Top

UP: CM ने 'शाम तक' की कार्रवाई, 3 अफसर सस्पेंड, CMO का ट्रांसफर

aman

amanBy aman

Published on 14 Aug 2017 4:02 PM GMT

UP: CM ने शाम तक की कार्रवाई, 3 अफसर सस्पेंड, CMO का ट्रांसफर
X
कैबिनेट मीटिंग : यूपी में ई-टेंडरिंग से होगी स्वास्थ्य विभाग में खरीद
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गोंडा: प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने बाढ़ राहत कार्यों में लापरवाही बरतने वाले जिले के प्रभारी जिला पूर्ति अधिकारी पूरन सिंह, पशुधन प्रसार अधिकारी के.पी. द्विवेदी तथा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, करनैलगंज के चिकित्साधिकारी डाॅ. अजीत प्रताप को निलंबित करने के निर्देश दिए हैं। जबकि सीएमओ डॉ. आभा आशुतोष का तबादला कर दिया गया है।

बता दें, कि सोमवार (14 अगस्त) को सीएम योगी ने गोंडा के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया था। जिसमें उन्होंने लापरवाही बरतने वाले अफसरों पर शाम तक कार्रवाई करने की बात कही थी।

ये भी पढ़ें ...योगी ने बाढ़ पीड़ितों में बांटी राहत सामग्री, बोले- शाम तक होगी कार्रवाई

जिले के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के भ्रमण के दौरान सीएम के संज्ञान में आया कि पशुधन प्रसार अधिकारी केपी द्विवेदी बाढ़ ड्यूटी से अनुपस्थित हैं। इसी प्रकार, बाढ़ राहत केन्द्र भटपुरा में तैनात डॉ. अजीत प्रताप के बारे में शिकायतें मिलीं, कि वे भी अक्सर गायब रहते हैं। प्रभारी जिला पूर्ति अधिकारी पूरन सिंह के बारे में बताया गया कि वे 2 अगस्त, 2017 से बिना सूचना के अनुपस्थित हैं। इस पर सख्त रुख अपनाते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इन अधिकारियों के निलंबन का निर्णय लिया।

आगे की स्लाइड में पढ़ें पूरी खबर ...

सीएमओ का ट्रांसफर

सीएम योगी ने बाढ़ राहत कार्यों में लापरवाही पाए जाने पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डॉ. आभा आशुतोष के ट्रांसफर का आदेश दिया है।

अधिकारियों एवं कर्मचारियों को किया सचेत

मुख्यमंत्री ने बाढ़ ड्यूटी करने वाले सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों को सचेत किया है कि वे अपने दायित्वों का जनहित में निष्ठापूर्वक निर्वहन करें। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में खाद्यान्न, पेयजल, औषधि, अन्य आवश्यक सामग्री सहित पशुओं के चारे की सुचारू व्यवस्था प्रत्येक दशा में सुनिश्चित की जाए तथा लोगों को राहत पहुंचाने एवं बचाव कार्य के लिए पर्याप्त संख्या में नाव की उपलब्धता सुनिश्चित रखी जाए।

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story