Top

केंद्र की नीतियों के खिलाफ चल रहा था अनशन, पूर्व डीजीपी के इस बयान से बढ़ी हलचल

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 27 Oct 2018 12:54 PM GMT

केंद्र की नीतियों के खिलाफ चल रहा था अनशन, पूर्व डीजीपी के इस बयान से बढ़ी हलचल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

हरदोई: जिले में केंद्र सरकार की कुछ नीतियों का विरोध करने के लिए बीते दिनों कलेक्ट्रेट परिसर में धरने पर बैठे अखिल भारतीय क्षत्रिय कल्याण परिषद के पदाधिकारियों के अनशन के 14 दिन परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष पूर्व डीजीपी यशपाल सिंह ने अनशन कारियों को क्रांतिकारी सिपाही का नाम देते हुए जमकर तारीफ की और अनशन को हर जगह देश प्रदेश तक ले जाने का आवाहन किया।

ये भी पढ़ें:एंबुलेंस की मेडिकल किट में रखे थे कंडोम, जांच करने पहुंचे सीएमओ हैरान

सवर्ण आयोग के गठन की मांग

एससी एसटी एक्ट के संशोधन में सुप्रीम कोर्ट की सिफारिशों को लागू करने एवं सवर्ण आयोग का गठन करने जैसी कई मांगों को लेकर शासन की मुखालफत करने को अखिल भारतीय क्षत्रिय कल्याण परिषद के पदाधिकारियों ने पिछले 13 अक्टूबर से कलेक्ट्रेट परिसर में धरना प्रदर्शन शुरू किया था।प्रदर्शन के 13 दिन बाद ही कल्याण परिषद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पूर्व विधायक गंगा सिंह चौहान ने 14 दिन शुक्रवार को आमरण अनशन की घोषणा की थीl नतीजतन कल्याण परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व डीजीपी यशपाल सिंह ने मौके पर आकर प्रदर्शनकारियों और अनशन कारियों का जमकर उत्साहवर्धन भी किया।

ये भी पढ़ें:शर्मनाक: घर में सो रही किशोरी को फुसला कर ले गए आरोपी, गैंगरेप कर तड़पता छोड़ा

ये बोले पूर्व डीजीपी यशपाल सिंह

पूर्व डीजीपी यशपाल सिंह ने अपने संबोधन में कहा की अखिल भारतीय क्षत्रिय कल्याण परिषद सरकार का विरोध नहीं चाहता है बरन उनका कहना है एससी एसटी एक्ट की भली-भांति समीक्षा करने का उचित समय आ गया है इसलिए केंद्र सरकार को चाहिए कि वह एक्ट की समीक्षा कर इसमें संशोधन करें साथ ही अन्य आयोगों की तरह एक समाना आयोग का भी गठन होना बहुत जरूरी है जिससे जातिगत ना हो करके गरीब तबके को भी आरक्षण का लाभ मिल सकेगा।

ये भी पढ़ें:पटाखा फैक्‍ट्री अग्निकांड से जागा प्रशासन, अवैध पटाखा कारोबारियों पर बड़ी कार्यवाही

sudhanshu

sudhanshu

Next Story