Top

बेग बंधुओं का Criminal Record देख भड़के अखिलेश, बैरंग लौटाया

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 17 Feb 2018 3:57 PM GMT

बेग बंधुओं का Criminal Record देख भड़के अखिलेश, बैरंग लौटाया
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ : बसपा छोड़ समाजवादी पार्टी में शामिल होने की कोशिशों में लगे सुल्तान बेग को बड़ा झटका लगा है। बसपा के टिकट पर तीन बार विधायक रहे सुल्तान बेग के टायर चोरी और रेप के आरोप में जेल जाने का मामला सपा मुखिया की जानकारी में आने के बाद बेग बंधुओं की ज्वॉइनिंग रोक दी गई। जिस की वजह से पार्टी ऑफिस में ज्वॉइनिंग करने पहुंचे सुल्तान बेग को बैरंग लौटना पड़ा। इस दौरान बेग के समर्थक मायूस नजर आए।

ये भी देखें: प्रमोद मौर्य समेत कई सपा में गए, BJP पर जमकर बरसे अखिलेश

बरेली से टायर चोरी, बलात्कार और गैंगेस्टर के आरोपों में जेल जा चुके सुल्तान बेग की समाजवादी पार्टी में शामिल होने की हसरतों पर पानी फिर गया है। मीरगंज विधान सभा बरेली से समाजवादी पार्टी छोड़ कर बसपा के टिकट पर चुनाव लड़ने वाले सुल्तान बेग एक बार फिर समाजवादी पार्टी में शामिल होना चाहते थे। सुल्तान बेग के साथ ही उन के भाई और भोजीपुरा बरेली से बसपा उम्मीदवार रहे सुलेमान बेग ने दल बल के साथ समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव से मुलाकात की और पार्टी में शामिल किये जाने की बात रखी। इसी बीच आज बरेली से आज बड़ी संख्या में लखनऊ पहुंचे समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने सुल्तान बेग और सुलेमान बेग का आपराधिक इतिहास पार्टी मुखिया के सामने रख दिया। जिस के अनुसार सुल्तान बेग पर अपहरण, ह्त्या का प्रयास, बलवा, धोखाधड़ी, चोरी, बलात्कार और गैंगेस्टर समेत 11 मुक़दमे दर्ज हैं। जबकि सुलेमान बेग के खिलाफ ह्त्या का प्रयास, धोखाधड़ी और गैंगेस्टर जैसी धाराओं में आठ मुक़दमे दर्ज हैं।

बरेली से विरोध की सुबुगाहट के बीच अखिलेश यादव ने दोनों भाइयों का आपराधिक इतिहास देखने के बाद पार्टी में शामिल करने से मना करते हुए कहा कि इस मामले में मीडिया को जवाब नहीं देते बनेगा। जिस के बाद सुल्तान बेग और सुलेमान बेग को पार्टी ऑफिस से बैरंग लौटा दिया गया। इस पूरे ड्रामे के पीछे स्थानीय राजनीति बताई जा रही है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story