Top

गोरखपुर: 2019 की चुनाव की लड़ाई लीडर्स और डीलर्स के बीच में है- संबित पात्रा

गोरखपुर पहुंचे भाजपा के राष्‍ट्रीय प्रवक्‍ता संबित पात्रा ने राम मंदिर मुद्दे पर आरएसएस के सह सरकार्यवाह भैयाजी जोशी के जवाब पर कहा कि भाजपा संवैधानिक दायरे में रहते हुए राम मंदिर के निर्माण की पक्षधर है। उन्‍होंने कहा कि कुछ लोग राम मंदिर के निर्माण में देरी के लिए कोर्ट में अडंगा लगा रहे हैं। वहीं उन्‍होंने सपा-बसपा गठबंधन को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि ये दो पार्टियों नहीं, दो डीलरों को गठबंधन है।

Anoop Ojha

Anoop OjhaBy Anoop Ojha

Published on 18 Jan 2019 1:23 PM GMT

गोरखपुर: 2019 की चुनाव की लड़ाई लीडर्स और डीलर्स के बीच में है- संबित पात्रा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गोरखपुर: गोरखपुर पहुंचे भाजपा के राष्‍ट्रीय प्रवक्‍ता संबित पात्रा ने राम मंदिर मुद्दे पर आरएसएस के सह सरकार्यवाह भैयाजी जोशी के जवाब पर कहा कि भाजपा संवैधानिक दायरे में रहते हुए राम मंदिर के निर्माण की पक्षधर है। उन्‍होंने कहा कि कुछ लोग राम मंदिर के निर्माण में देरी के लिए कोर्ट में अडंगा लगा रहे हैं। वहीं उन्‍होंने सपा-बसपा गठबंधन को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि ये दो पार्टियों नहीं, दो डीलरों को गठबंधन है।

य​ह भी पढ़ें.....भाजपा को बहुमत नहीं मगर जोड़तोड़ से एनडीए की सरकार बनेगी

भाजपा के राष्‍ट्रीय प्रवक्‍ता ने कहा कि उन्‍होंने कहा कि 2019 के चुनाव का शंखनाद हो चुका है। राजनीतिक रण सज चुका है। 2019 में देश का प्रधान सेवक कौन होगा। जो बाकी विध्‍वंसक दल हैं वो किस प्रकार से अपनी गतिविधि कर रहे हैं, इसका चिंतन चल रहा है।

संबित पात्रा ने कहा कि एक वाक्‍य में कहना हो 2019 की लड़ाई के विषय में, तो मैं कहूंगा कि ये लड़ाई लीडर्स और डीलर्स के बीच में है। एक पक्ष में एक लीडर खड़ा है और दूसरे पक्ष में कई डीलर्स खड़े हैं। जिन्‍होंने हिन्‍दुस्‍तान को बेचने की कसम खा रखी है। जो लीडर हैं उसका नाम नरेन्‍द्र मोदी है। जिस प्रकार से सबका साथ, स‍बका विकास के मंत्र को लेते हुए ये लीडर लगातार काम कर रहा है। मैं कहना चाहूंगा कि पीएम का अर्थ केवल प्राइम मिनिस्‍टर नहीं होता। पीएम का अर्थ ‘परफारमेंस मतलब परिश्रम और एम का अर्थ‘मेहनत’ होता है।

उन्‍होंने कहा कि एक परिश्रमी प्रधानमंत्री जिन्‍होंने विगत पांच वर्षों में हिन्‍दुस्‍तान के आकार, स्‍वरूप, विकास और गति को आगे बढ़ाने का काम किया है। वे लीडर हैं। वहीं दूसरी ओर ये जो तथा‍कथित लोग जो गठबंधन के नाम पर इकठ्ठे हो रहे हैं। उनके लिए शब्‍द है डीलर्स। बहुत सारे स्‍कैम के माध्‍यम से भ्रष्‍टाचारी गतिविधियों के माध्‍यम से किस प्रकार से देश में डीलिंग कर सकें, वे इसी में लिप्‍त रहे।

य​ह भी पढ़ें.....गठबंधन की काट खोजने लखनऊ पहुंचे जेपी नड्डा, खींचेंगे भाजपा का चुनावी खाका

उन्‍होंने कहा कि तीन-चार दिन पहले दो गुटों का मिलन हुआ है। उसे उन लोगों ने महागठबंधन नाम दिया है। आप ध्‍यान से देखेंगे तो ये भी दो डीलरों की मुलाकात है। आज के अखबार में आप देखेंगे जो डीलर नंबर वन अखिलेश यादव हैं वे 2012 से 2013 के बीच खनन मंत्री थे। उस समय खनन को लेकर डीलिंग की गई। आज एनफोर्समेंट डायरेक्‍टरेट पीएमएलए के माध्‍यम से एफआईआर करा रहा है। उसके बाद हाईकोर्ट ने इसका संज्ञान लिया। सीबीआई को जांच सौंपी गई। शर्म की बात है। अखबार बताते हैं कि अखिलेश जी से पूछताछ हो सकती है। खनिजों को लेकर उनकी डीलिंग चल रही थी।

आप बताइए कि अखिलेश यादव जी की डीलरशिप थी कि नहीं। उत्तर प्रदेश के खनिजों को बेचना ये उनकी डीलरशिप चल रही थी। जब पकड़े गए एफआईआर हो गई है उनके खिलाफ, तो वह त्राहिमाम-त्राहिमाम कर रहे हैं। डीलर रो रहा है। दूसरी ओर एक ऐसी पार्टी है जो पार्टी के अंदर ही डीलिंग करती है। देश को बेचने के साथ टिकटों की डीलिंग भी करती है। टिकट अगर किसी को वितरित करना है तो बिना पैसे के वह टिकट वितरित होता ही नहीं है।

संबित पात्रा ने कहा कि आदरणीय मायावती जी ने कल एक प्रेस कॉन्फ्रेंस किया था। आपने देखा था कल उन्होंने आपके सिर पर ठीकरा फोड़ दिया और कहा कि क्योंकि आप लोगों ने झूठ फैलाया इसलिए वे परिवारवाद को बढ़ावा दे रही है। क्योंकि आप लोगों ने उनके बर्थडे केक को दिखा दिया था। इसलिए वे अपने भतीजे को राजनीति में ले आएंगी और अपने भतीजे को उत्तराधिकारी के रूप में सारा कुछ सौंप देंगी। जिस प्रकार से अपने भाई के माध्यम से उन्होंने उत्तर प्रदेश के सुख-समृद्धि की डीलिंग की है। भाई आज खराबपति बना हुआ है। भतीजे के जूते के विषय में चर्चा मीडिया में हो रही है। क्यों हो रही है करोड़ों लोगों को आज आवश्यकता है कि विकास के माध्यम से उनके जीवन को परिवर्तित किया जाए, मोदी जी ये काम कर रहे हैं।

य​ह भी पढ़ें.....भाजपा संविधान विरोधी पार्टी, यूपी-बिहार से होगा सफाया: तेजस्वी यादव

डीलरों के अंदर सत्ता को पाने की लड़ाई मची हुई है

उन्होंने कहा कि डीलरों के जो डीलर है जिसका नाम ‘डी कंपनी’ रखता हूं। ‘डी कंपनी’ का मतलब दलाल कंपनी है। सभी दलालों की जो बिल्कुल मातृ कंपनी है वह कांग्रेस पार्टी है। कांग्रेस पार्टी को इन दोनों डीलरों ने पीछे छोड़ दिया है। डीलरों के अंदर सत्ता को पाने की लड़ाई मची हुई है। कांग्रेस को दरकिनार किया हुआ है। ऐसे में जिस प्रकार से कांग्रेस पार्टी कंफ्यूज पार्टी के रूप में चीयरलीडर का काम कर रही है। समाजवादी पार्टी और बसपा तो अपने प्रेस कॉन्फ्रेंस में उनके खिलाफ बोल रही है। वह बोफोर्स का भी जिक्र कर रहे हैं। भ्रष्टाचार का भी जिक्र कर रहे हैं। वही चीयर लीडर्स का काम कांग्रेस पार्टी कर रही है।

य​ह भी पढ़ें.....सत्ता में बैठे लोग प्रजातंत्र को करना चाहते हैं समाप्त: यशवंत सिन्हा

मजबूत सरकार वर्सेस मजबूर सरकार

मजबूत सरकार वर्सेस मजबूर सरकार इस शब्द का गठन आदरणीय मायावती जी ने अपने प्रेस कॉन्फ्रेंस में किया है। उन्होंने कहा था कि भारत को एक मजबूत सरकार चाहिए. जहां मोदी जी ने भारत को एक मजबूत सरकार दी है. इसका नतीजा है कि भारत एक विश्व शक्ति बना हुआ है। क्या भारत को मजबूर सरकार चाहिए। कर्नाटक में हम देख रहे हैं की मजबूरी का नाम क्या है। कर्नाटक के चीफ मिनिस्टर मजबूरी में रो रहे हैं और कह रहे हैं कि मुझे जहर पीना पड़ रहा है।कांग्रेस पार्टी के लोग मेरे साथ अन्याय कर रहे हैं और उन्होंने मुझे एक क्लर्क बना दिया है।

विपक्ष की बात करेंगे तो पीएम की कुर्सी न कहें, बल्कि आगे से वह प्रधानमंत्री की चटाई कहें। कुर्सी में क्योंकि एक आदमी बैठ सकता है। लेकिन, जिस प्रकार से डीलरों की नियति दिखती है, यह चाहते हैं कि प्रधानमंत्री की चटाई हो। जिस चटाई में एक कोने में मुलायम सिंह, दूसरे कोने में अखिलेश, तीसरे कोने में मायावती और चौथे कोने में चंद्रबाबू नायडू और एक जगह ममता बनर्जी बैठ सकें। चटाई के चारों ओर राहुल गांधी जी गोल गोल घूमते नजर आए कि उन्हें भी कहीं जगह मिल जाए।

य​ह भी पढ़ें.....प्रधानमंत्री पहुंचे अन्तर्राष्ट्रीय चावल अनुसंधान केंद्र

नरेंद्र मोदी गरीबों की चिंता कर रहे हैं

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जी के 10% आरक्षण लाने से देश में हर्ष का माहौल है। सामान्य, पिछड़ा और दलित और आदिवासी वर्ग सबको साथ लेकर चलने की जो कवायद मोदी जी ने की है वह अपने आप में स्वर्णिम अक्षर में इतिहास में लिखी जाएगी। आज मुझे ज्ञात हुआ है कि कैबिनेट ने उत्तर प्रदेश में 10% आरक्षण को लागू करने का निर्णय लिया है। गुजरात और उत्तर प्रदेश ने किया हम चैलेंज करते हैं कि उन राज्यों में जहां कांग्रेस की सरकार है। जहां कांग्रेस द्वारा चलायमान सरकार है वह भी इन जनकल्याणकारी नीतियों को अमलीजामा पहनाए। बंगाल और उड़ीसा में आयुष्मान भारत योजना को चलने नहीं दिया जा रहा है। नरेंद्र मोदी गरीबों की चिंता कर रहे हैं। वहीं यह तथाकथित महागठबंधन जिनको मैंने डीलर्स कहा है। यह डीलर्स केवल और केवल अपने लिए डीलिंग कर रहे हैं। देश की चिंता नहीं कर रहे हैं।

राम मंदिर का 2025 से निर्माण के भैया जी जोशी के बयान पर उन्होंने कहा कि राम मंदिर के विषय में प्रधानमंत्री जी ने अपने वक्तव्य में नेशनल काउंसिल में कहा था। राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित भाई शाह ने भी विस्तार से इस विषय को रखा है। एक संवैधानिक प्रक्रिया है। उस संवैधानिक प्रक्रिया के अंतर्गत हम मंदिर के लिए कमिटेड है। उन्होंने कहा कि भाजपा चाहती है, चाहती थी और सदैव चाहती रहेगी कि एक भव्य मंदिर का निर्माण अयोध्या में हो। उसके लिए 1989 के पालमपुर अधिवेशन में हमने संकल्प लिया था। उसी संकल्प के साथ उसी जोश के साथ हम आगे बढ़ रहे हैं।

य​ह भी पढ़ें.....RSS प्रमुख मोहन भागवत बोले, जब कोई युद्ध नहीं, तो फिर सैनिक क्यों हो रहे शहीद

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि सीमा पर सैनिकों की शहादत के मोहन भागवत के बयान के जवाब में उन्होंने कहा कि अभी मैं खबर देख रहा था कि किस प्रकार हमारे बहादुर जवानों ने पाकिस्तान को करारा जवाब दिया है। किस प्रकार कई पाकिस्तानी जो सैनिक है उनको मार गिराया है। हिंदुस्तान की सेना है। हिंदुस्तान की सेना पूरे विश्व की सबसे बलशाली सेना है। जिस प्रकार से विगत 5 वर्षों में हिंदुस्तान की सेना ने जवाब दिया है। पाकिस्तान को नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में वह अपने आप में बहुत करारा जवाब है। पूरे विश्व को एक मैसेज जाता है कि सर्जिकल स्ट्राइक हमने किया। हमने यह भी देखा कि किस प्रकार से उड़ी के पश्चात बदला लिया। वे पहले हमारे स‍ैनिकों के सिर काटते थे आज डरते हैं। पिछली सरकार में हमारी आर्मी को खुली छूट नहीं थी कि वह जवाबी कार्रवाई कर सकें। लेकिन, आज नरेंद्र मोदी ने आर्मी के हाथों को पूरी तरह से से खोल दिया है। वहां से गोली आएगी, तो गोले से उसका जवाब दिया जाएगा।

Anoop Ojha

Anoop Ojha

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story