झंडारोहण में चले थप्पड़: कांग्रेसी नेताओं में दे-दनादन, CM के सुरक्षाकर्मियों ने खदेड़ा

Published by Shivani Awasthi Published: January 26, 2020 | 1:18 pm
Modified: January 26, 2020 | 1:56 pm

इंदौर: मध्य प्रदेश में गणतंत्र दिवस (Republic Day 2020) के मौके पर झंडारोहण (Flag Hosting) होने से पहले कांग्रेस के नेता (Clash Between Congress Leaders) आपस में भिड़ गये। आलम ये हुआ कि नेताओं के बीच थप्पड़ और लात घूसों से बात होने लगी। मामला गरमा गया। इसे देख मुख्यमंत्री कमलनाथ की सुरक्षा में लगे पुलिस अधिकारियों को बीच बचाव करना पड़ा। दोनों को कार्यक्रम स्थल से बाहर कर दिया। हालाँकि सीएम इन सब के बावजूद समय पर मंच पर पहुंचे और उन्हें तिरंगा फहराया।

कांग्रेस कार्यालय में झंडारोहण से पहले नेताओं में मारपीट:

देश संविधान दिवस का जश्न मना रहा है। इसी कड़ी में भारत के हर राज्य में सरकारें तिरंगा फहरा कर इसे सलामी दे रहे हैं। लेकिन इस बीच झंडारोहन से पहले ही नेताओं के बीच मारपीट होने की खबर मिल रही है। मामला मध्य प्रदेश का है, जहां मुख्यमंत्री कमल नाथ तिरंगा फहराने वाले थे, लेकिन इससे पहले ही कांग्रेस के दो नेता मारपीट करने लगे।

ये भी पढ़ें: Republic Day Live: जमीन पर T-90 भीष्म टैंक, आसमान में मिसाइल की नुमाइश

सीएम कमलनाथ भी मौके पर थे मौजूद:

दरअसल, राज्य के इंदौर जिले में स्थित कांग्रेस कार्यालय गांधी भवन में झंडा रोहण से पहले ही कांग्रेस नेताओं के बीच विवाद हो गया। कार्यक्रम स्थल पर देवेंद्र यादव और चंदू कुंजीर के बीच जमकर बहस हुई, इसके बाद दोनों ने एक दूसरे को थप्पड़ मारना शुरू कर दिया। यह देख वहां सीएम की सुरक्षा के लिए लगे पुलिस अधिकारी दौड़े और दोनों को खींच कर अलग किया।

ये भी पढ़ें: ARMY का फुल फॉर्म: 100 में से 99 लोग नहीं जानते, आइए आपको बताते हैं

सीएम की सुरक्षा में लगी पुलिस ने दोनों को कार्यक्रम से बाहर खदेड़ा:

इसके बाद सीएसपी डीके तिवारी ने चंदू कुंजीर को कार्यक्रम स्थल से बाहर कर दिया। कुछ देर बाद सीएम कार्यक्रम स्थल पर पहुंचे, इस दौरान उनका स्वागत करने के लिए कांग्रेस नेताओं में धक्का-मुक्की शुरू हो गई।

इसके बाद सीएम मंच पर पहुंचे और तिरंगा फहराया। वैसे अभी तक ये स्पष्ट नहीं हो सका है कि दोनों कांग्रेस नेताओं के बीच विवाद क्यों हुआ था।

ये भी पढ़ें: ARMY का फुल फॉर्म: 100 में से 99 लोग नहीं जानते, आइए आपको बताते हैं