RPF के 9 कर्मचारी कोरोना संक्रमित, TMC ने पूछा- लॉकडाउन में क्यों की यात्रा?

देश में कोरोना वायरस तेजी से पांव पसार रहा है। देश में कोरोना वायरस को लेकर राजनीति भी तेज हो गई। इस जानलेवा वायरस के मामले पर केंद्र की मोदी सरकार और पश्चिम बंगाल की ममता सरकार आमने-सामने है।

कोलकाता: देश में कोरोना वायरस तेजी से पांव पसार रहा है। देश में कोरोना वायरस को लेकर राजनीति भी तेज हो गई। इस जानलेवा वायरस के मामले पर केंद्र की मोदी सरकार और पश्चिम बंगाल की ममता सरकार आमने-सामने है। तृणमूल कांग्रेस के सांसद डेरेक ओब्रायन ने केंद्र सरकार से पूछा कि कोरोना संक्रमितों ने लॉकडाउन में यात्रा क्यों की?

दरअसल रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) के नौ कर्मचारी के दिल्ली से पश्चिम बंगाल लौटने थे जो जांच में कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। टीएमसी के राज्यसभा सांदस ने इस की लेकर सवाल पूछा है। डेरेक ओब्रायन ने सवाल किया कि इन लोगों ने जानलेवा वायरस को फैलने से रोकने के लिए लागू राष्ट्रव्यापी बंद के दौरान यात्रा क्यों की।

यह भी पढ़ें…जानिए कैसे नुकसान भी पहुंचाता है एप्पल साइडर विनेगर

दक्षिण पूर्व रेलवे के प्रवक्ता संजय घोष ने बताया कि ये सभी कर्मचारी रेलवे के खड़गपुर मंडल के 28 सदस्यीय आरपीएफ दस्ते में शामिल थे, जो पार्सल एक्सप्रेस ट्रेन में सवार होकर हथियारों एवं गोला-बारूदों के माल के साथ 14 अप्रैल को दिल्ली से लौटे थे।

यह भी पढ़ें…चीन ने पाकिस्तान को बनाया कठपुतली, खुद के फायदे के लिए बिछाया जाल

उन्होंने बताया कि एक कॉन्स्टेबल में कोरोना वायरस के लक्षण दिखने के बाद बृहस्पतिवार को पश्चिम बंगाल के एक सरकारी अस्पताल में उसकी की जांच की गई। घोष ने बताया कि जांच में कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद उसे उलूबेरिया के कोविड-19 के लिए चिह्नित निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि आठ अन्य भी जांच में संक्रमित पाए गए।

यह भी पढ़ें…कोरोना का कहर: पहली बार वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से हुई पासिंग आउट सेरेमनी

इस मामले पर तृणमूल सांसद ने ट्वीट कर चिंता जाहिर की और कहा कि परेशान करने वाली खबर सामने आ रही है। बंगाल में आरपीएफ के नौ कर्मचारी संक्रमित पाए गए हैं। खड़गपुर में छह, मेचेदा और उलूबेरिया में एक-एक मामला है।

ये सभी 14 अप्रैल को ट्रेन से दिल्ली से कोलकाता लौटे थे। संक्रमित मरीज लॉकडाउन के दौरान यात्रा क्यों कर रहे थे? उन्हें किसने भेजा? स्क्रीनिंग क्यों नहीं हुई? उन्होंने कितने लोगों से मुलाकात की?

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App