Top

बुआजी अब हो जाएं टेंशन फ्री, चंद्रशेखर बाहर आ गया है: रावण

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 19 Sep 2018 1:43 PM GMT

बुआजी अब हो जाएं टेंशन फ्री, चंद्रशेखर बाहर आ गया है: रावण
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

सहारनपुर: जेल से रिहा होने के बाद पहली बार भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर ने बुधवार को सभा को संबोधित किया। भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर ने कहा, कि उनकी लड़ाई संविधान विरोधी ताकतों से है। वह बहुजन समाज के माध्यम से चेतावनी देते हैं कि 2019 में मोदी जी से सत्ता छीन लेंगे। उन्होंने बसपा मुखिया मायावती को बुआ जी कहते हुए कहा, कि बुआ जी को भाजपा सीबीआई के दुरुपयोग से डरा रही है। लेकिन बुआ जी को अब डरने की जरूरत नहीं है। चंद्रशेखर आ गया है। मोदी जी अब उन्हें डरा नहीं पाएंगे।

सबकी उम्‍मीद पर खरे उतरने की रहेगी कोशिश

कस्बा बेहट के मोहल्ला खालसा स्थित संत रविदास मंदिर परिसर में बुधवार दोपहर बाद आयोजित सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, कि वह मंगलवार को दारुल उलूम गए थे, मौलाना अरशद मदनी साहब से मिलने। उन्होंने उनसे आशीर्वाद लिया। मदनी साहब ने उन्हें एक बात कही, जिसे वह यहां दोहरा रहे है। उन्होंने उनसे कहा, कि उन्हें उनसे बड़ी उम्मीद है। वह सभी लोगों को जोड़कर इस देश को बचाने का काम करेंगे। उन्होंने भी मदनी साहब को विश्वास दिलाया है, कि वह अपनी जिम्मेदारियों पर खरा उतरेंगे।

उन्होंने कहा, कि देश में बहुजन 85 प्रतिशत की जगह 90 प्रतिशत आबादी में है। उनको अधिकार के तौर पर सिर्फ 10 प्रतिशत मिला है और जो यहां गलत वह संप्रदायिक ताकतें है, वह आज तक राज करती आई हैं। उनकी एक ही नीति है। लॉर्ड डलहौजी वाली, फूट डालो और राज करो। लेकिन हम इस नीति को बदल देंगे। हम सामाजिक ताने-बाने और सामाजिक ढांचे को एक करने का काम करेंगे। यह एकता इतनी बड़ी होगी, कि जिसके आगे किसी का डंडा नहीं चलेगा। जिस पर किसी भी सरकार का कोई जोर नहीं चलेगा, जिसमें कोई सरकार निर्दोष को परेशान नहीं कर पाएगी। किसी गरीब या बहन का अपमान नहीं होगा। एक ऐसा प्यार बनेगा, कि लोगों को कोई भी डरा नहीं पाएगा।

भाई-भाई को लड़ा रही बीजेपी

चंद्रशेखर ने कहा, कि केंद्र एवं प्रदेश की सत्ता संभाल रही भाजपा के लोग भाई को भाई से लड़ाने का काम कर रहे हैं। लेकिन अब उनकी यह नीति नहीं चलेगी। वह 16 महीने जेल में रहकर आए है। जेल जाने का डर नहीं है। अगर बहुजन मिशन के लिए उन्हें जान भी देनी पड़ी, तो वह पीछे नहीं हटेंगे। उन्होंने कहा, कि बहुजन की आवाज मोदी और योगी को सत्ता से बेदखल करने का काम करेगी।

उन्होंने कहा, कि प्रधानमंत्री ने लोगों को जनधन योजना खाते में 15 लाख देने और 2 करोड लोगों को रोजगार देने का वायदा किया था, लेकिन किसी को कुछ नहीं दिया। सिर्फ लूटने का काम किया है। यह भ्रष्टाचारी और तानाशाही लोग है। नोटबंदी करते है। यूपी में जितने एनकाउंटर भाजपा सरकार ने कराए है, उन 200 एनकाउंटर में से 180 दलित और मुस्लिम लोगों के कराए है। यह लोग साबित क्या करना चाहते है? क्या दलित मुस्लिम ही इस देश में चोर और बदमाश है? क्या ओबीसी समाज व बहुजन समाज ही इस देश में आतंकवादी है? इन लोगों की विचारधारा गलत है। नीतियां गलत है, जो देश को बांटना चाहते है।

सांप्रदायिक ताकतों को सबक सिखाने का समय

चंद्रशेखर ने कहा कि बहुजन समाज को एक मंच पर आकर इन सांप्रदायिक ताकतों को सबक सिखाने का काम करना होगा। इसके लिए भीम आर्मी पहले से तैयार है। उन्होंने लोगों से चंद्रशेखर जिंदाबाद के नारे न लगाने की अपील की और कहा, कि यह उनकी व्यक्तिगत लड़ाई नहीं है। बल्कि पूरे बहुजन समाज की लड़ाई है, इसलिए बहुजन समाज जिंदाबाद के नारे लगाएं। उन्होंने कहा, कि 2019 का चुनाव संविधान विरोधी एवं संविधान समर्थकों के बीच होने वाली लड़ाई है। यह बहुजन समाज के वजूद की लड़ाई है।

उन्होंने कहा, कि एक तरफ संविधान को हटाने की बात कर रही भाजपा है, तो दूसरी तरफ अमन पसंद, सेक्यूलर और बहुजन समाज के लोग है, जो संविधान के पक्ष में खड़े है। संविधान हमें आज़ादी देता है। बाबा साहब ने संविधान में सभी धर्मों व जातियों के लोगों के लिए व्यवस्था की है, लेकिन भाजपा सभी की धार्मिक भावनाओं के साथ खिलवाड़ कर रही है। शरीयत के साथ छेड़छाड़ की जा रही है। तीन तलाक के मामले में मुस्लिमों को घेरा जा रहा है। मुस्लिमों के बर्तन चेक हो रहे हैं। उनसे पूछा जा रहा है, कि क्या खा रहे हो? भीड़ बनाकर मुस्लिमों को मारा जा रहा है। डर का माहौल पैदा किया जा रहा है, लेकिन वह चेताना चाहते हैं कि हमारी एकता के सामने वह किसी को डरा नहीं पाएंगें। यदि ऐसा करने का प्रयास किया गया, तो हम गांव-गांव में भीम आर्मी खड़ी कर देंगे। देश को तोड़ने वालों से ज्यादा देश को जोड़ने वालें बहुजनों की संख्या है। यदि जाति और धर्म के नाम पर उत्पीड़न हुआ, तो उन लोगों को हमें झेलना मुश्किल हो जाएगा। हम सरकार बनाना भी जानते हैं और चलाना भी।

किसानों और बेरोजगारों पर संकट

चंद्रशेखर ने कहा कि किसान मर रहा है। बेरोजगारी ने कमर तोड़ दी है। किसानों को लोन देने के नाम पर भारी ब्याज देना पड़ रहा है। यदि कोई किसान ब्याज नहीं दे पाता, तो उसको जेल जाना पड़ता है। जबकि भाजपा ने अडानी जैसे लोगों को बिना ब्याज के लोन दिया है। उन्होंने कहा, कि बहुजन समाज जाग चुका है। देश का अगला प्रधानमंत्री बहुजन समाज से होगा। वह एक बार फिर भाजपा के लोगों को चेताना चाहते है, कि यदि ज्यादा शोषण किया गया, तो घरों पर बोर्ड लगवा देंगे, कि भाजपा प्रत्याशियों का घरों पर आना मना है। लोग कहते है, कि वह भाजपा को ही क्यों कोसते हैं। भाजपा को इसलिए कोसते हैं, क्‍योंकि भाजपा के लोगों ने मेरे 12 भाइयों की हत्या कर दी। मुस्लिमों को भीड़ बनाकर मारा जा रहा है, इसलिए वह भाजपा के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे हैं।

उन्होंने कहा, कि संविधान को सुरक्षित रखने के लिए भाजपा को रोकना है और उसका एक ही विकल्प है गठबंधन। उन्होंने उन अटकलों को भी दूर किया, कि वह चुनाव लड़ेंगे। उन्होंने कहा, कि भीम आर्मी कोई चुनाव नहीं लड़ेगी। मजबूती के साथ गठबंधन का साथ दिया जाएगा। इस मौके पर भीम आर्मी के राष्ट्रीय अध्यक्ष विनय रतन, राष्ट्रीय प्रवक्ता मनजीत सिंह नौटियाल, नगर पंचायत अध्यक्ष अब्दुल रहमान उर्फ शालू, पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष शाह महमूद हसन आदि भी मौजूद रहे।

उधर, इससे पूर्व भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर का बेहट में पहुंचने पर भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं एवं समर्थकों की भीड़ ने स्वागत किया। बेहट में प्रवेश करते ही कार्यकर्ताओं एवं समर्थकों की भीड़ ने उनकी गाड़ी को घेर लिया। हालांकि वह गाड़ी से नीचे नहीं उतरे। उनकी गाड़ी समर्थकों की भीड़ के बीच कार्यक्रम स्थल तक पहुंची। यहां महिलाओं एवं समर्थकों की भीड़ ने उन पर पुष्प वर्षा की।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story