भी पढ़ें…भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं का धारना प्रदर्शन, देखें तस्वीरें

इस शर्त पर दी जमानत

जबकि कोर्ट ने इस शर्त पर उन्हें जमानत दी है कि वो अगले चार सप्ताह तक दिल्ली में नहीं रहेंगे। जमानत देते समय कोर्ट ने यह भी कहा था कि शांतिपूर्ण विरोध-प्रदर्शन करना नागरिकों का मौलिक अधिकार है। सरकार नागरिकों को उनके मौलिक अधिकार से वंचित नहीं कर सकती।

चंद्रशेखर हर शनिवार देंगे हाजरी

बता दें कि दिल्ली में अगले महीने विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। ऐसे में सुरक्षा की दृष्टि से इसमें कोई खलल न पड़े, इसके लिए भीम आर्मी तीफ चंद्रशेखर आजाद को ये निर्देश दिए गए हैं, कोर्ट ने यह भी कहा कि इस मामले में जब तक चार्जशीट दायर नहीं हो जाती, चंद्रशेखर यूपी के सहारनपुर में हर शनिवार को एसएचओ के सामने अपनी हाजरी देंगे।

ये भी पढ़ें…मायावती की बैठक मेें भीम आर्मी की चर्चा, देखें ये खास तस्वीरें