Top

दुनिया में देश की अलग पहचान बनी, यात्री सुविधाओं में किया सुधार: सिन्हा

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 27 May 2017 7:30 AM GMT

दुनिया में देश की अलग पहचान बनी, यात्री सुविधाओं में किया सुधार: सिन्हा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

विजय शंकर पंकज

लखनऊ: केन्द्रीय रेल तथा संचार राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) मनोज सिन्हा की मोदी सरकार में अहम भूमिका मानी जाती है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तथा भाजपा अध्यक्ष अमित शाह उन पर काफी भरोसा करते हैं और यही कारण है कि उन्हें इन दो महत्वपूर्ण विभागों की जिम्मेदारी सांैपी गयी है। बेदाग छवि के मनोज सिन्हा की कार्यकुशलता का ही परिणाम है कि इस समय दोनों ही विभागों में तेजी से काम हो रहा है। मोदी सरकार के तीन वर्ष पूरे होने के बारे में सिन्हा का कहना है कि हमारा पूरा ध्यान विकास कार्यों को तेज करने और विश्व की उच्चतम तकनीक का बेहतर इस्तेमाल करने पर है।

अपना भारत/newstrack.com से बातचीत में श्री सिन्हा ने कहा कि रेलवे और संचार मंत्रालय ऐसे कार्यक्षेत्र हैं जहां प्रतिदिन नयी तकनीकी का इस्तेमाल हो रहा है। ऐसे में भारत को विश्व मानक पर स्थापित करने और प्रतिस्पर्धा में बनाए रखने के लिए हर संभव प्रयास किये जा रहे हैं। वैज्ञानिकों तथा तकनीशियनों के कारण भारत विश्व में अपनी अलग पहचान बनाने में कामयाब हुआ है। तीन साल में केन्द्र सरकार ने रेलवे एवं संचार कार्यों में जो तेजी लाई है, उसकी मांग कई देशों में बढ़ी दी है। सीमित संसाधनों के बावजूद कम समय में ही मुम्बई से गोवा तेजस एक्सप्रेस का संचालन रेलवे क्रांति की ही देन है।

रेलवे ने यात्री सुविधाओं में किया सुधार

भारत इस समय रेलवे के निर्माण तथा तकनीक में विश्व को नयी राह दिखा रहा है। यही नहीं भारत में कई क्षेत्रों में 200 किमी. की गति से ट्रेन को चलाने के लिए तेजी से काम चल रहा है। अब भारत के सभी बड़े शहर तेज गति की इन ट्रेनों से जुड़ जाएंगे। रेलवे से माल ढुलाई में बढ़ोत्तरी करने के लिए अलग कॉरीडोर का निर्माण तेजी पर है। अब रेलवे का नेटवर्क देश के ऐसे सघन क्षेत्रों में भी फैल रहा है जहां लोगों ने ट्रेन आने की कल्पना तक नहीं की थी। यह बात केवल कश्मीर या पूर्वोत्तर के राज्यों के लिए ही नहीं है बल्कि देश के कई अंदरूनी हिस्सों में भी अभी तक रेलवे की पहुंच नहीं हो पाई थी। कई ऐसे स्थानों का भी चयन कर वहां पर रेलवे के संचालन का कार्य किया जा रहा है।

सरकार ने जहां रेलवे के संचालन क्षेत्र को बढ़ाने की दिशा में कदम बढ़ाया गया है। वहीं नयी तकनीक का इस्तेमाल, ट्रेनों की गति बढ़ाने और यात्री सुविधाओं में बड़ा पैमाने पर सुधार कर उन्हें जनभावनाओं के अनुकूल बनाया जा रहा है। अब नई तकनीक से बने ट्रेन के कोच आकर्षक, हल्की तथा द्रुत गति वाले हैं। वहीं यात्री सुविधाओं के लिहाज से भी ट्रेन सेवा काफी बेहतर हुई है। पहले यात्रियों को रिजर्व कोच में जहां बिस्तर की गन्दगी आदि को लेकर शिकायतें रहती थीं मगर अब स्थिति सुधरी है। रेलवे स्टेशनों पर यात्री सुविधाओं में सुधार के साथ ही स्वच्छ पेयजल, यात्रियों के ठहरने, विश्रामालयों आदि में साफ-सफाई का ख्याल रखा जा रहा है। देश में रेलवे तथा संचार मंत्रालय के माध्यम से लाखों लोगों को नौकरी मिली है, वहीं इनके विभिन्न क्षेत्रों में चल रहे कामों से भी लाखों लोग जुड़ïकर अपने परिवार का भरण-पोषण कर रहे हैं। रेलवे तथा संचार मंत्रालय ऐसे विभाग हैं जहां बड़े निजी क्षेत्र की कंपनियों से लेकर गरीब दिहाड़़ी मजदूर भी जुड़ा रहता है।

संचार संसाधनों में आई क्रांति

इसी प्रकार सेटेलाइट के जरिये संचार संसाधनों में क्रान्ति आई है। भारत आज मोबाइल क्षेत्र में विश्व का सबसे बड़ा उपभोक्ता है। यही कारण है कि विश्व की सभी बड़़ी संचार कंपनियां तथा मोबाइल आदि बनाने वाली कंपनियां भारत में निवेश तथा निर्माण कार्य शुरू करने को तैयार हैं। इसी प्रकार अब नेटवर्किंग में भी भारत विश्व के कई बड़े देशों को पछाड़ïने में सक्षम हुआ है। संचार के क्षेत्र में जिस प्रकार की तेजी चल रही है उससे कुछ ही दिनों में भारत के गांवों और हर परिवार को नेटवर्किंग से जोड़ दिया जाएगा। यह भारत में संचार क्रान्ति का युग होगा। अब देश के लोग दुनिया में कहीं से भी अपने परिजनों से जुड़े रहेंगे।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story