यूपी कांग्रेस अध्यक्ष की रिहाई की मांग को लेकर पार्टी का हल्लाबोल, दिया धरना

सेवादल मध्य जोन के अध्यक्ष राजेश सिंह काली ने बताया कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष की अलोकतांत्रिक तरीके से की गयी गिरफ्तारी और जेल में उनसे किसी को भी न मिलने दिये जाने के विरूद्ध हम सभी सेवादल के स्वयंसेवक सांकेतिक उपवास एवं धरना देकर आपसे मांग करते हैं कि हमारे प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू पर दर्ज फर्जी मुकदमें को वापस लेकर तत्काल उन्हें ससम्मान रिहा किया जाए।

मनीष श्रीवास्तव

लखनऊ। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू की रिहाई की मांग को लेकर यूपी कांग्रेस सेवादल ने मंगलवार को पूरे प्रदेश में सांकेतिक उपवास व धरना दिया। धरने के बाद राज्यपाल को संबंधित ज्ञापन जिला प्रशासन के अधिकारियों को सौंपा।

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू का रिहाई की मांग

सेवादल मध्य जोन के अध्यक्ष राजेश सिंह काली ने बताया कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष की अलोकतांत्रिक तरीके से की गयी गिरफ्तारी और जेल में उनसे किसी को भी न मिलने दिये जाने के विरूद्ध हम सभी सेवादल के स्वयंसेवक सांकेतिक उपवास एवं धरना देकर आपसे मांग करते हैं कि हमारे प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू पर दर्ज फर्जी मुकदमें को वापस लेकर तत्काल उन्हें ससम्मान रिहा किया जाए।

सेवादल ने किया उपवास एवं धरने का आयोजन

उन्होंने बताया कि आज पूरे प्रदेश में सेवादल द्वारा उपवास एवं धरने का आयोजन किया गया। जिसमे वाराणसी में सेवादल के प्रदेश अध्यक्ष डा. प्रमोद कुमार पाण्डेय के नेतृत्व में, पश्चिमी जोन बागपत में अनिल देव त्यागी, बुन्देलखण्ड जोन में लक्ष्मी नारायण दीक्षित तथा कानपुर में संगीत तिवारी के नेतृत्व में, पूर्वी जोन के चन्दौली में सतीश बिन्द के नेतृत्व में सेवादल द्वारा उपवास व धरना दिया गया।

ये भी पढ़ेंः यूपी सरकार के 3 हजार करोड़: शुरू होगा ये काम, हर मजदूर को मिलेगा रोजगार

जिला प्रशासन को सौंपा ज्ञापन

सेवादल ने अपने ज्ञापन में कहा है कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू सिर्फ प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष ही नहीं बल्कि देश की सबसे बड़ी विधानसभा के दो बार सम्मानित सदस्य हैं। वर्तमान सरकार और प्रशासन प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू के मौलिक अधिकारों का भी हनन कर रहा है। उन्हें अपने अधिवक्ता से भी नहीं मिलने दिया जा रहा है। उनके ऊपर फर्जी तरीके से गंभीर धाराएं लगाई गयी हैं। उन्हें अपनी ही पार्टी के सांसदों और विधायकों, नेता विधानमंडल दल से नहीं मिलने दिया जा रहा है। जेल में आम अपराधी जैसे बर्ताव हो रहा है।

अजय कुमार लल्लू ने श्रमिकों के लिए की कोशिश, सरकार ने करवाई गिरफ्तारी

ज्ञापन में कहा गया है कि अजय कुमार लल्लू ने प्रदेश के प्रवासी श्रमिकों को वापस लाने के लिए प्रदेश सरकार से लगातार अपील की। इसके बाद श्रमिकों को वापस लाने के लिए पार्टी द्वारा उपलब्ध करायी गयीं और 1000 से अधिक बसों को प्रदेश के गाजियाबाद और नोएडा के बार्डर पर खड़ी की गयीं लेकिन उन्हें प्रदेश के अन्दर अनुमति नहीं दी गई और वह बसें वापस चली गयीं और श्रमिक अभी भी पैदल हजारों किलोमीटर चलने के लिए मजबूर हैं। अजय कुमार लल्लू ने श्रमिकों की भलाई के लिए जी-जान से कोशिश किया लेकिन सरकार ने उनकी बात नहीं मानी जबकि खुद उन्हें ही गिरफ्तार कर लिया गया और गिरफ्तार कर 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App