Top

बिहार शेल्टर होम रेप केस: सीएम नीतीश ने विपक्ष पर बोला हमला, कहा-केवल राजनीति हो रही है

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 6 Aug 2018 7:52 AM GMT

बिहार शेल्टर होम रेप केस: सीएम नीतीश ने विपक्ष पर बोला हमला, कहा-केवल राजनीति हो रही है
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

पटना: बिहार के मुजफ्फरपुर के शेल्टर होम में लड़कियों के साथ रेप की घटना पर सियासत गरमाने लगी है। इस बीच सीएम नीतीश कुमार ने सोमवार को विपक्ष के हमलों पर सवाल उठाते हुए कहा कि इस मसले पर केवल राजनीति हो रही है। वह इस घटना से शर्मसार हैं और उनकी सरकार ने इस मामले की हाई कोर्ट की निगरानी में सीबीआई जांच की मांग की है।

कैंडल मार्च पर उठाये सवाल

नीतीश ने दिल्ली में आरजेडी के नेतृत्व में मुजफ्फरपुर कांड पर आयोजित विपक्ष के धरने पर जमकर निशाना साधा। सीएम ने जेडीयू के पूर्व नेता शरद यादव को आड़े हाथों लिया। उन्होने कहा कि धरना में बैठे लोग इतने संवेदनशील मुद्दे पर हंस रहे थे। यहां तक कि महिलाओं के खिलाफ अपशब्द बोलने वाले नेता हाथ में कैंडल लेकर मार्च कर रहे थे।

ये भी पढ़ें...मुजफ्फरपुर शेल्टर होम रेप केस: CM नीतीश बोले, गड़बड़ी करने वाले होंगे अंदर, कोई नहीं बचेगा

मेरी चुप्पी का गलत मतलब निकाला

सीएम नीतीश ने कहा कि उनकी सरकार ने ही इस मामले की जांच कराई थी। उन्होंने कहा, 'मेरी चुप्पी का गलत मतलब निकाला गया है। हमने हाईकोर्ट से इस मामले की जांच उनकी निगरानी में कराने की मांग की है। TISS की रिपोर्ट के बाद हमने ऐक्शन लेना शुरू कर दिया है। सरकार द्वारा प्रशासनिक कार्रवाई की जा रही है। हमने इस घटना की जांच सीबीआई से कराने का आदेश दिया है।'

दिल्ली में विपक्ष के धरने पर जमकर साधा निशाना

नीतीश कुमार ने विपक्ष के धरने पर चुन-चुनकर निशाना साधा। उन्होंने कहा, 'राजनीतिक हमला किया जा रहा है। समय आएगा तो इधर से भी जवाब मिलेगा और तब बात समझ में आएगी। इस तरह के संवेदनशील मुद्दे पर आयोजित धरने में लोग हंस रहे थे। कौन-कौन लोग उस कैंडल मार्च में शामिल थे। महिलाओं के प्रति अपशब्द बोलने वाले नेता भी इसमें शामिल थे। उनके अपशब्द के कारण उनकी काफी आलोचना हुई थी।' शरद यादव का बिना नाम लिए नीतीश ने कहा, 'परकटी कहा था न? ऐसे लोग भी कैंडल मार्च में शामिल थे। कोई भी सरकार रहे इस तरह की घटना कहीं भी हो सकती है। हम कानूनी कार्रवाई कर रहे हैं। कोई समझौता नहीं कर रहे हैं। किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा।'

मंत्री मंजू वर्मा का किया बचाव

नीतीश कुमार मुजफ्फपुर मामले में नाम आने वाले मंत्री मंजू वर्मा का बचाव करते हुए कहा, 'मंत्री ने मुझसे मिलकर सफाई दी है। मैंने जो पूछा उसका मंत्री ने जवाब दिया। किसी को बेवजह कैसे जिम्मेदार ठहराया जाए। मंत्री के स्तर पर कोई निर्णय हुआ होगा तो उसपर भी कार्रवाई करेंगे लेकिन, यह कहना कि मंत्री को हटा दें यह सही नहीं होगा। मामले की जांच सीबीआई कर ही रही है। किसी को बख्शा नहीं जाएगा।' बता दें कि बीजेपी ने सीपी ठाकुर और गोपाल नारायण सिंह ने जांच होने तक मंत्री मंजू वर्मा को हटाने की मांग की थी।

ब्रजेश ठाकुर के साथ तस्वीर पर दी सफाई

सीएम नीतीश ने मुजफ्फरपुर शेल्टर होम मामले के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर के साथ अपनी और डेप्युटी सीएम सुशील कुमार मोदी तथा आरजेडी चीफ लालू यादव की तस्वीर पर भी सफाई दी। उन्होंने कहा, 'वह (ब्रजेश) पत्रकार भी था। किसी भी व्यक्ति की तस्वीर किसी के साथ हो सकती है। इसपर बवाल किया जा रहा है। जितने लोग अब बोल रहे हैं कि उन्हें घटना की जानकारी थी तो पहले क्यों नहीं बताया।'

घटना शर्मसार करने वाली, सिस्टम में गड़बड़ी

नीतीश ने कहा कि यह घटना शर्मसार करने वाली है। उन्होंने कहा, 'घटना के बारे में मैं बहस नहीं करना चाहता हूं। यह शर्मसार करने वाली घटना है। पूरे सिस्टम में ही गड़बड़ी है। समाज कल्याण विभाग के प्रधान सचिव ने ही इस पूरे मामले की जांच करवाया था। जिसे जो बोलना है बोले, हमलोग इस तरह की घटना से चिंतित हैं। हम शेल्टर होम की जिम्मेदारी एनजीओ को देने के खिलाफ हैं। मैंने समाज कल्याण विभाग को सलाह दी है कि ऐसे शेल्टर होम की निगरानी और संचालन राज्य सरकार द्वारा हो। यह काम चरणबद्ध तरीके से लागू किया जाएगा।'

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story