Top

चोरों की सीनाजोरी ! खान बोले मीडिया का एजेंडा कश्मीर आंदोलन को बदनाम करना

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 20 May 2017 2:53 PM GMT

चोरों की सीनाजोरी ! खान बोले मीडिया का एजेंडा कश्मीर आंदोलन को बदनाम करना
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

श्रीनगर : घाटी के अलगाववादी नेता नईम खान ने शनिवार को अपने ऊपर किए गए स्टिंग ऑपरेशन के वीडियो को कृत्रिम और फर्जी करार दिया है। एक निजी न्यूज़ चैनल द्वारा किए गए एक स्टिंग ऑपरेशन में नईम खान को कैमरे के सामने यह स्वीकार करते हुए दिखाया गया है कि उन्हें कश्मीर घाटी में अशांति पैदा करने के लिए पाकिस्तान से धन प्राप्त होता है। खान सैयद अली शाह गिलानी के नेतृत्व वाले हुर्रियत कांफ्रेंस के प्रांतीय अध्यक्ष हैं।

वहीँ सैयद अली शाह गिलानी ने अलगावादी नेता नईम खान को हुर्रियत कॉन्फ्रेंस की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया है।

ये भी देखें : भारत में घुसपैठ की फिराक में आतंकी, LOC पर जमावड़ा..इन रूट्स से कर सकते हैं इंट्री

खान ने श्रीनगर में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, भारतीय मीडिया का एजेंडा कश्मीर आंदोलन को बदनाम करना है।

उन्होंने कहा कि चैनल द्वारा दिखाया गया वीडियो अजीब तरह से चलाया गया और सबकुछ संदर्भ से बाहर का था। खान ने कहा, हम संघर्ष के पीड़ितों की मदद के लिए स्थानीय स्तर पर धन जुटाते हैं। जी हां, पाकिस्तान कश्मीर विवाद में एक बुनियादी पक्ष है और वह कश्मीर में आजादी के आंदोलन को समर्थन दे रहा है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story